Hindi Shayri – शाम के बाद मिलती है

Hindi Shayri – शाम के बाद मिलती है

Hindi Shayri –

शाम के बाद मिलती है रात, हर बात में समायी हुई है तेरी याद,
बहुत तन्हा होती ये ज़िन्दगी, अगर नहीं मिलता जो तेरा साथ

Hindi Shayri
Hindi Shayri

1 thought on “Hindi Shayri – शाम के बाद मिलती है”

Leave a Reply