Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी
Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

Doulat Shayari in Hindi

धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

दोस्तों धन दौलत और सोने चाँदी पर शेर ओ शायरी का एक अच्छा संकलन हम इस पेज पर प्रकाशित कर रहे है, उम्मीद है यह आपको पसंद आएगा और आप विभिन्न शायरों के “धन दौलत और सोने चाँदी” के बारे में ज़ज्बात और ख़यालात जान सकेंगे. अगर आपके पास भी “धन दौलत और सोने चाँदी” पर शायरी का कोई अच्छा शेर है तो उसे कमेन्ट बॉक्स में ज़रूर लिखें.

सभी विषयों पर हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ है.

****************************************************

 

दिल में ना हो ज़ुर्रत तो मोहब्बत नहीं मिलती,

ख़ैरात में इतनी बङी दौलत नहीं मिलती !! -निदा फाजली

 

बाधं के ले गए दिल सोने की हथकड़यों में

मुंसिफाना सही नीलामी पे रोना आया।

 

जड़ दो चाँदी में चाहे सोने में

आईना झूठ बोलता ही नहीं..

 

बेजार यूं हुए कि तेरे अहद में हमें

सब कुछ मिला सकून की दौलत नहीं मिली

Dhan Daulat Status Pictures – Dhan Daulat dp Pictures – Dhan Daulat Shayari Pictures

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Dhan Daulat Status Pictures – Dhan Daulat dp Pictures – Dhan Daulat Shayari Pictures

सुकून-ए-कल्ब की दौलत कहाँ दुनिया-ए-फानी में,

बस इक गफलत-सी आ जाती है और वो भी जवानी में !!

 

Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

क्यों ग़रीब समझतें हैं हमें ये जहाँ वाले फ़राज़,

हज़ारो दर्द की दौलत से मालामाल हेँ हम!!

 

अमीर-ज़ादों से दिल्ली के,मत मिला कर ‘मीर’

कि हम ग़रीब हुए हैं इन्हीं की दौलत से..।

-मीर

 

दौलत और जवानी,इक दिन खो जाती है

सच कहता हूँ सारी दुनिया दुश्मन हो जाती है

उमरभर दोस्त लेकिन साथ चलते है..

-आनंद बक्षी

 

तोड़ के झूठे नाते रिश्ते, आया मैं दिलवालों में

सच कहता हूँ चोर थे ज़्यादा, दौलत के रखवालों में..!

-शैलेंद्र

 

उस देश में तेरे परदेस में,सोने चांदी के बदले में बिकते हैं दिल

इस गाँव में दर्द की छांव में,प्यार के नाम पर ही तड़पते हैं दिल..।

-शैलेंद्र

 

Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

मुझ से क्या बात लिखानी है कि अब मेरे लिये

कभी सोने कभी चाँदी के क़लम आते हैं.!!

 

दौलत-ए-इश्‍क़ नहीं बाँध के रखने के लिये

इस ख़जाने को जहाँ तक हो लुटाते रहिये.!!

 

भूख दौलत की हो शौहरत की या अय्यारी की

हद से बढ़ती है तो नज़रों से गिरा देती है.!!

 

“उन बूढी बुजुर्ग उँगलियों में कोई ताकत तो ना थी,

मगर सिर झुका तो कांपते हाथों ने जमाने भर की दौलत दे दी”

 

इख़लास की दौलत को हम अहले-मोहब्बत

तक़सीम तो कर देते हैं बेचा नही करते.!!

 

किसी की उंगलियों के क़ीमती हीरे पे मत जाना

ये दौलत-मंद अंदर से भिखारी हो भी सकते हैं.!!

 

Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

मुझ पे भी वाजिब है, आंसुओं की ज़कात

ग़म की दौलत से मालामाल हूँ मै.!!

बहुत हि कम नज़र आया मुझे,इखलास लोगों में

ये दौलत बंट गई शायद,बहुत हि ख़ास लोगों में.!!

 

मरने से पहले इतनी सी दौलत तो कमा हि लेंगे।।

कि कंधो की कमी ना होगी मेरे जनाज़े को..!!

 

शब्द बराबर धन नहीं, जो कोई जाने बोल |

हीरा तो दामो मिले, शब्द मोल न टोल ||

 

ना जाने कौन सी दौलत हैं..! दोस्तों के लफ़्जों में..!

बात करते है तो.! दिल खरीद लेते हैं..!

 

“लम्हों की दौलत से दोनों ही महरूम रहे,

मुझे चुराना न आया, तुम्हें कमाना न आया।”

 

Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी

दुआएं इकट्ठी करने मे लगा हूं,

सुना है दौलत शौहरत साथ नही जाती…

 

आप दौलत के तराज़ू में दिलों को तौलें

हम मोहब्बत से मोहब्बत का सिला देते हैं

दौलत हुस्न जवानी ये सब चलती फिरती छाव है

हम ने भी यही देखा तारीख भी यही बतलाती है

 

Search Tags

Doulat Shayari in Hindi, Doulat Hindi Shayari, Doulat Shayari, Doulat whatsapp status, Doulat hindi Status, Hindi Shayari on Doulat, Doulat whatsapp status in hindi,

दौलत हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, दौलत स्टेटस, दौलत व्हाट्स अप स्टेटस,दौलत पर शायरी, दौलत शायरी, दौलत पर शेर, दौलत की शायरी

सोना चाँदी हिंदी शायरी, सोना चाँदी स्टेटस, सोना चाँदी व्हाट्स अप स्टेटस, सोना चाँदी पर शायरी, सोना चाँदी शायरी, सोना चाँदी पर शेर, सोना चाँदी की शायरी


Hinglish

Doulat Shayari in Hindi

dil mein na ho zurrat to mohabbat nahin milate,

khairat mein itane bane daulat nahin milate !! -nida fajale

 

badhan ke le gae dil sone ke hathakadayon mein

munsifana sahe nelame pe rona aya.

 

jad do chande mein chahe sone mein

aena jhooth bolata he nahin..

 

bejar yoon hue ki tere ahad mein hamen

sab kuchh mila sakoon ke daulat nahin mile

 

sukoon-e-kalb ke daulat kahan duniya-e-fane mein,

bas ik gafalat-se a jate hai aur vo bhe javane mein !!

 

doulat shayari in hindi dhan daulat aur sone chande par shayari

kyon gareb samajhaten hain hamen ye jahan vale faraz,

hazaro dard ke daulat se malamal hen ham!!

 

amer-zadon se dille ke,mat mila kar mer

ki ham gareb hue hain inhen ke daulat se…

-mer

 

daulat aur javane,ik din kho jate hai

sach kahata hoon sare duniya dushman ho jate hai

umarabhar dost lekin sath chalate hai..

-anand bakshe

 

tod ke jhoothe nate rishte, aya main dilavalon mein

sach kahata hoon chor the zyada, daulat ke rakhavalon mein..!

-shailendr

 

us desh mein tere parades mein,sone chande ke badale mein bikate hain dil

is ganv mein dard ke chhanv mein,pyar ke nam par he tadapate hain dil…

-shailendr

 

doulat shayari in hindi dhan daulat aur sone chande par shayari

mujh se kya bat likhane hai ki ab mere liye

kabhe sone kabhe chande ke qalam ate hain.!!

 

daulat-e-ishqam nahin bandh ke rakhane ke liye

is khajane ko jahan tak ho lutate rahiye.!!

 

bhookh daulat ke ho shauharat ke ya ayyare ke

had se badhate hai to nazaron se gira dete hai.!!

 

“un boodhe bujurg ungaliyon mein koe takat to na the,

magar sir jhuka to kampate hathon ne jamane bhar ke daulat de de”

 

ikhalas ke daulat ko ham ahale-mohabbat

taqasem to kar dete hain becha nahe karate.!!

 

kise ke ungaliyon ke qemate here pe mat jana

ye daulat-mand andar se bhikhare ho bhe sakate hain.!!

 

doulat shayari in hindi dhan daulat aur sone chande par shayari

mujh pe bhe vajib hai, ansuon ke zakat

gam ke daulat se malamal hoon mai.!!

bahut hi kam nazar aya mujhe,ikhalas logon mein

ye daulat bant gae shayad,bahut hi khas logon mein.!!

 

marane se pahale itane se daulat to kama hi lenge..

ki kandho ke kame na hoge mere janaze ko..!!

 

shabd barabar dhan nahin, jo koe jane bol |

hera to damo mile, shabd mol na tol ||

 

na jane kaun se daulat hain..! doston ke lafjon mein..!

bat karate hai to.! dil khared lete hain..!

 

“lamhon ke daulat se donon he maharoom rahe,

mujhe churana na aya, tumhen kamana na aya.”

 

doulat shayari in hindi dhan daulat aur sone chande par shayari

duaen ikatthe karane me laga hoon,

suna hai daulat shauharat sath nahe jate…

 

ap daulat ke tarazoo mein dilon ko taulen

ham mohabbat se mohabbat ka sila dete hain

daulat husn javane ye sab chalate firate chhav hai

ham ne bhe yahe dekha tarekh bhe yahe batalate hai

 

 

2 thoughts on “Doulat Shayari in Hindi धन दौलत और सोने चाँदी पर शायरी”

Leave a Comment