ajwain ka sevan kin rogon me faydemand hai

अजवाइन कैरम सीड  की जानकारी हिंदी में

क्या आप की  पाचन क्रिया गड़बड़ा गई है तो घबराने की आवश्यकता नहीं है बस कुछ अजवान के बीज  चबाइए,  अजवाइन के कई फायदे हैं इसके बीजों को सीधे ही खाया जा सकता है या उन्हें पाउडर की तरफ पीस कर लिया जा सकता है,  इसे कई नामों से जाना जाता है तो आइये  जानते हैं इस उपयोगी मसाले के क्या क्या फायदे हैं.

अजवाइन का वैज्ञानिक नाम क्या है?

अजवाइन जो की एक हर्ब भी है और स्पाइस भी, आपको जानकर आश्चर्य होगा कि अजवाइन को कई नाम से जाना जाता है अंग्रेजी में इसे कैरम सीड (Carom Seed ) कहते हैं, देश के विभिन्न हिस्सों में इसे अजवान, अजोवन, अजोवन करावे, कहते हैं

अजवान को बंगाली में जोयन  कहते हैं  तथा तमिल में से  ओमम  बोला जाता है, अजवाइन को तेलगु में वामु कहा जाता है.

 विदेशों में भी अजवाइन के कई नाम प्रचलित है उनमें से कुछ निम्न प्रमुख है

अजवाइन का Binomial name – या वैज्ञानिक नाम Trachyspermum ammi   है.

Bishop’s weed, Ammi copticum L, Carum Copticum, Trachyspermum copticum

Sison ammi L.

अजवाइन में कौन-कौन से तत्व पाए जाते हैं?

अजवाइन में 17%  प्रोटीन,  21.8 %  वसा, 7.9 %  मिनरल्स, 21.2 %  फाइबर  तथा 24.6 % कार्बोहाइड्रेट  पाया जाता है,  इसमें कैल्शियम थायमिन, राइबोफ्लेविन, फास्फोरस आईरन नाइसीन  तत्व भी पाए जाते हैं. अजवाइन का तेल जेंट्स को मारने और फंगस को खत्म करने के लिए उपयोग में लाया जाता है

अजवाइन का सेवन किन रोगों में  फायदेमंद है.

ajwain_carom_seed_ke fayde

अजवाइन का उपयोग आयुर्वेदिक औषधियों में प्राचीन समय से किया जाता रहा है मुख्यतः यह पाचन क्रिया  सुधारने के लिए दिया जाता है,  बदहजमी, डकार आना, थकान, पेट का दर्द, दस्त लगना, भूख कम हो जाना, आदि बीमारियों में इसका उपयोग किया जाता है. अजवाइन की पुल्टिस का उपयोग शरीर पर  लेप की तरह भी किया जाता है.

अजवाइन में थाइमोल नाम का तत्व पाया जाता है यह एसिडिटी की समस्या को दूर करता है और पाचन क्रिया सुधार ता है यह रसायन आमाशय में जाकर पाचक रसों के बनने में मदद करता है तथा यह आमाशय का पीएच लेवल नॉर्मल रखता है.

 

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *