Aankhon Par Shayari in Hindi आँखों पर हिंदी शायरी - Net In Hindi.com

Aankhon Par Shayari in Hindi आँखों पर हिंदी शायरी

Aankhon Par Shayari in Hindi आँखों पर हिंदी शायरी

Aankhon Par Shayari in Hindi आँखों पर हिंदी शायरी

Aankhon Par Shayari in Hindi

आँखों पर हिंदी शायरी

 

दोस्तों, पेश है खूबसूरत और नशीली आँखों के नाम कुछ बेहतरीन हिंदी शायरी.

Hindi Shayari on Beautiful eyes

**************************

List of all Shayari

***************************

यूँ ही गुजर जाती है शाम अंजुमन में

कुछ तेरी आँखों के बहाने कुछ तेरी बातो के बहाने

***

तुम्हारी बेरुख़ी ने लाज रख ली बादाख़ाने की

तुम आँखों से पिला देते तो पैमाने कहाँ जाते ~क़तील_शिफ़ाई

***

न जाने क्यूँ हमें इस दम तुम्हारी याद आती है

जब आँखों में चमकते हैं सितारे शाम से पहले

***

तुम्हारी निगाहें बहोत बोलती हैं

जरा अपनी आँखों पे पलके गिरा दो

***

ये आईने नही दे सकते तुम्हे तुम्हारी खूबसूरती की सच्ची ख़बर….

कभी मेरी इन आँखों में झांक कर देखो की कितनी हसीन हो…!!

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

तुम्हारी याद में आँखों का रतजगा है

कोई ख़्वाब नया आए तो कैसे आए !

***

बिन कहे आऊँगा जब भी आऊँगा

मुन्तज़िर आँखों से घबराता हूँ मैं ~ShariqKaifi

***

तेरी हर याद बसी इन साँसों मे हर तस्वीर तेरी

अब इन आँखों मे रूह में संभाला है तुझे

हर आरज़ू तेरी बसी इन जज़्बातों मे!

***

लिखा है तेरी आँखों में किसका अफ़साना

अगर इसे समझ सको, मुझे भी समझना !!

***

क्यों डरे ज़िन्दगी में क्या होगा कुछ ना कुछ तजुर्बा होगा

हंसती आँखों में झाँक कर देखो कोई आंसू कहीं छुपा होगा

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

क्या कशिश थी तुम्हारी आँखों मे

तुझको देखा और तेरा हो गया

***

सुकून की तलाश में तुम्हारी आँखों में झाँका था,

किसे पता था कम्बखत दिल का दर्द और मिल जाएगा !!

***

तुम्हारी आँखों की ‘तौहीन’ है ज़रा सोचो

तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है ~मुनव्वर_राना

***

आँखों की कतारों में पसरी नमी सी है,

आज सब कुछ है ज़िन्दगी में बस तुम्हारी कमी सी है।

***

में हूँ अश्क तुम्हारी आँखों का जब जी चाहे बहा देना…

एक लफ्ज़ हूँ तुम्हारी कहानी का ना याद रख सको तो… भुला देना

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

“क़ैद ख़ानें हैं , बिन सलाख़ों के……

कुछ यूँ चर्चें हैं , तुम्हारी आँखों के.

***

रात गुजारी फिर महकती सुबह आई … दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई..

आँखों ने महसूस किया उस हवा को … जो तुम्हें छु कर हमारे पास आई

***

तुम्हारी आँखों से काश कोई इशारा तो होता

कुछ मेरे जीने का सहारा तो होता

तोड़ देते हम हर रसम ज़माने की

एक बार ही सही तुमने पुकारा तो होता

***

ना कोई इल्ज़ाम तुमको दूँगा।। ना तुमको बदनाम मैं करूँगा।।

यक़ीन मानो वही कहूँगा।। तुम्हारी आँखों से जो सुना है।।

***

मुझसे जब भी मिलो नजरें उठाकर मिलो

मुझे पसंद है अपनेआप को तुम्हारी आँखों में देखना

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

तेरी हर याद बसी इन साँसों मे हर तस्वीर तेरी अब इन आँखों मे

रूह में संभाला है तुझे हर आरज़ू तेरी बसी इन जज़्बातों मे

***

तेरी यादो को पसन्द आ गई है मेरी आँखों की नमी,

हँसना भी चाहूँ तो रूला देती है तेरी कमी..

***

बहुत मुश्किल से इस दिल को समझाया है अब और बेकरार ना कर आँखों में

आँसू तेरी जुदाई के ना जाने अब कभी मुलाकात हो या ना हो

***

तेरी आँखों के सिवा दुनिया में रक्खा क्या है

ये उठे सुबह चले ये झुके शाम ढले,

मेरा जीना मेरा मरना तेरी पलकों के तले

***

हर बार तेरी मुस्कुराती आँखों को देखता हूँ,

चला आता हूँ तेरे पास ख़यालों में उड़ते हुए..

***

लोग कहते हैं कि तू अब भी ख़फ़ा है मुझसे

तेरी आँखों ने तो कुछ और कहा है मुझसे

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

जब बिखरेगा तेरी गालों पे तेरी आँखों का पानी,

तब तुझे एहसास होगा की मोहब्बत किसे कहते है !!

***

जो सुरूर है तेरी आँखों में वो बात कहां मैखाने में, ..

बस तू मिल जाए तो फिर क्या रखा है ज़माने में…

***

मैं जिसे ओढ़ता-बिछाता हूँ वो ग़ज़ल आपको सुनाता हूँ

एक जंगल है तेरी आँखों में मैं जहाँ राह भूल जाता हूँ..! ~दुष्यंत

***

आँखों से तेरी वो मंज़र मिट गया है अब..

जिसकी ख़ातिर मैं मैकदे आया करता था.

**

आँखों में एक प्यास का सहरा लिए था मैं,

तेरी- गली- ने मुझको समन्दर दिखा दिया

***

किस तरह दिल में तेरे अपनी तमन्ना रख दूं

ख्वाब अपने तेरी आँखों में सजा दूं कैसे

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

शाखेंगुल झूम के गुलज़ार में सीधी जो हुई,

आ गया आँखों में नक़्शा तेरी अँगड़ाई का ।

***

तेरी आँखों में जब देखा मैंने आइने की तरह

कुछ और भी मौजूद था वहां मेरे अक्स के सिवा।

***

जिस दिन से तुमको देखा आँखों में बसा लिया था

सूरत को तेरी हमने इस दिल में छुपा लिया था

***

 

अदा है, ख्वाब है, तकसीम है, तमाशा है,

तेरी इन आँखों में एक शख्स बेतहाशा है

***

डूबा हुआ हूँ ना निकल पाऊँगा मैं कभी,

ख़ूबसूरत मुस्कुराहट और आँखों से तेरी..

***

-चख के देख ली दुनिया भर की शराब की बोतलें,

जो नशा तेरी आँखों में था वो किसी में नहीं..

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

“अब तो इन आँखों से भी जलन होती है मुझे…..!

“खुली हों तो तलाश तेरी, बंद हों तो ख्वाब तेरे….

***

ये गुलाबों सा तेरी आँखों का जाम अच्छा है

जिस ख़त में आए तेरा नाम वो पेग़ाम अच्छा है

***

वो कहने लगी, नकाब में भी पहचान लेते हो हजारों के बीच ?

मैंने मुस्करा के कहा,.तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था”इश्क” हज़ारों के बीच..

***

कितनी सच्चाई है तेरी आँखों में, खोटे सिक्के भी खरे हो जाये,

तू जो प्यार से देखे जिधर, सूखे जंगल भी हरे हो जाये।.

***

कुछ किस्से तेरी महफ़िल के कुछ उससे जुडी मेरी कहानी है

कुछ ज़ाहिर है इन आँखों से कुछ कलम की ज़ुबानी है

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

लाजमी तो नही है कि तुझे आँखों से ही देखूँ..

तेरी याद का आना भी तेरे दीदार से कम नही.

***

आँखों पर तेरी निगाहों ने दस्तख़त क्या किए..

हमने साँसों की वसीयत तुम्हारे नाम कर दी !

***

नींद को आज भी शिकवा है मेरी आँखों से ,

मैंने आने न दिया उसको कभी तेरी याद से पहले,

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

मैं ने जिस लम्हे को पूजा है उसे बस एक बार,

ख़्वाब बन कर तेरी आँखों में उतरता देखूँ

***

आँखों पे ये कैसी घटा सी छाई !

शायद दिल को फिर तेरी याद आई

ये जो आँखों से तेरी बहता है बेशक जूनून-ऐ-यार है,

जो बहा ना था तो नासूर था, अब बह गया तो भुला-बिसरा ख्वाब है !

***

बात चली तेरी आँखों से, जा पहुंची पैमाने तक,

खींच रही है तेरी उल्फत, आज मुझे मैखाने तक

***

“आज फिर मेरे आँचल में आई वही नीली घाटी वही केशरिया शाम

आँखों के किनारे कुछ बूंदे बरबस आई आज फिर तेरी यादों के नाम

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

तेरी सूरत जो भरी रहती है आँखों में सदा //

अजनबी चेहरे भी पहचाने से लगते हैं मुझे //

***

पलकों पे लरजते अश्कों में तसवीर झलकती है तेरी /

दीदार की प्यासी आँखों को, अब प्यास नहीं और प्यास भी है

***

शायद तू कभी प्यासा मेरी तरफ लौट आये,

आँखों में लिए फिरता हूँ दरिया तेरी खातिर.

***

मुसाफ़िर बे-ख़बर हैं तेरी आँखों से,

तेरे शहर में मैख़ाने ढूँढते हैं

***

सोचते ही रहे पूछेंगे तेरी आँखों से ,

किस से सीखा है हुनर दिल में उतर जाने का…………

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

 

एक मस्ती तुम्हारी आँखों की, सौ दिए आरज़ू के जल जाएँ ..

एक बातें ये तेरी बारिश सी, ग़म के मौसम सभी बदल जाएँ

***

झील अच्छा, कँवल अच्छा के जाम अच्छा है,

तेरी आँखों के लिए कौन सा नाम अच्छा है..

***

तेरी आँखों से ही खुलते हैं, सवेरों के उफूक़(क्षितिज)

तेरी आँखों से बन्द होती है ये सीप की रात

***

बारहा तेरी आँखों का दीदार किया है मैंने,

बारहा अपनी इस सूरत पर गुमां हो आया है.

***

मेरी आँखों मे मुहब्बत का तेरी नूर है फिर भी,

बिन बच्चों के खाली मकान सा रहता है दिल…

***

जाम टूटने का बहाना न कर, हम तो तेरी आँखों से पी लेंगे.

तू मत आ पर आने का वादा तो कर, हम तेरे इंतज़ार में ही जी लेंगे.

***

तेरी आँखों मैं बहुत देर तक कोई अक्स नहीं रहता..

तेरा तो पता नहीं तुझसे मिल कर मैं मुझसा नहीं रहता..!!

*** Aankhon Par Shayari in Hindi

नशे में डूबे कोई, कोई जिए, कोई मरे

तीर क्या क्या तेरी आँखों की कमाँ छोड़ती है

***

 

Search Tags

Aankho par Shayari, Hindi shayari on eyes, Shayari on eyes, Shayari on beautiful eyes, Aankho par Hindi Shayari, Aankho par Shayari, Aankho par whatsapp status, Aankho par hindi Status, Hindi Shayari on Aankho par, Aankho par whatsapp status in hindi,

आँखों पर हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, आँखों पर , आँखों पर स्टेटस, आँखों पर व्हाट्स अप स्टेटस, आँखों पर शायरी, आँखों पर पर शेर, आँखों पर की शायरी, तेरी आँखें,

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *