शानदार कवच धारी डायनासोर Euoplocephalus

कवच धारी डायनासोर Euoplocephalus 

अपने किताबों में और डायनासोर की फिल्मों और वृत्त चित्रों में कई डायनासोर देखे होंगे,  एक विशेष प्रकार का डायनासोर ऐसा होता था जिसका पूरा शरीर कवच से सुरक्षित रहता था, इसकी पूंछ  के पीछे एक विशालकाय हड्डी होती थी जिससे यह पास आने वाले शिकारियों को मार कर गिरा देता था ऐसा माना जाता है कि यह डायनासोर किसी टीरेक्स को भी अपनी पूछ के वार से गिरा सकता था इस डायनासोर का नाम Euoplocephalus है. आइये जानते हैं इस शानदार डायनासोर के बारे में.

Euoplocephalus एक अनोखा डायनासोर

Euoplocephalus, Euoplocephalus in hindi, Euoplocephalus ki jankari, armored dinosaur hindi, hammer tail dinosaur hindi,

Euoplocephalus  नाम का मतलब होता है “पूर्ण सुरक्षित यह सुरक्षित सर वाला’,  यह डायनासोर आज से 60 लाख साल पहले Cretaceous युग में पाया जाता था,  इसके जीवाश्म उत्तर अमेरिका में मिले हैं  यह ankylosaurids प्रकार के डायनासोरों में सबसे बड़ा था, इसका आकार किसी हाथी से थोड़ा ही बड़ा होता था, Euoplocephalus के कई जीवाश्म वैज्ञानिकों को मिले हैं जिससे कि इसके सभी गुणों का पूरा पूरा अध्ययन किया जा सकता है, इसकी 15 खोपड़ियाँ पूरी सुरक्षित अवस्था में मिली है, इन जीवाश्म से ही हमें इसकी बनावट और इसके व्यवहार का ठीक ठीक पता चलता है.

Euoplocephalus  6 मीटर लंबा और 3 टन वजनी था, इसके शरीर की चौड़ाई 3 मीटर की थी, इसके छोटे-छोटे पैर थे जिनमें पंजे होते थे, इसकी पूरी गर्दन और सर मोटी हड्डियों से ढका हुआ था , इस डायनासोर की एक खास विशेषता यह थी कि इसकी पूछ के अंत में मजबूत गोलाकार हड्डी थी जो कि एक ताकतवर हथौड़े की तरह काम करती थी, इसकी पूंछ दोनों दिशाओं में घुमाई जा सकती थी,  यह अपनी पूछ से बहुत ही खतरनाक वार करता था.

Euoplocephalus खाता क्या था?

Euoplocephalus शाकाहारी डायनासोर था इसकी नाक बहुत तेज थी क्यों इसे विभिन्न प्रकार के पौधों को खोजने में मदद करती थी,  इस के पंजे नुकीले थे इन पंजो से ही जमीन खोदकर पौधों को निकाल लेता था, पूरी तरह हड्डियों की प्लेट से ढका होने के बावजूद इसके दांत बहुत ही कमजोर थे इसीलिए यह केवल  नरम पौधे ही खा सकता था.

Euoplocephalus डायनासोर अकेले विचरण करते थे

ऐसा माना जाता है कि  वयस्क Euoplocephalus झंडू में नहीं रहते थे बल्कि अकेले ही विचरण करते थे अनोखा कवच  ही इस डायनासोर को बाकी सब डायनोसोर से अलग बनाता है, इसका शरीर हड्डियों की प्लेट से बना था जो कि फ्लैक्सिबल थी, इसके पूरे शरीर पर यहां तक कि इसकी आंखों के ऊपर भी हड्डियों की प्लेट थी, इसका सबसे खतरनाक हथियार इसकी पूछ थी,  इसकी पूछ किसी भयानक हथौड़े की तरह काम करती थी यह अपनी पूछ को दोनों दिशाओं में हिलाकर हमला कर सकता था, यह किसी भी शिकारी को यह अपनी पूछ से वार कर के गिरा सकता था, Euoplocephalus की एक ही कमजोरी थी जिसके द्वारा इसे मारा जा सकता था, इसके पेट के निचला हिस्सा काफी नरम था केवल यहीं पर हमला करके कोई शिकारी इसे मार सकता था.

Euoplocephalus क्योंकि पूर्णता कवच से सुरक्षित रहता था इसलिए इसे शिकारियों से बचने के लिए झुंडों में रहने की आवश्यकता नहीं थी यह एक छुपने वाला कायर प्राणी नहीं था बल्कि शिकारियों पर हमला करने वाला खतरनाक जानवर था.

Euoplocephalus, Euoplocephalus in hindi, Euoplocephalus ki jankari, armored dinosaur hindi, hammer tail dinosaur hindi,

 

Taj Mohammed Sheikh

हेलो दोस्तों, में एक Freelance Blogger हूँ , नेट इन हिंदी .com वेबसाईट बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा में मनोरंजक और उपयोगी सामग्री प्रस्तुत करना है, यहाँ आपको विज्ञान, सेहत, शायरी, प्रेरक कहानिया, सुविचार और अन्य विषयों पर अच्छे लेख पढ़ने को मिलते रहेंगे. धन्यवाद!

You may also like...

Leave a Reply