Hindi Kahani - सेल्स वालों के लिए एक मज़ेदार कहानी - Net In Hindi.com

Hindi Kahani – सेल्स वालों के लिए एक मज़ेदार कहानी

 Hindi Kahani - A good story for sales persons

Hindi Kahani – A good story for sales persons

Hindi Kahani – A good story for sales persons

हिंदी कहानी – सेल्स वालों के लिए एक मज़ेदार कहानी

एक बार एक लड़के ने अमेरिका के एक बड़े शापिंग सेंटर में सेल्समैन की नोकरी के लिए आवेदन दिया। वह शापिंग सेंटर काफी बड़ा था और छोटी बड़ी लगभग हर तरह की वस्तुए वहां बेचीं जाती थी ।

कुछ देर लड़के का rezume देखने के बाद मेनेजर ने कहा ठीक है तुम कल सुबह से काम शुरू कर सकते हो! कल शाम को आकर फिर मिलना। तुम्हे पहले ट्रायल पर रखा जायेगा अगर तुम चीजें बेच पाए तो तुम्हे स्थायी कर दिया जायेगा।

लड़के ने दिन भर मेहनत से काम किया और शाम को बॉस के ऑफिस में पहुँच गया।

“आज तुमने कितने ग्राहकों को माल बेचा?” बॉस ने पुछा

“सर, केवल एक को!” लड़के ने जवाब दिया।

“केवल एक !!!!” बॉस ने आश्चर्य से बोला ।

“ओह! मेरे स्टाफ में सेल्समेन एक दिन में, कम से कम २० से ३० लोगों को सामान बेच देता हैं, अगर तुम यहाँ काम करना चाहते हो तो तुम्हे भी इतना सेल तो करना ही पड़ेगा। वेसे तुमने कितने का सामान बेचा?” बॉस ने कहा ।

“९३३००५३४ डॉलर्स!!!” लड़के ने उत्तर दिया।

“क्या ??? तुमने यह कैसे किया ?” अचंभित होते हुए बॉस ने पुछा ।

“well, एक ग्राहक आया था और मेने उसे मछली पकड़ने के हूक्स दिखाए, पहले छोटा हुक, फिर बड़ा हुक और अंत में बड़ा हुक उसने तीनों खरीद लिए”।

“फिर मेने उसे मछली पकड़ने की रॉड और गियर भी बेच दिए”

“फिर मेने उससे पुछा की वह कहाँ मछलियाँ पकड़ने जा रहा है, तो उसने बताया की वह समुद्र में मछलियाँ पकड़ना चाहेगा किसी झील में नहीं! तब मेने उसे बताया की उसे दो इंजिन वाली मोटर बोट खरीदनी चाहिए जो उसके लिये सेफ रहेगी! उसने वह भी खरीद ली!!!”

Hindi Kahani - A good story for sales persons

Hindi Kahani – A good story for sales persons

“फिर मेने पुछा की वह अगर बड़ी मछलियाँ पकड़ेगा तो उन्हें ले जाने के लिए उसे एक मिनी ट्रक की ज़रुरत भी पड़ेगी, मेने उसे कुछ मिनी ट्रक बताये और उनमे से उसने एक खरीद लिया !”

“यही नहीं उसने कैम्पिंग का सामन भी ख़रीदा !!!”

इतना सब सुनकर मेनेजर आश्चर्य में पड़ गया और उसने कहा “तुमने उस व्यक्ति को इतना कुछ बेच दिया जो केवल एक फिशिंग हुक खरीदने आया था!?”

“नहीं सर, वो तो सरदर्द और डिप्रेशन की दावा लेने आया था! मेने उससे कहा सर! फिशिंग, डिप्रेशन दूर करने का सबसे अच्छा उपाय है!”

बॉस ने यह सब सुनकर कहा “बेटा तुम तो मेरी कुर्सी पर बैठो!!!”

यह कहानी अविश्वशनीय और काल्पनिक लगती है, लेकिन पत्येक सेल्समैन इससे सीख सकता है की, अगर आप अपने ग्राहकों की वास्तविक समस्याओं को हल करने में उनकी मदद करेंगे, तो आप तेज़ी से सामान बेच सकेंगे।

Moral of the Hindi Kahani is

Understand and help solving the problems of your buyers for more sell.

List of all Hindi Stories

सभी हिंदी कहानियों की लिस्ट यहाँ है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *