Hindi Kahani आपका मकान हिंदी कहानी - Net In Hindi.com

Hindi Kahani आपका मकान हिंदी कहानी

Hindi Kahani  - wooden house

Hindi Kahani आपका मकान हिंदी कहानी

Hindi Kahani – You are making your own house

सभी हिंदी कहानियों की लिस्ट यहाँ है।

हिंदी कहानी आपका मकान (Hindi Kahani)

एडम एक अच्छा कारपेंटर (सुतार) था, वह एक ही कॉन्ट्रैक्टर के साथ लगभग 25 वर्षों से काम कर रहा था, लेकिन अब उम्र होने के साथ उससे इतनी मेहनत नहीं होती थी, इसलिए उसने काम से रिटायरमेंट लेने का फेसला किया। उसने अपना इस्तीफा कॉन्ट्रैक्टर के ऑफिस भेज दिया, और लिख दिया की वह अब मकान बनाने के काम को छोड़कर, रिटायर होकर अपने परिवार के साथ जीवन बिताना चाहता है, वह हर महीने मिलने वाली सेलेरी को मिस तो करेगा, लेकिन वह अब बाक़ी की ज़िन्दगी आराम करना चाहता है। (Hindi Kahani)

कांट्रेक्टर को इस्तीफे को देखकर थोड़ा दुःख हुआ, क्यों की उसका एक पुराना और अच्छा कर्मचारी छोड़कर जा रहा था। कांट्रेक्टर ने एडम से कहा की क्या तुम केवल एक आखिरी मकान बना सकते हो, उसके बाद तुम भले ही रिटायरमेंट ले सकते हो, इस बात पर एडम राज़ी हो गया।

Hindi Kahani - Carpenter

Hindi Kahani आपका मकान हिंदी कहानी

एडम ने नए मकान बनाने का आखिरी प्रोजेक्ट हाथ में तो ले लिया पर उसका मन पूरी तरह अपने काम में नहीं लगता था, उसने अच्छे मटेरियल की बजाय सस्ते और हलके सामान से ही काम चला लिया। काम में सफाई और बारीकियों का भी ध्यान उसने नहीं रखा। आखिरकार उसने बेमन से, जैसे तैसे उस मकान को पूरा किया। (Hindi Kahani)

Hindi Kahani - Your House

Hindi Kahani आपका मकान हिंदी कहानी

जब मकान पूरा बन गया तो कांट्रेक्टर मकान का निरिक्षण करने आया।  माकन देखने के बाद उसने मकान की चाबियाँ एडम को देते हुए कहा “यह तुम्हारा मकान है ! मेरी तरफ से तुम्हे एक रिटायरमेंट गिफ्ट !!! (Hindi Kahani)

एडम यह बात सुनकर सन्न रह गया!!!।

उसने मन में पछतावे से सोचा “कितने शर्म की बात है, अगर मुझे पता होता की में अपना खुद का घर बना रहा हूँ तो में इसे कितना बेहतरीन बनाता!!!”

चौकिये मत, हम सब भी एसे ही हैं! हम अपनी ज़िन्दगी का निर्माण खुद करतें हैं, हमेशा हम अपने काम में अपना बेस्ट कहाँ लगातें हैं? और बाद में परिणाम आने पर पछतातें हैं।  आप भी एक कारपेंटर की तरह हैं, जो अपनी ज़िन्दगी का मकान बना रहा है, प्रत्येक दिन आप एक कील ठोकतें हैं, एक दरवाज़ा बनातें हैं, एक दिवार बनातें हैं, उस मकान की जिसमे आप भविष्य में रहने वालें हैं! (Hindi Kahani)

लेकिन अब आपको पता है की आप अपना ही मकान बना रहें हैं !!!!

The Moral of this Hind kahani is

“Life is a do-it-yourself project.”

List of all Hindi Stories

life-Hindi Stories

Hindi Kahani – aapka makan

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *