डिप्रेशन का नेचरल प्राकृतिक इलाज

डिप्रेशन का नेचरल इलाज कैसे करें

दोस्तों जब कभी भी डिप्रेशन होता है तो आप असहाय महसूस करते हैं लेकिन अगर आप ठान ले तो अपने आप को डिप्रेशन से निकाल सकते हैं कई नेचुरल तरीकों को इस्तेमाल में  लाकर, व कुछ दवाइयों का उपयोग कर आप डिप्रेशन से बाहर निकल सकते हैं.

अपने व्यवहार को बदलना, फिजिकल एक्टिविटी, दिनचर्या और अपनी सोच को बदलना यह सभी डिप्रेशन के नेचुरल ट्रीटमेंट है. आइए जानते हैं कि हम किस प्रकार अवसाद से बाहर निकल सकते हैं.

 इन तरीकों से आप अपना डिप्रेशन दूर कर सकते हैं

 

 रूटीन में रहे

 डॉक्टर की सलाह के मुताबिक अगर आप अवसाद से गुजर रहे हैं तो आपको एक डेली रूटीन की जरूरत है अवसाद आपकी डेली लाइफ को खराब कर सकता है और आप निराशा में घिर  सकते हैं लेकिन अगर आपके पास एक शेडूल है, एक रूटीन है तो आप अपने ट्रैक पर वापस लौट सकते हैं इसलिए अवसाद से निकलने के लिए अपना एक डेली रूटीन बनाएं, एक कागज पर कल के दिन का अपना शेडूल फिक्स कर लें और उसका पालन करें.

  लक्ष्य निर्धारित करें

जब आप अवसाद ग्रस्त होते हैं तब आपको लगता है कि आप कुछ भी अचीव नहीं कर सकते इस तरह की सोच आप को और दुखी बना देती है, मनोवैज्ञानिक कहते हैं इस अवस्था से निकलने के लिए आपको अपने लिए छोटे छोटे गोल सेट करना चाहिए, ऐसे छोटे गोल जिन्हें आप अचीव कर सके, छोटे लक्ष्य को प्राप्त करने पर आपको अच्छा महसूस होगा और आप डिप्रेशन से निकल पाएंगे , सफलता मिलने पर आप अपने लिए बड़े लक्ष्य भी रख सकते हैं.

 व्यायाम  अवसाद को दूर करता है

 जब आप व्यायाम करते हैं तो आपके शरीर में डोप माईन नाम का हार्मोन बनता है, यह हार्मोन भी आपके मूड को ठीक करता है, और डिप्रेशन से निकलने में मदद करता है. नियमित व्यायाम करने से आपके मस्तिष्क में एक नया सर्किट बनता हे.  अवसाद से निकलने के लिए आपको प्रतिदिन बहुत अधिक व्यायाम की आवश्यकता नहीं है. केवल कुछ मिनट पैदल चलकर भी आप फायदा हासिल कर सकते हैं. रोज सुबह थोड़ा पैदल चलने से आप डिप्रेशन से बाहर निकल सकते हैं.

 अच्छा खाना अवसाद को दूर रखता है

 हालांकि ऐसा कोई जादुई खाना नहीं है जो आपके अवसाद को एकदम दूर कर दे,  कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि ओमेगा 3 फैटी एसिड और फोलिक एसिड आपको अवसाद से दूर रखने में मदद करते हैं एक संतुलित भोजन खाने से आपका शरीर स्वस्थ रहता है और अवसाद से दूर रहता है

Depression ka natural ilaj2

अच्छी नींद अवसाद को दूर रखती है

 नींद पूरी ना होने की वजह से आपका डिप्रेशन बढ़ सकता है, इसलिए आपको पूरी नींद लेनी चाहिए आपको अपने सोने का और उठने का एक समय निश्चित कर लेना चाहिए, अपने सोने के समय आपको टीवी और स्मार्ट फोन का उपयोग नहीं करना चाहिए.

 जिम्मेदारी भी अवसाद को दूर करती है

 जब आप तनावग्रस्त होते हैं तो सारे काम छोड़कर भाग जाना चाहते हैं दोस्तों  दैनिक जिम्मेदारी आपको आपकी दिनचर्या बनाए रखती है और आपको अवसाद से दूर रखती है, यह दिनचर्या आपको एक सेन्स आफ अचीवमेंट देती है, अगर आप जॉब या किसी कार्य में नहीं है तो आप कोई पार्ट टाइम जॉब ढूंढ सकते हैं, या सामाजिक कार्यों में हिस्सा ले सकते हैं सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेने से भी आपका डिप्रेशन दूर होता है.

 अपने नकारात्मक विचारों का सामना कीजिए

 डिप्रेशन से लड़ने में सबसे पहली चीज आपको अपनी सोच बदलना होता है, जब आप अवसादग्रस्त होते हैं तो हमेशा बुरा ही सोचते हैं, आपको यह प्रवृत्ति खत्म करनी चाहिए, जब भी कभी आपको अपने बारे में बुरे ख्याल आए तब उनका सामना कीजिए और प्रश्न उठाइए क्या वास्तव में ऐसा है, खुद के बारे में बुरे विचार आने पर आपको अपने बारे में अच्छा अच्छा सोचना चाहिए.

 कोई भी दवाई लेने से पहले अपने डॉक्टर से पूछें

 कई दवाइयां ऐसी हैं डिप्रेशन मदद करती हैं फिश ऑयल फोलिक एसिड उनमें से कुछ है परन्तु कोई भी दवाई लेने से पहले आपको अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.

डिप्रेशन हटाने के लिए कुछ नया कीजिए

 जब आप अवसादग्रस्त होते हैं तो आप की सोच एक निश्चित सीमा में कैद हो जाती है, ऐसी परिस्थिति से निकलने के लिए आप अपने आप को पुश कीजिए,  कुछ नया कीजिए,  कोई नई किताब पढ़िए,  किसी नई जगह घूमने जाइए, किसी म्यूजियम में जाइए, किसी सामाजिक कार्य में हिस्सा लीजिए. जब हम कुछ नया करने का चैलेंज अपने आप को देते हैं तो हमारे मस्तिष्क के अंदर केमिकल चेंज पैदा होता है यह चेंज ही हमें डिप्रेशन से निकलने में मदद करता है.

 फन डिप्रेशन को खत्म कर सकता है

 जिन चीजों को आप इंजॉय करते हैं उनकी एक लिस्ट बना लीजिए, अवसादग्रस्त हो तो इस लिस्ट को देखिए और इनमें से किसी कार्य को कीजिए, जब आप अवसादग्रस्त होते हैं तो आपको कुछ भी अच्छा नहीं लगता, किसी भी काम में आनंद नहीं आता, मजा नहीं मिलता, लेकिन यही तो डिप्रेशन का सिस्टम है, मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि आपको जो चीज पहली पसंद थी डिप्रेशन के दौरान भी आपको वही करते रहना चाहिए, चाहे आपको उसमें मजा मिले या ना मिले, धीरे धीरे आपको उस पसंदीदा काम में आनंद आने लगेगा और आप इस तरह डिप्रेशन के चंगुल से बाहर निकलते जाएंगे,

 तो दोस्तों इन ऊपर बताए गए नैचरल तरीकों से आप अपने अवसाद- डिप्रेशन को दूर कर सकते हैं डिप्रेशन को दूर करने  करने के यही कारगर नेचुरल उपाय हैं

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *