Hindi Shayri – ज़रा सी रंजिश में न

Hindi Shayri – ज़रा सी रंजिश में न

Hindi Shayri –

हिंदी शायरी,

ज़रा सी रंजिश में न छोड़ किसी अपने का दामन,
ज़िन्दगी बीत जाती है अपनों को अपना बनाने में।

Hindi Shayri -
Hindi Shayri –

Leave a Reply