Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

Aarzoo Hindi Shayari
Aarzoo Hindi Shayari आरज़ू हिंदी शायरी

Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

Here you can get the best collection of Hindi Shayari on Aarzoo, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Aarzoo Hindi Shayari to your facebook friends. These Hindi sher on Aarzoo is excellent in expressing your emotions and love. For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari .

आरज़ू पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस आरज़ू हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। आरज़ू लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, आपके प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं।

सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Aarzoo Status Pictures – Aarzoo dp Pictures – Aarzoo Shayari Pictures

************************

आरज़ू  होनी चाहिए किसी को याद करने की……!!

लम्हें तो अपने आप ही मिल जाते हैं.

कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को….

याद वही आते है जो उड़ जाते है…!!

***

ख़ामोश सा शहर और गुफ़्तगू की आरज़ू

हम किससे करें बात, कोई बोलता ही नही ।।

***

यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम; न तमन्ना है
कि किसी को रुलाएं हम; जिसको जितना याद करते
हैं; उसे भी उतना याद आयें हम!

***

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है,
जिसका रास्ता बहुत खराब है,
मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा,
दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।

***

अब तुझसे शिकायत करना, मेरे हक मे नहीं,
क्योंकि तू आरजू मेरी थी,पर अमानत शायद किसी और की !!

***

आरजू थी की तेरी बाँहो मे, दम निकले,

लेकिन बेवफा तुम नही,बदनसीब हम निकले.

*** Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

 

तेरे‬ इश्क का कितना हसीन एहसास है,
लगता है जैसे तु हर ‪ पल‬ मेरे पास है,
‪ मोहब्बत‬ तेरी दिवानगी बन चुकी है मेरी,
और अब जिन्दगी की ‪ आरजू‬ बस तुम्हारे साथ है ।।

***

साँस रूक जाये भला ही तेरा इन्तज़ार करते-करते ……..
तेरे दीदार की आरज़ू हरगिज कम ना होगी ……..

***

उमरे दराज लाये थे, मांग के चार दिन।
दो आरजू में कट गए, दो इन्तेजार में।।

***

काश की मुझे मुहब्बत ना होती
काश की मुझे तेरी आरज़ू ना होती
जी लेते यू ही ज़िंदगी को हम तेरे बिन
काश की ये तड़प हमे ना होती

***

आरज़ू सी दिल में अक्सर छुपाये फिरता हूँ,
♡♡♡♡
प्यार करता हूँ तुझसे पर कहने से डरता हूँ,
♡♡♡♡
कही नाराज़ न हो जाओ मेरी गुस्ताखी से तुम,
♡♡♡♡
इसलिए खामोश रहके भी तेरी धडकनों को सुना करता हूँ .

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Aarzoo Status Pictures – Aarzoo dp Pictures – Aarzoo Shayari Pictures

***

ख्वाइश बस इतनी सी है की तुम मेरे लफ़्ज़ों को समझो….

आरज़ू ये नही की लोग वाह वाह करें………………

***

छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करना..

जिसे मोहब्बत की कद्र ना हो उसे दुआओ मेक्या मांगना

***

सर से लगा के पाँव तलक दिल हुआ हूँ मैं
याँ तक तो फ़न-ए-इश्क़ में कामिल हुआ हूँ मैं

***

उलझी सी ज़िन्दगी को सवारने की आरजू में बैठे हैं
कोई अपना दिख जाए शायद उसे पुकारने को बैठे है

***

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
खामोशियो की आदत हो गयी है,
न सीकवा रहा न शिकायत किसी से,
अगर है तो एक मोहब्बत,
जो इन तन्हाइयों से हो गई है..!

***

“सितारों की महफ़िल ने करके इशारा ,
कहा अब तो सारा जहाँ है तुम्हारा ,
मुहब्बत जवाँ हो, खुला आसमाँ हो ,
करे कोई दिल आरजू और क्या…!

*** Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

 

जरूरी नहीं ये बिल्कुल कि तू
मेरी हर बात को समझे…..

आरजू बस इतनी है कि तू मुझे कुछ तो समझे…!!!!

***

एक आरज़ू सी दिल में अक्सर छुपाये फिरता
हूँ,
प्यार करता हूँ तुझसे पर कहने से डरता हूँ,
कही नाराज़ न हो जाओ मेरी
गुस्ताखी से तुम,
इसलिए खामोश रहके भी तेरी
धडकनों को सुना करता हूँ …!

*** Aarzoo Hindi Shayari

ज़िन्दगी की आखरी आरजू बस यही हैं। तू सलामत रहें दुआँ बस यही हैं।

***

कुछ आग आरज़ू की ,उम्मीद का धुआँ कुछ
हाँ राख ही तो ठहरा , अंजाम जिंदगी का

***

आँखो की चमक पलकों की शान हो तुम..
चेहरे की हँसी लबों की मुस्कान हो तुम…..!!
धड़कता है दिल बस तुम्हारी आरज़ू मे…
फिर कैसे ना कहूँ मेरी जान हो तुम..!!

*** Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

 

मुददत से थी किसी से मिलने की आरज़ू खुवाइश ए दिदार में सब कुछ भुला दिया ,,,

किसी ने दी खबर वो आएंगे रात को इतना किया उजाला अपना घर तक जला दिया

***

किसको ख्वाहिश है ख्वाब बनके पलकों पे सजने की ,…हम तो आरजू बनके तेरे दिल में बसना चाहते हैं ..

*** Aarzoo Hindi Shayari

मेरे जीने की ये आरजू तेरे आने की दुआ करे

कुछ इस तरह से दर्द भी तेरे सीने में हुआ
करे।

***

तेरे सीने से लगकर तेरी आरज़ू बन जाऊं,
तेरी साँसों से मिलकर तेरी खुशबु बन जाऊं,

***

ना खुशी की तलाश है ना गम-ए-निजात की आरज़ू..
मै ख़ुद से ही नाराज हूँ तेरी नाराजगी के बाद..

***

हर जज्बात को जुबान नहीं मिलती..
हर आरजू को दुआ नहीं मिलती..
मुस्कान बनाये रखो तो साथ है दुनिया..
वर्ना आंसुओ को तो आंखो मे भी पनाह नहीं मिलती…

*** Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

 

आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है।
क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है।
किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र
तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।

***

ख़त लिखूं तो क्या लिखूं
आरजू मदहोश है
ख़त पे गिर रहे हैं आंसू
और कलम खामोश है

***

न किसी के दिल की हूँ आरज़ू
न किसी नज़र की हूँ जुस्तजू
मैं वो फूल हूँ जो उदास हो
न बहार आए तो क्या करूँ

***

तेरी जुस्तजू तेरी आरज़ू, मेरे दिल में दिलनशीं तू ही तू
तेरा ही ख़याल है रात-दिन, मेरी सोच में मकीं तू ही तू

*** Aarzoo Hindi Shayari

तमन्ना है मेरी कि आपकी आरज़ू बन जाऊं
आपकी आँख का तारा ना सही आपकी आँख का आंसू बन जाऊं

***

कभी कभी सोचता हूँ आखिर यहाँ कौन जीत गया ….
मेरी आरज़ू उसकी ज़िद या फिर मोहब्बत

***

काश की मुझे मोहोब्बत ना होती काश की मुझे तेरी आरज़ू ना होती जी लेते यू ही ज़िंदगी को हम तेरे बिन काश की ये तड़प हमे ना होती.

***

साक़ी मुझे भी चाहिए …. इक जाम-ए-आरज़ू ….

कितने लगेंगे दाम …. ज़रा आँख तो मिला…!!

****

“जीने की आरज़ू है,
तो जी चट्टानों की तरह…
वरना पत्तों की तरह,
तुझको हवा ले जायेगी”……

*** Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

 

थाम लेना हाथ मेरा कभी पीछे जो छूट जाऊँ
मना लेना मुझे जो कभी तुमसे रूठ जाऊँ

मैं पागल ही सही मगर मैं वो हूँ
जो तेरी हर आरजू के लिये टूट जाऊँ ll

***

ना जी भर के देखा न कुछ बात की़………….
!!
!!
बङी आरजु थी मुलाकात की………..!!!!!!!!!!!!!!!

***

Aarzoo Hindi Shayari

आरज़ू‘ तेरी बरक़रार रहे ………….
दिल का क्या है रहे, रहे न रहे….

***

खोई हुई आँखो में सपना सज़ा लिया।।
आरज़ू में आपकी चाहत को बसा लिया।।
धड़कन भी ना रही ज़रूरी हमारे लिए।।
जब से दिल में हमने आपको बसा लिया।।

***

एक पत्थर की आरजू करके ,
खुदको ज़ख्मी बना लिया मैंने….

***

आरज़ू ये नहीं कि ग़म का तूफ़ान टल जाये,
फ़िक्र तो ये है कि कहीं आपका दिल न बदल जाये.
कभी मुझको अगर भुलाना चाहो तो,
दर्द इतना देना कि मेरा दम ही निकल जाये…!

***

ये हवा, ये रात ये चाँदनी
तेरी एक अदा पे निसार हैं
मुझे क्यों ना हो तेरी आरजू
तेरी जुस्तजू में बहार है

***

तेरा ख़याल तेरी आरजू न गयी !
मेरे दिल से तेरी जुस्तजू न गयी !!
इश्क में सब कुछ लुटा दिया हँसकर मैंने !
मगर तेरे प्यार की आरजू न गयी….!!

***

ज़रा शिद्दत से चाहो तभी होगी आरज़ू पूरी, हम वो नहीं जो तुम्हे खैरात में मिल जायेंगे

***

Aarzoo Hindi Shayari

 

जीने के आरजू में मरे जा रहे है लोग,
मरने के आरजू में जिया जा रहा हु मै…

 – आरज़ू हिंदी शायरी

 

“मै समेटती हूँ
ख्वाब तेरे….
तेरी आरजू….
तेरा ही गम….
तेरी ही तमन्ना….
यादें तेरी……
बहुत मशरूफ है ज़िन्दगी मेरी” !!

***

” हर बार उसी से … गुफ़्तगू….
सौ बार उसी की … आरज़ू ;
.
वो पास नहीं होता .. तो भी ..
रहता है मेरे …….. रूबरू..

***

हे आरजू की एक रात तुम आओ ख्वाबोँ मेँ,
बस दुआ हे उस रात की कभी सुबह न हो !!

***

तुझसे मिले न थे तो कोई आरजू न थी…
देखा तुम्हें तो तेरे तलबगार हो गये…

***

दस्तक सुनी – तो जाग उठा- दर्दे—–आरज़ू,
अपनी तरफ क्यों आती नहीं प्यार की हवा

***

जब से हमने मोहब्बत को जाना है ……
एक तेरी ही आरज़ू की थी पाने की….
पर हालात ही कुछ ऐसे बने….
ना तुम कुछ समझे ना कुछ हम समझे ।

***

आरज़ू ये है कि उनकी हर नज़र देखा करें
वो ही अपने सामने हों, हम जिधर देखा करें
इक तरफ हो सारी दुनिया, इक तरफ सूरत तेरी
हम तुझे दुनिया से होकर बेखबर देखा करें

***

!!.**.न तख्तो ओ ताज की आरजू
,,,,,,, न बज्म शाह की जुस्तजू………….
,,,,,,,,,,जो नजर दिल को बदल सके……,
,मुझे उस निगाह की तलाश है!

*** Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी

 

दिल का दर्द पलकों में क़ैद है,
एहसास तुम्हारा हवाओं में क़ैद है,
तुमको भुलाये भी तो कैसे,
तुमको पाने कि आरज़ू ख्वाबों में भी क़ैद है..

***


Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी Hinglish

arazoo par hindi shayari ka sabase achchha sangrah yahan upalabdh hai, ap is arazoo hindi shayari ko apane hindi whatsapp status ke roop mein upayog kar sakaten hai ya ap is behataren hindi shayari ko apane doston ko facebook par bhe bhej sakaten hain. arazoo lafz par hindi ke yah sher, apake pyar aur bhavanaon ko vyakt karane mein apake madad kar sakaten hain.sabhe hindi shayari ke list yahan hain. hindi shayari************************

arazoo hone chahie kise ko yad karane ke……!! lamhen to apane ap he mil jate hain. kaun poochhata hai pinjare mein band panchhiyon ko…. yad vahe ate hai jo ud jate hai…!!***

khamosh sa shahar aur guftagoo ke arazoo .ham kisase karen bat, koe bolata he nahe ..***

yah arajoo nahin ki kise ko bhulaen ham; na tamanna haiki kise ko rulaen ham; jisako jitana yad karatehain; use bhe utana yad ayen ham!***

tere arazoo mera khvab hai,jisaka rasta bahut kharab hai,mere zakhm ka andaza na laga,dil ka har panna dard ke kitab hai.***

ab tujhase shikayat karana, mere hak me nahin,kyonki too arajoo mere the,par amanat shayad kise aur ke !!***

arajoo the ke tere banho me, dam nikale,lekin bevafa tum nahe,badanaseb ham nikale.***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayaritere ishk ka kitana hasen ehasas hai,lagata hai jaise tu har ‪ pal mere pas hai,‪ mohabbat tere divanage ban chuke hai mere,aur ab jindage ke ‪ arajoo bas tumhare sath hai ..***

sans rook jaye bhala he tera intazar karate-karate ……..tere dedar ke arazoo haragij kam na hoge ……..***

umare daraj laye the, mang ke char din.do arajoo mein kat gae, do intejar mein..***

kash ke mujhe muhabbat na hotekash ke mujhe tere arazoo na hoteje lete yoo he zindage ko ham tere binakash ke ye tadap hame na hote***

arazoo se dil mein aksar chhupaye firata hoon,♡♡♡♡pyar karata hoon tujhase par kahane se darata hoon,♡♡♡♡kahe naraz na ho jao mere gustakhe se tum,♡♡♡♡isalie khamosh rahake bhe tere dhadakanon ko suna karata hoon .***

khvaish bas itane se hai ke tum mere lafzon ko samajho….arazoo ye nahe ke log vah vah karen………………***

chhod de hamane hamesha ke lie usake arajoo karana..jise mohabbat ke kadr na ho use duao mekya mangana***

sar se laga ke panv talak dil hua hoon mainyan tak to fan-e-ishq mein kamil hua hoon main***

ulajhe se zindage ko savarane ke arajoo mein baithe hainkoe apana dikh jae shayad use pukarane ko baithe hai***

intazar ke arazoo ab kho gaye hai,khamoshiyo ke adat ho gaye hai,na sekava raha na shikayat kise se,agar hai to ek mohabbat,jo in tanhaiyon se ho gae hai..!***

“sitaron ke mahafil ne karake ishara ,kaha ab to sara jahan hai tumhara ,muhabbat javan ho, khula asaman ho ,kare koe dil arajoo aur kya…!***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayarijaroore nahin ye bilkul ki toomere har bat ko samajhe…..arajoo bas itane hai ki too mujhe kuchh to samajhe…!!!!***

ek arazoo se dil mein aksar chhupaye firatahoon,pyar karata hoon tujhase par kahane se darata hoon,kahe naraz na ho jao meregustakhe se tum,isalie khamosh rahake bhe teredhadakanon ko suna karata hoon …!***

arzoo hindi shayarizindage ke akhare arajoo bas yahe hain. too salamat rahen duan bas yahe hain.***

kuchh ag arazoo ke ,ummed ka dhuan kuchhahan rakh he to thahara , anjam jindage ka***

ankho ke chamak palakon ke shan ho tum..chehare ke hanse labon ke muskan ho tum…..!!dhadakata hai dil bas tumhare arazoo me…fir kaise na kahoon mere jan ho tum..!!***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayarimudadat se the kise se milane ke arazoo khuvaish e didar mein sab kuchh bhula diya ,,,kise ne de khabar vo aenge rat ko itana kiya ujala apana ghar tak jala diya***

kisako khvahish hai khvab banake palakon pe sajane ke ,…ham to arajoo banake tere dil mein basana chahate hain ..***

arzoo hindi shayarimere jene ke ye arajoo tere ane ke dua karekuchh is tarah se dard bhe tere sene mein huakare.***

tere sene se lagakar tere arazoo ban jaoon,tere sanson se milakar tere khushabu ban jaoon,***

na khushe ke talash hai na gam-e-nijat ke arazoo..mai khud se he naraj hoon tere narajage ke bad..***

har jajbat ko juban nahin milate..har arajoo ko dua nahin milate..muskan banaye rakho to sath hai duniya..varna ansuo ko to ankho me bhe panah nahin milate…***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayariaj ..khud ko tujhame dubone ke arazoo hai.qayamat tak sirf tera hone ke arazoo hai.kisane kaha gale se laga le mujhako, magaratere god mein sar rakhakar sone ke arazoo hai.***

khat likhoon to kya likhoonarajoo madahosh haikhat pe gir rahe hain ansooaur kalam khamosh hai***

na kise ke dil ke hoon arazoon kise nazar ke hoon justajoomain vo fool hoon jo udas hon bahar ae to kya karoon***

tere justajoo tere arazoo, mere dil mein dilanashen too he tootera he khayal hai rat-din, mere soch mein maken too he too***

arzoo hindi shayaritamanna hai mere ki apake arazoo ban jaoonapake ankh ka tara na sahe apake ankh ka ansoo ban jaoon***

kabhe kabhe sochata hoon akhir yahan kaun jet gaya ….mere arazoo usake zid ya fir mohabbat***

kash ke mujhe mohobbat na hote kash ke mujhe tere arazoo na hote je lete yoo he zindage ko ham tere bin kash ke ye tadap hame na hote.***

saqe mujhe bhe chahie …. ik jam-e-arazoo ….kitane lagenge dam …. zara ankh to mila…!!***

“jene ke arazoo hai,to je chattanon ke tarah…varana patton ke tarah,tujhako hava le jayege”……***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayaritham lena hath mera kabhe pechhe jo chhoot jaoonmana lena mujhe jo kabhe tumase rooth jaoonmain pagal he sahe magar main vo hoonjo tere har arajoo ke liye toot jaoon ll***

na je bhar ke dekha na kuchh bat ke………….!!!!bane araju the mulakat ke………..!!!!!!!!!!!!!!!***

arzoo hindi shayariarazoo tere baraqarar rahe ………….dil ka kya hai rahe, rahe na rahe….***

khoe hue ankho mein sapana saza liya..arazoo mein apake chahat ko basa liya..dhadakan bhe na rahe zaroore hamare lie..jab se dil mein hamane apako basa liya..***

ek patthar ke arajoo karake ,khudako zakhme bana liya mainne….***

arazoo ye nahin ki gam ka toofan tal jaye,fikr to ye hai ki kahen apaka dil na badal jaye.kabhe mujhako agar bhulana chaho to,dard itana dena ki mera dam he nikal jaye…!***

ye hava, ye rat ye chandanetere ek ada pe nisar haimmujhe kyon na ho tere arajootere justajoo mein bahar hai***

tera khayal tere arajoo na gaye !mere dil se tere justajoo na gaye !!ishk mein sab kuchh luta diya hansakar mainne !magar tere pyar ke arajoo na gaye….!!***

zara shiddat se chaho tabhe hoge arazoo poore, ham vo nahin jo tumhe khairat mein mil jayenge***

arzoo hindi shayarijene ke arajoo mein mare ja rahe hai log,marane ke arajoo mein jiya ja raha hu mai…***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayari”mai sametate hoonkhvab tere….tere arajoo….tera he gam….tere he tamanna….yaden tere……bahut masharoof hai zindage mere” !!***”

har bar use se … guftagoo….sau bar use ke … arazoo ;.vo pas nahin hota .. to bhe ..rahata hai mere …….. roobaroo..***

he arajoo ke ek rat tum ao khvabon men,bas dua he us rat ke kabhe subah na ho !!***

tujhase mile na the to koe arajoo na the…dekha tumhen to tere talabagar ho gaye…***

dastak sune – to jag utha- darde—–arazoo,apane taraf kyon ate nahin pyar ke hava***

jab se hamane mohabbat ko jana hai ……ek tere he arazoo ke the pane ke….par halat he kuchh aise bane….na tum kuchh samajhe na kuchh ham samajhe .***

arazoo ye hai ki unake har nazar dekha karenvo he apane samane hon, ham jidhar dekha karenik taraf ho sare duniya, ik taraf soorat tereham tujhe duniya se hokar bekhabar dekha karen***

!!.**.na takhto o taj ke arajoo,,,,,,, na bajm shah ke justajoo………….,,,,,,,,,,jo najar dil ko badal sake……,,mujhe us nigah ke talash hai!***

arzoo hindi shayari – arazoo hindi shayari

dil ka dard palakon mein qaid hai,ehasas tumhara havaon mein qaid hai,tumako bhulaye bhe to kaise,tumako pane ki arazoo khvabon mein bhe qaid hai..

 

 

 

3 thoughts on “Aarzoo Hindi Shayari – आरज़ू हिंदी शायरी”

  1. जिंदगी जब तक रहेगी, ख्वाइश कम ना होगी, कम अधिक की बात नहीं शकुन से कभी ‘ वो ‘ इशारा तो करेगी।

    Reply
  2. Pingback: Aarzoo Hindi Shayari - आरज़ू हिंदी शायरी Dil Ki Arzoo Chahat 2 line tamanna

Leave a Comment