Hindi Kahani विश्वास भरी कोशिश!

Hindi Kahani - Miracle in hindi

Hindi Kahani विश्वास भरी कोशिश!

Hindi Kahani- The Miracle of Faith in Hindi

हिंदी कहानी – विश्वास भरी कोशिश!

टेस एक छोटी आठ साल की लड़की थी, एक दिन उसने अपने मम्मी पापा को उसके भाई जॉन के बारे में बातें करते हुए सुना!। वह केवल इतना ही समझ पाई की उसका भाई बहुत बीमार है और उनके पास पैसे ख़त्म हो चुकें हैं, अगले महीने वो एक किराये के घर में शिफ्ट होने वालें हैं क्यों की उसके पापा के पास डॉक्टर के बिल्स चुकाने के पैसे नहीं थे! अब केवल एक महंगा ओपरेशन ही उसके भाई की जान बचा सकता है।

उसने अपने पापा को कहते हुए सुना की कोई भी उन्हें लोन नहीं दे रहा है, अब तो कोई मिरेकल (चमत्कार) ही उसे बचा सकता है, यह सुनकर उसकी मम्मी रोने लगी थी।(Hindi Kahani)

टेस अपने बेडरूम में गयी और अलमारी में से एक प्लास्टिक का जार, जिसे उसने गल्ला बना रखा था निकला।

उसने सारे सिक्के निकाल लिए और उन्हें सावधानी से गिनने लगी दो बार गिनने के बाद उसने सरे सिक्के जार में वापस रख दिए और सो गयी।

अगले दिन वह, पास में ही स्थित एक बड़े मेडिकल स्टोर पर, अपने पैसे लेकर पहुँच गयी। काउंटर पर बैठा व्यक्ति लोगो को दवाइयां देने में व्यस्त था, टेस ने एक सिक्का निकला और कांच के काउंटर पर नॉक किया, तब उसका ध्यान टेस की और गया उसने चिढ़कर पुछा “तुम्हे क्या चाहिए?”

“मेरा भाई बहुत बीमार है और में उसके लिए एक मिरेकल खरीदना चाहती हूँ!” टेस ने जवाब दिया। (Hindi Kahani)

“माफ़ कीजिये में आपका मतलब नहीं समझा?” दवाई बेचने वाले ने कहा।

“उसका नाम जॉन है, उसे कोई बहुत बड़ी बीमारी हो गयी है, पापा कहतें हैं की अब कोई मिरेकल ही उसे बचा सकता है! एक मिरेकल कितने में आएगा? टेस ने पुछा।

“हम यहाँ मिरेकल नहीं बेचते हैं बेटा! में तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकता” दवाई बेचने वाले ने कहा ।

“सुनिए! मेरे पास पैसे हैं, अगर वह कम हों तो में और भी ला सकती हूँ, केवल आप तो बता दीजिये की कितने पेसे लगेंगे?” टेस ने कहा।

यह सब बातें दवाई बेचने वाले का भाई सुन रहा था जो की शिकागो शहर से आया था, उसने टेस से पुछा

“तुम्हारे भाई को किस तरह के मिरेकल की ज़रुरत है?” ।

“मुझे ठीक ठीक नहीं पता! वह बहुत बीमार है और मम्मी कहती हैं की उसे एक बड़े ओपरेशन के ज़रुरत है, लेकिन मेरे पापा के पास पेसे नहीं हैं” टेस ने जवाब दिया।

“तुम्हारे पास कितने पैसे हैं” उस व्यक्ति ने पुछा। (Hindi Kahani)

“एक डॉलर और ग्यारह सेंट्स, लेकिन में और ला सकती हूँ अगर आप कहें तो” टेस ने कहा।

“अरे वाह! कितना बढ़िया इत्तेफाक़ है, मिरेकल तो एक डॉलर ग्यारह सेंट्स में ही आता है!” उस व्यक्ति ने खुश होकर मुस्कुराते हुए कहा” ।

उस व्यक्ति ने टेस से पैसे ले लिए और कहा “चलो मुझे अपना घर बताओ, में तुम्हारे भाई और माता पिता से मिलना चाहता हूँ, हो सकता है मेरे पास उनके लिए मिरेकल हो!”

वह भला व्यक्ति दरअसल में डॉक्टर कार्लटोन आर्मस्ट्रांग थे, जो की एक न्यूरो सर्जन थे!।

ओपरेशन सफल रहा, जॉन बिलकुल ठीक हो गया और डॉक्टर आर्मस्ट्रांग ने कुछ भी पैसे नहीं लिए।

टेस के मम्मी पापा इस अजीब घटनाक्रम के बारे में सोच कर हैरान थे जो उन्हें यहाँ ले आया था।

“यह तो वास्तव में हमारे लिए चमत्कार ही था, वर्ना पता नहीं इस ओप्रशन में कितने पैसे खर्च हो जाते!” टेस की माँ ने कहा। (Hindi Kahani)

यह सुनकर टेस मुस्कुरा दी, वह जानती थी की मिरेकल की कीमत क्या थी…….. एक डॉलर और ग्यारह सेंट्स ………प्लस एक छोटे बच्चे की विश्वास भरी कोशिश।

सभी हिंदी कहानियों की लिस्ट यहाँ है।
List of Inspiring Hindi Stories

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *