Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

Ada Shayari in Hindi  अदा पर शायरी
Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

Ada Shayari in Hindi

अदा पर शायरी

दोस्तों अदा पर शेर ओ शायरी का एक अच्छा संकलन हम इस पेज पर प्रकाशित कर रहे है, उम्मीद है यह आपको पसंद आएगा और आप विभिन्न शायरों के “अदा” के बारे में ज़ज्बात और ख़यालात जान सकेंगे. अगर आपके पास भी “अदा” पर शायरी का कोई अच्छा शेर है तो उसे कमेन्ट बॉक्स में ज़रूर लिखें.

सभी विषयों पर हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ है.

****************************************************

 

अपनी ही तेग़-ए-अदा से आप घायल हो गया,

चाँद ने पानी में देखा और पागल हो गया !!

 

जिनकी अदा अदा में हैं रानाइयाँ ‘शकील’,

अशआर बन के वो मिरे दीवाँ में आ गए !!

 

वो अदा-ए-दिलबरी हो कि नवा-ए-आशिक़ाना

जो दिलों को फ़तह कर ले वही फ़ातेह-ए-ज़माना

 

होश में ला के मेरे होश उड़ाने वाले

ये तेरा नाज़ है, शोख़ी है, अदा है, क्या है

~नक़्श लायलपुरी

 

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

मेरी समझ में ये क़ातिल न आज तक आया,

कि क़त्ल करती है तलवार या अदा तेरी !! -जलील मानिकपुरी

 

मैं सर ब कफ सर ए मकतल कुछ इस अदा से गया

कि मेरा दुश्मने ने जां आन बान भूल गया।

 

वो सुब्ह-ए-ईद का मंज़र तिरे तसव्वुर में,

वो दिल में आ के अदा तेरे मुस्कुराने की !!

 

फ़िज़ा रंगीन, अदा रंगीन, ये इठलाना, ये शरमाना

ये अंगड़ाई, ये तनहाई, ये तरसा कर चले जाना

बना देगा नहीं किसको, जवां जादू ये दीवाना .. ~नीरज

 

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

मैं ज़ख़्म-ए-आरज़ू हूँ, सरापा हूँ आफ़ताब

मेरी अदाअदा में शुआयें हज़ार हैं

 

नाज़..अदा..तेवर..शर्म..सरीखे तुमने

क़ैद में जाने कितने ही ग़ुलाम रक्खे हैं

 

अदा-ए-मत्लब-ए-दिल हमसे सीख जाए कोई

उन्हें सुना ही दिया हाल दास्तां की तरह

~दाग़

 

कई अहले नजर इसको भी डिस्को की अदा समझे

बेचारा कपकपाया जब कोई फनकार सर्दी में

 

बंदगी यह कि जज़्बात-ओ-ख़यालात हों पाक

फ़र्ज़ इताअत का मोहब्बत से अदा होता है

 

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

इक अदा मस्ताना सर से पाँव तक छाई हुई,

उफ़ तिरी काफ़िर जवानी जोश पर आई हुई !! – दाग़ देहलवी

 

मैं यूँ चढ़ रहा हूँ निगाहों में उसकी,

कि गोया कोई हक़ अदा हो रहा है !!

 

मेहंदी लगाए बैठे हैं कुछ इस अदा से वो,

मुट्ठी में उन की दे दे कोई दिल निकाल के !! -रियाज़ ख़ैराबादी

 

अब के अदा-ए-ख़ास से कर इम्तिहान-ए-दिल,

जो बर्क़ तूर पर न गिरी हो गिरा के देख !!

 

वो सुब्ह-ए-ईद का मंज़र तिरे तसव्वुर में,

वो दिल में आ के अदा तेरे मुस्कुराने की !!

 

तहरीर से वर्ना मेरी क्या हो नहीं सकता,

इक तू है जो लफ़्ज़ों में अदा हो नहीं सकता !!

 

बड़ी चीज़ है तुझे क्या पता तेरी इक अदा तेरी इक सदा,

जो तड़प रहे थे बहल गए जो गिरे थे गिरके सम्भल गए !!

 

तुम फिर उसी अदा से अंगड़ाई लेके हँस दो

आ जाएगा पलट कर गुज़रा हुआ ज़माना -शकीलबदायुनी

 

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

 

अदा-ए-ख़ास से ग़ालिब हुआ है नुक्ता-सारा,

सला-ए-आम है यारान-ए-नुक्ता-दाँ के लिए।

 

मैं इक फकीर के होंठों की मुस्कुराहट हूँ

किसी से भी मेरी कीमत अदा नहीं होती – मुनव्वर राना

 

मैं ज़ख़्म-ए-आरज़ू हूँ, सरापा हूँ आफ़ताब,

मेरी अदाअदा में शुआयें हज़ार हैं

 

सीख ली जिसने अदा गम में मुस्कुराने की,

उसे क्या मिटायेंगी गर्दिशे जमाने की !!

 

बेजुबाँ जानवर भी हक़ अदा कर देते हैं नमक का,

एक नजाने इंसान ही क्यों इतना खुदगर्ज़ निकला।

 

तन्हा वो आएँ जाएँ ये है शान के ख़िलाफ़,

आना हया के साथ है, जाना अदा के साथ !!

 

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

तर्क-ए-वफ़ा के बाद ये उस की अदा ‘क़तील’,

मुझको सताए कोई तो उस का बुरा लगे !!

 

कुछ इस अदा से आज वह पहलूनशीं रहे

जब तक हमारे पास रहे, हम नहीं रहे !!

 

किसी की जान गयी

उनकी इक अदा ठहरी!!!

 

रूठना भी है हसीनों की अदा में शामिल

आप का काम मनाना है मनाते रहिये.!!

 

अब जी रहा हूँ ग़र्दिशे-दौराँ के सांथ-सांथ

ये नाग़वार फर्ज़ अदा कर रहा हूँ मैं.!!

 

Ada Shayari in Hindi अदा पर शायरी

 

मेरी आँखों में आँसू की तरह,एक बार आ जाओ

तक़ल्लुफ़ से बनावट से अदा से चोट लगती है.!!

वो बड़ा रहीमो-क़रीम है,मुझे ये सिफ़अत भी अदा करे

तुझे भूलने की दुआ करूँ,तो दुआ में मेरी असर न हो..

 

हुस्न दुनिया की हर इक शय में बहुत है लेकिन।।

कोई ऐसा नहीं जो तेरी अदा तक पहुँचे..!!

**********

 

Search Tags and terms

Ada Shayari in Hindi, Ada Hindi Shayari, Ada Shayari, Ada whatsapp status, Ada hindi Status, Hindi Shayari on Ada, Ada whatsapp status in hindi,

अदा हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, अदा स्टेटस, अदा व्हाट्स अप स्टेटस,अदा पर शायरी, अदा शायरी, अदा पर शेर, अदा की शायरी


Hinglish

Ada Shayari in Hindi

अदा पर शायरी

ada shayari in hindi ada par shaayariad shayari in hindiada par shaayari doston ada par sher o shaayari ka ek achchha sankalan ham is pej par prakaashit kar rahe hai, ummid hai yah aapako pasand aaega aur aap vibhinn shaayaron ke “ada” ke baare mein zajbaat aur khayaalaat jaan sakenge. agar aapake paas bhi “ada” par shaayari ka koi achchha sher hai to use kament boks mein zaroor likhen.sabhi vishayon par hindi shaayari ki list yahaan hai.****************************************************

apani hi teg-e-ada se aap ghaayal ho gaya,chaand ne paani mein dekha aur paagal ho gaya !!jinaki ada ada mein hain raanaiyaan shakil,ashaar ban ke vo mire divaan mein aa gae !!vo ada-e-dilabari ho ki nava-e-aashiqaanaajo dilon ko fatah kar le vahi faateh-e-zamaanaahosh mein la ke mere hosh udaane vaaleye tera naaz hai, shokhi hai, ada hai, kya hai~naqsh laayalapuriad shayari in hindi ada par shaayarimeri samajh mein ye qaatil na aaj tak aaya,ki qatl karati hai talavaar ya ada teri !! –

jalil maanikapurimain sar ba kaph sar e makatal kuchh is ada se gayaaki mera dushmane ne jaan aan baan bhool gaya.vo subh-e-id ka manzar tire tasavvur mein,vo dil mein aa ke ada tere muskuraane ki !!fiza rangin, ada rangin, ye ithalaana, ye sharamaanaaye angadai, ye tanahai, ye tarasa kar chale jaanaabana dega nahin kisako, javaan jaadoo ye divaana .. ~nirajaad shayari in hindi ada par shaayarimain zakhm-e-aarazoo hoon, saraapa hoon aafataabameri ada-ada mein shuaayen hazaar hainnaaz..ada..tevar..sharm..sarikhe tumaneqaid mein jaane kitane hi gulaam rakkhe hainada-e-matlab-e-dil hamase sikh jae koiunhen suna hi diya haal daastaan ki tarah~

daagaki ahale najar isako bhi disko ki ada samajhebechaara kapakapaaya jab koi phanakaar sardi membandagi yah ki jazbaat-o-khayaalaat hon paakafarz itaat ka mohabbat se ada hota haiad shayari in hindi ada par shaayariik ada mastaana sar se paanv tak chhai hui,uf tiri kaafir javaani josh par aai hui !! – daag dehalavimain yoon chadh raha hoon nigaahon mein usaki,ki goya koi haq ada ho raha hai !!mehandi lagae baithe hain kuchh is ada se vo,mutthi mein un ki de de koi dil nikaal ke !! –

riyaaz khairaabaadiab ke ada-e-khaas se kar imtihaan-e-dil,jo barq toor par na giri ho gira ke dekh !!vo subh-e-id ka manzar tire tasavvur mein,vo dil mein aa ke ada tere muskuraane ki !!taharir se varna meri kya ho nahin sakata,ik too hai jo lafzon mein ada ho nahin sakata !!badi chiz hai tujhe kya pata teri ik ada teri ik sada,jo tadap rahe the bahal gae jo gire the girake sambhal gae !!tum phir usi ada se angadai leke hans doa jaega palat kar guzara hua zamaana -shakilabadaayuniad shayari in hindi ada par shaayari ada-e-khaas se gaalib hua hai nukta-saara,sala-e-aam hai yaaraan-e-nukta-daan ke lie.main ik phakir ke honthon ki muskuraahat hoonkisi se bhi meri kimat ada nahin hoti –

munavvar raanaamain zakhm-e-aarazoo hoon, saraapa hoon aafataab,meri ada-ada mein shuaayen hazaar hainsikh li jisane ada gam mein muskuraane ki,use kya mitaayengi gardishe jamaane ki !!bejubaan jaanavar bhi haq ada kar dete hain namak ka,ek najaane insaan hi kyon itana khudagarz nikala.tanha vo aaen jaen ye hai shaan ke khilaaf,aana haya ke saath hai, jaana ada ke saath !!

ad shayari in hindi ada par shaayaritark-e-vafa ke baad ye us ki ada ‘qatil’,mujhako satae koi to us ka bura lage !!kuchh is ada se aaj vah pahaloonashin rahejab tak hamaare paas rahe, ham nahin rahe !!kisi ki jaan gayiunaki ik ada thahari!!!roothana bhi hai hasinon ki ada mein shaamilaap ka kaam manaana hai manaate rahiye.!!ab ji raha hoon gardishe-dauraan ke saanth-saanthaye naagavaar pharz ada kar raha hoon main.!!ad shayari in hindi ada par shaayarimeri aankhon mein aansoo ki tarah,ek baar aa jaotaqalluf se banaavat se ada se chot lagati hai.!!vo bada rahimo-qarim hai,mujhe ye sifat bhi ada karetujhe bhoolane ki dua karoon,to dua mein meri asar na ho..husn duniya ki har ik shay mein bahut hai lekin..koi aisa nahin jo teri ada tak pahunche..!!**********

 

 

 

 

Leave a Reply