Chahat Shayari चाहत हिंदी शायरी

Chahat Shayari चाहत हिंदी शायरी

Chahat Shayari चाहत हिंदी शायरी
Chahat Shayari चाहत हिंदी शायरी

Chahat Shayari

चाहत हिंदी शायरी

Here you can get the best collection of Hindi Shayari on Chahat, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Chahat Hindi Shayari to your facebook friends. These Hindi sher on Chahat is excellent in expressing your emotions.

For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari .

चाहत पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस चाहत हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। चाहत लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, आपकी भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी
मदद कर सकतें हैं।

सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

*******************

“” उनकी चाहत में हम कुछ यूँ बँधे है….

वो साथ भी नही और हम अकेले भी नही…!!

***

कैसी गहराई है तेरी चाहत में , मेरी मोहब्बत में ? न डूबा हूँ अब तक न सतह की कोई उम्मीद नज़र आती है ।

***

मज़ा आ जाए, गर हो जाए इतना, अबकी बारिश में…

हमारी चाहत के आँसू, तुम्हारी छत पे जा बरसें

***

ढूढने चला था एक शक्श की चाहत

खुद को भी खो दिया उसकी मोहब्बत मे

***

हमारे बाद नहीं आएगा तुम्हें चाहत का ऐसा मज़ा ‘फ़राज़’

तुम लोगों से कहते फ़िरोगे मुझे चाहो उस की तरह

*** Chahat Shayari

तेरी चाहत मे हम जमाना भूल गये, किसी और को हम अपनाना भूल गये, तूम से मोहब्बत हे साारे जहान को बताया, बस एक तूझे ही बताना भूल गये….”

***

चिरागों से अगर अँधेरा दूर होता तो चांदनी की चाहत क्यूँ होती कट सकती अगर ये ज़िन्दगी अकेले, तो साथी की जरूरत ही क्यूँ होती

***

वादे वफ़ा के और चाहत जिस्म की. अगर ये मोहब्बत है तो फिर हवस किसे कहते है..!

*** Chahat Shayari

हर कोई पाने की ज़िद में हैं, शायद मुझे कोई आज़माने की ज़िद में है। जिसकी चाहत है मुझे बेइंतेहा वो मुझे भूल जाने की ज़िद में है।

***

किसी की चाहत मे इतने पागल ना हो, हो सकता हे वो तुम्हारी मंज़िल ना हो, उसकी मुस्कुराहट को मोहब्बत ना समझो, कहीं ये मुस्कुराना उसकी आदत ना हो

 
तेरी चाहत तो मुक़द्दर है, मिले न मिले;
राहत ज़रूर मिल जाती है, तुझे अपना सोच कर
***
 
अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती; तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती; लोग मरने की आरज़ू ना करते; अगर मोहब्बत में बेवाफ़ाई ना होती!
 
*** Chahat Shayari
मैं कुछ लिखू और तेरा ज़िक्र न हो,
वो तो मेरी चाहत की तौहीन होगी |
 
***
अनजाने में तुझसे मुलाकात सी हो गयी दोस्ती करने चले थे और तुझसे चाहत सी हो गयी अपने वजूद में तुझे तलाश करते है, हमे तुमसे मोहब्बत सी हो गयी
 
***
अगर तुम समझ पाते मेरी चाहत की इन्तहा
तो हम तुमसे नही तुम हमसे मोहब्बत करते
 
***
 
तेरे गम को अपनी रूह में उतार लूँ.. जिन्दगी तेरी चाहत में सवार लूँ..
मुलाकात हो तुझ से कुछ इस तरह.. तमाम उमर बस इक मुलाकात में गुजार लूँ
 
*** Chahat Shayari
अल्फ़ाज़ो के समंदर में आप ऐसे डूबे फिर निकलने की चाहत न रही,आप याद करने लगे फ़ुर्सत के लमहों को जैसे खवाईशो की चाहत न रही…
 
***
उतर के देख मेरी चाहत की गहराई मै
सोचना मेरे बारे मै रात की तन्हाई मै
अगर हो जाए मेरी चाहत का एहसास तो
मिलेगा मेरा अक्स तुम्हे अपनी ही परछाई मै
 
***
बहुत गुमनाम से है चाहत के रास्ते
तू भी लापता…मैं भी लापता
 
*** Chahat Shayari

सीख जाअो वक्त पर किसी की चाहत की कदर करना कहीं कोई थक ना जाये, तुम्हें एहसास दिलातें दिलाते……

***

मेरे दिल मे तेरी चाहत,बस जाए बन के धड़कन पल भर ना भूल पाऊ,ऐसी तड़प जगा दे।

***

प्यार है मुझसे तो सारी खुशियाँ समेट लो मेरी, गमों का क्या है,ये चाहत से खुशियों में बदल जायेंगे”

***

इंसान की चाहत कि उङने को पर मिले,

और परिंदे सोचते है कि रहने को घर मिले…

***

रिहा कर ख़ूबसूरत दिखने की चाहत से मुझे

ऐ आईने तू मेरी सादगी को ज़मानत दे दे

*** Chahat Shayari

तुमसे इश्क की चाहत में सब कुछ सहे जा रहे है

मोहब्बत के अल्फ़ाज समंदर में बहे जा रहे है

***

मेरी चाहत का एहसास भी ना होगा उसे,

उसकी हर अदा पसन्द आई बेवफाई के सिवा..

***

हमने तो एक ही शख्स पर चाहत ख़त्म कर दी

अब मोहब्बत किसको कहते है मालुम नही

*** Chahat Shayari

 
नशा किस चीज को कहते
अगर तुम देखना चाहो,
तो जाकर के कहो उनसे,झुकी पलकें उठा लें वो..!!
अगर चाहत है उल्फत की
बसाना है उन्हें दिल में,
मिलाकरके नज़र कहदो,तुम्हें अपना बना लें वो..!!
***
 
“दिल की धड़कन और मेरी सदा हो तुम ..
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा हो तुम
…. मेने चाहा है तुम्हे चाहत से बढ़कर क्युकी
मेरी चाहत और चाहत की इन्तेहाँ हो तुम”…
 
***
 
अभी नादाँ हु इश्क में, जताऊ कैसे,
प्यार कितना है, तुमसे बताऊ कैसे,
बहुत चाहत है, दिल में तुम्हारे लिये,
तुम ही कहो, तुम्हें अपना बनाऊ कैसे,
 
*** Chahat Shayari

कुछ तो है कहीं, ये जो थोड़ा प्यार-सा है
नशा है तेरा, चाहत या इक ख़ुमार-सा है…

मिला करती है मचलकर रोज ही तू मुझसे
रहता बेवक़्त फिर भी तेरा इंतज़ार-सा है..

***

तुम्हारी पसंद हमारी चाहत बन जाये
तुम्हारी मुस्कुराहट दिल कि राहत बन ज़ाये !
खुदा खुशियो से इतना खुश कर दे आपको
कि आपको खुश देख़ना हमारी आदत बन जाये !

***

एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है;
इंकार करने पर चाहत का इकरार क्यों है;
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद;
फिर हर मोड़ पे उसी का इंतज़ार क्यों है!

***

कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल

***

रख भी सकता था नुमाइश में सजा कर मुझको,
दर्द की तरह रखा जिसने छुपा कर मुझको.

मेरी चाहत थी पसीने की कमाई जैसी,
मुफ़लिसी में भी रखा उसने बचा कर मुझको.

***

तेरे ख़त की इबारत की मैं स्याही बन गया होता
तो चाहत की डगर का मैं भी राही बन गया होता

***

बिन बात के ही रूठने की आदत है;
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है;
आप खुश रहें, मेरा क्या है;
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है

.

 
Search Tags
Chahat Shayari, Chahat Hindi Shayari, Chahat Shayari, Chahat whatsapp status, Chahat hindi Status, Hindi Shayari on Chahat, Chahat whatsapp status in hindi, 

चाहत हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, चाहत, चाहत स्टेटस, चाहत व्हाट्स


Hinglish

chaahat par hindi shayari

chaahat par hindi shayari ka sabase achchha sangrah yahaan upalabdh hai, aap is chaahat hindi shayari ko apane hindi vaahatsepp stetas ke roop mein upayog kar sakaten hai ya aap is behatareen hindi shayari ko apane doston ko phesabuk par bhee bhej sakaten hain. chaahat laphz par hindi ke yah sher, aapakee bhaavanaon ko vyakt karane mein aapakeemadad kar sakaten hain. ” unakee chaahat mein ham kuchh yoon bandhe hai….vo saath bhee nahee aur ham akele bhee nahee…!!***

kaisee gaharaee hai teree chaahat mein , meree mohabbat mein ? na dooba hoon ab tak na satah kee koee ummeed nazar aatee hai .***

maza aa jae, gar ho jae itana, abakee baarish mein…hamaaree chaahat ke aansoo, tumhaaree chhat pe ja barasen***

dhoodhane chala tha ek shaksh kee chaahatakhud ko bhee kho diya usakee mohabbat me***

hamaare baad nahin aaega tumhen chaahat ka aisa maza faraaztum logon se kahate firoge mujhe chaaho us kee tarah***

chhahat shayariteree chaahat me ham jamaana bhool gaye, kisee aur ko ham apanaana bhool gaye, toom se mohabbat he saaaare jahaan ko bataaya, bas ek toojhe hee bataana bhool gaye….”***

chiraagon se agar andhera door hota to chaandanee kee chaahat kyoon hotee kat sakatee agar ye zindagee akele, to saathee kee jaroorat hee kyoon hotee***

vaade vafa ke aur chaahat jism kee. agar ye mohabbat hai to phir havas kise kahate hai..!***

chhahat shayarihar koee paane kee zid mein hain, shaayad mujhe koee aazamaane kee zid mein hai. jisakee chaahat hai mujhe beinteha vo mujhe bhool jaane kee zid mein hai.***

kisee kee chaahat me itane paagal na ho, ho sakata he vo tumhaaree manzil na ho, usakee muskuraahat ko mohabbat na samajho, kaheen ye muskuraana usakee aadat na ho***

chhahat shayarisilasila ye chaahat ka dono taraph se tha, vo meree jaan chaahatee thee aur main jaan se jyaada use..***

teree chaahat ke siva ab na koee aarazoo rahee too raha, teree khvaahish rahee aur bas teree aashikee rahee***

kaee baar ye soch ke dil mera ro deta hai… ki tujhe paane kee chaahat mein mainne khud ko bhee kho diya !! ***

vo chha gaye hai kohare kee tarah mere chaaro taraph,na koee doosara dikhata hai na dekhane kee chaahat hai.***

chhahat shayarichaahat ke ye kaise afasaane hue; khud nazaron mein apanee begaane hue; ab duniya kee nahin koee paravaah hamen; ishq mein tere is kadar deevaane hue.***

teree chaahat to muqaddar hai, mile na mile;raahat zaroor mil jaatee hai, tujhe apana soch kar**

agar duniya mein jeene kee chaahat na hotee; to khuda ne mohabbat banaee na hotee; log marane kee aarazoo na karate; agar mohabbat mein bevaafaee na hotee!***

chhahat shayarimain kuchh likhoo aur tera zikr na ho,vo to meree chaahat kee tauheen hogee |***

anajaane mein tujhase mulaakaat see ho gayee dostee karane chale the aur tujhase chaahat see ho gayee apane vajood mein tujhe talaash karate hai, hame tumase mohabbat see ho gayee***

agar tum samajh paate meree chaahat kee intahaato ham tumase nahee tum hamase mohabbat karate***

tere gam ko apanee rooh mein utaar loon.. jindagee teree chaahat mein savaar loon..mulaakaat ho tujh se kuchh is tarah.. tamaam umar bas ik mulaakaat mein gujaar loon***

chhahat shayarialfaazo ke samandar mein aap aise doobe phir nikalane kee chaahat na rahee,aap yaad karane lage fursat ke lamahon ko jaise khavaeesho kee chaahat na rahee…***

utar ke dekh meree chaahat kee gaharaee maisochana mere baare mai raat kee tanhaee maiagar ho jae meree chaahat ka ehasaas tomilega mera aks tumhe apanee hee parachhaee mai***

bahut gumanaam se hai chaahat ke raastetoo bhee laapata…main bhee laapata***

chhahat shayariseekh jaaao vakt par kisee kee chaahat kee kadar karana kaheen koee thak na jaaye, tumhen ehasaas dilaaten dilaate……***

mere dil me teree chaahat,bas jae ban ke dhadakan pal bhar na bhool paoo,aisee tadap jaga de.***

pyaar hai mujhase to saaree khushiyaan samet lo meree, gamon ka kya hai,ye chaahat se khushiyon mein badal jaayenge”***

insaan kee chaahat ki unane ko par mile,aur parinde sochate hai ki rahane ko ghar mile…***

riha kar khoobasoorat dikhane kee chaahat se mujheai aaeene too meree saadagee ko zamaanat de de***

chhahat shayaritumase ishk kee chaahat mein sab kuchh sahe ja rahe haimohabbat ke alfaaj samandar mein bahe ja rahe hai***

meree chaahat ka ehasaas bhee na hoga use,usakee har ada pasand aaee bevaphaee ke siva..***

hamane to ek hee shakhs par chaahat khatm kar deeab mohabbat kisako kahate hai maalum nahee***

chhahat shayari tum khud ulajh jaoge mujhe gam dene kee chaahat mein,mujhamen hausala bahut hai muskuraakar nikal jaooga.***

vo shama kee mahaphil hee kya jisamen dil khaak na ho maza to tab hai chaahat ka jab dil to jale par raakh na ho***

nasha kis cheej ko kahateagar tum dekhana chaaho,to jaakar ke kaho unase,jhukee palaken utha len vo..!!agar chaahat hai ulphat keebasaana hai unhen dil mein,milaakarake nazar kahado,tumhen apana bana len vo..!!***

“dil kee dhadakan aur meree sada ho tum ..meree pahalee aur aakhiree vafa ho tum…. mene chaaha hai tumhe chaahat se badhakar kyukeemeree chaahat aur chaahat kee intehaan ho tum”…***

abhee naadaan hu ishk mein, jataoo kaise,pyaar kitana hai, tumase bataoo kaise,bahut chaahat hai, dil mein tumhaare liye,tum hee kaho, tumhen apana banaoo kaise,***

chhahat shayarikuchh to hai kaheen, ye jo thoda pyaar-sa hainasha hai tera, chaahat ya ik khumaar-sa hai…mila karatee hai machalakar roj hee too mujhaserahata bevaqt phir bhee tera intazaar-sa hai..***

tumhaaree pasand hamaaree chaahat ban jaayetumhaaree muskuraahat dil ki raahat ban zaaye !khuda khushiyo se itana khush kar de aapakoki aapako khush dekhana hamaaree aadat ban jaaye !***

ek ajanabee se mujhe itana pyaar kyon hai;inkaar karane par chaahat ka ikaraar kyon hai;use paana nahin meree takadeer mein shaayad;phir har mod pe usee ka intazaar kyon hai!***

kuchh ulajhe savaalo se darata he dilajaane kyon tanhaee mein bikharata he dilakisee ko paane ki ab koee chaahat na raheebas kuchh apanon ko khone se darata he ye dil***

rakh bhee sakata tha numaish mein saja kar mujhako,dard kee tarah rakha jisane chhupa kar mujhako.meree chaahat thee paseene kee kamaee jaisee,mufalisee mein bhee rakha usane bacha kar mujhako.***

tere khat kee ibaarat kee main syaahee ban gaya hotaato chaahat kee dagar ka main bhee raahee ban gaya hota***

bin baat ke hee roothane kee aadat hai;kisee apane ka saath paane kee chaahat hai;aap khush rahen, mera kya hai;main to aaina hoon, mujhe to tootane kee aadat hai

search tags

chhahat shayari, chhahat hindi shayari, chhahat shayari, chhahat whatsapp status, chhahat hindi status, hindi shayari on chhahat, chhahat whatsapp status in hindi,chaahat hindi shayari, hindi shayari, chaahat, chaahat stetas, chaahat vhaats

 
 
 
 
 
 
 

2 thoughts on “Chahat Shayari चाहत हिंदी शायरी”

Leave a Reply