Hindi Kahani How to Calm your Mind in hindi

Hindi Kahani How to Calm your Mind in hindi

hindi kahani - calm your mind
Hindi Kahani How to Calm your Mind in hindi

Hindi Kahani – How to Calm your Mind in hindi

हिंदी कहानी – मन को शांत करने का उपाय!

एक बार महात्मा बुद्ध अपने कुछ शिष्यों के साथ सफ़र कर रहे थे। रस्ते में एक छोटी जलधारा को उन्होंने पार किया और कुछ ही दुरी पर जाकर एक घने पेड़ की छायाँ में सब विश्राम करने लगे। महात्मा बुद्ध ने अपने एक शिष्य से कहा की उन्हें प्यास लगी है, इसलिए जाकर पास ही बहती हुई जलधारा में से थोडा सा पानी ले आओ।

यह आदेश सुनकर शिष्य मिटटी का बर्तन लेकर चल पड़ा, जब वह जलधारा के पास पहुंचा तो उसने देखा की एक बैलगाड़ी, उस जलधारा को पार कर रही है, और जलधारा का पानी बहुत मटमैला हो गया है, यह देखकर वह खाली हाथ वापस लौट आया।

Hindi Kahani - Calm your mind 2
Hindi Kahani How to Calm your Mind in hindi

 उसने कहा की वह पानी पीने योग्य नहीं है और बहुत ही मटमैला हो चुका है। बुद्ध ने उसे कुछ देर रूककर फिर जाने को कहा।

 वह शिष्य फिर उस छोटी नदी पर पानी भरने पहुंचा, लेकिन वहां पर लोगो के आने जाने का मार्ग था, इसलिए थोड़ी थोड़ी देर में लोग अकसर वहां से नदी को पार करते रहते थे, और इससे पानी मटमैला हो जाता था। यह सब देखकर शिष्य वापस खाली हाथ आ गया और सारी बात बुद्ध को कह सुनाई।

 यह सुनकर बुद्ध स्वयं उठे, और उस शिष्य को साथ लेकर उस छोटी नदी पर पहुंचे। हर बार की तरह इस बार भी वहां से कोई बेलगाडी निकल रही थी, यह देखकर शिष्य ने कहा

“देखा गुरूजी, यहाँ का पानी मटमैला ही है, क्यों की यहाँ से लोग निकलते ही रहतें हैं… ।“

बुद्ध ने यह सुनकर कहा “कुछ देर रूककर इस पानी को ध्यान से देखो…..”

धीरे धीरे पानी का मटमैलापन कम होने लगा और कुछ ही मिनटों में मटमैला पानी साफ और पीने लायक हो गया! । तब बुद्ध ने कहा

“हमारा मन भी इसी प्रकार है, जिस तरह से इस नदी को पार करने वाले, इस पानी में हलचल मचा देते हैं, ठीक उसी प्रकार, हमारे मन में आने वाले तरह तरह के विचार, उसे अशांत कर देते हैं! हमें अपने मन को शांत करने के लिए कोई प्रयास करने की ज़रुरत नहीं है, केवल उसको एक प्रेक्षक की तरह आराम से देखने के ज़रुरत है, इस तरह हमारा मन स्वयं धीरे धीरे शांत हो जाता है!”

 सभी हिंदी कहानियों की लिस्ट यहाँ है।
List of Inspiring Hindi Stories

Leave a Reply