8 प्रकार के भालूओं के बारे में रोचक जानकारी

आठ प्रकार के भालू पाए जाते हैं पूरी दुनिया में!

Tags ( bear in hindi, bears in hindi, bhaloo ki jankari, 8 types of bears in hindi, 8 prakar ke bhaloo, polar bear in hindi, dhruviya bhaloo ki jankari, indian bear, grey bear in hindi, Asiatic bear, sun bear, sloth bear, black bear, polar bear adaptation in hindi)

ताकतवर और आकर्षक जीव है भालू  

Bears are powerful and magnificent creatures

भालू एक मांसाहारी स्तनधारी प्राणी हैं, वैज्ञानिक वर्गीकरण के हिसाब से यह ursidae परिवार के सदास्य हैं पूरे विश्व में कुल आठ प्रकार के भालू पाए जाते हैं . इन आठ प्रकार की प्रजातियों में फिर अलग-अलग  उप प्रजातियां पाई जाती है. भालू पूरी दुनिया में फैले हुए हैं तथा अलग-अलग तरह के आवासों में पाए जाते हैं भालू मुख्यतः उत्तरी गोलार्ध में पाए जाते हैं, दक्षिणी गोलार्ध में बहुत कम भालू मिलते हैं भालू उत्तर अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, यूरोप और एशिया में पाए जाते हैं इनका शरीर विशालकाय होता है, इनके  बड़े-बड़े पैर और पंजे होते हैं तथा गोल कान होते हैं इनके शरीर पर लंबे बाल होते हैं तथा एक छोटी पूछ होती है.

जहां एक और पोलर बियर पूरी तरह मांसाहारी होता है तो दूसरी ओर जाइंट पांडा पूरी तरह से शाका हरी होता है तथा बांस की पत्तियों पर निर्भर रहता है, बाकी छह प्रकार की प्रजातियां सर्वाहारी होती हैं. भालू मुख्यतः अलग अकेले ही रहना पसंद करते हैं भालू के सूंघने की शक्ति बहुत तेज होती है अपने बड़े शरीर के बावजूद यह तेज गति से दौड़ लेते हैं, पेड़ों पर चढ़ जाते हैं तथा तैर भी सकते हैं, सर्दियों के दौरान भालू अपनी गुफा में शीत निद्रा में चले जाते हैं यह लगभग सौ दिनों तक शीत निद्रा की अवस्था में रहते हैं.

प्राचीन काल से ही मनुष्य भालू का शिकार करता आया है तथा उनके मांस और फर  का उपयोग करता है भालू की 8 में से 6 प्रजातियां संकटग्रस्त या लुप्त प्राय प्रजातियों की श्रेणी में शामिल की गई है.

कुल 8  प्रकार के भालू होते हैं जंगलों में.

There are 8 types of Bears in wild

8  प्रकार के भालू दुनिया में पाए जाते हैं ये इस प्रकार हैं

एशियाई भालू , काला भालू , भूरा भालू , जायंट पांडा, पोलर बियर , स्लॉथ बियर, स्पेक्टाकल्ड बिय तथा ,  सन बियर.

1 एशियाई भालू Asiatic Bear  

एशियाई भालू एशिया के पूर्वी हिस्सों में पाए जाते हैं यह अल्पाइन और ट्रॉपिकल जंगलों में और पहाड़ों पर पाए जाते हैं, अफगानिस्तान मलेशिया कंबोडिया चीन भारत ईरान, द्कस्हीं एशिया और ताइवान इन देशों में एशियाई भालू मिलते हैं इन का दूसरा नाम हिमालयन काला भालू है इनके बालों का का रंग काला होता है इनके कान बड़े होते हैं तथा इनके बड़े बड़े बाल होते हैं, भालू  की दुनिया में यह मध्यम आकार के भालू हैं. यह भालू खतरनाक होते हैं और डराए और चौक जाने पर यह मनुष्य पर हमला कर देते हैं यह अपना ज्यादातर समय पेड़ों के ऊपर बिताते हैं एशियाई भालू पेड़ों पर ही टहनियों और पत्तियों से सोने के लिए घर बनाते हैं. एशियाई भालू दूसरे भालू की तरह ही सर्वहारी होते हैं यह पेड़ों की पत्तियां, फल, कीट पतंगे, और छोटे जीव खा लेते हैं कभी-कभी यह भेड़ और बकरियों का शिकार भी कर लेते हैं.

2 ब्लैक बियर Black bear

काले भालू का यह नाम पूरी तरह ठीक नहीं है क्योंकि काले भालू कई रंगों में मिलते हैं यह भूरे,  ग्रे, सिल्वर ब्लू, और क्रीम कलर के हो सकते हैं. इनका आवासीय स्थल उत्तरी तुन्द्रा से लेकर कनाडा और अलास्का तक है, यह मध्य अमेरिका और मेक्सिको में भी पाए जाते हैं काले भालू का वजन 56 से लेकर 130 किलो तक हो सकता है, यह भालू प्रोटीन युक्त आहार पसंद करते हैं जैसे कि दीमक मधुमक्खियां, पतंगे, फल, शहद कुछ भालू की प्रजातियां केवल  मछली पर ही निर्भर होती है, यह मरे हुए जीवों का मांस भी खा लेते हैं काले भालू की कुल 16 उप प्रजातियां हें मुख्यतः यह कनाडा और अमेरिका में पाई जाती है उनके नाम इस प्रकार है

  • Kermode or Spirit bear (Western Canada)
  • Vancouver black bear
  • Queen Charlotte black bear
  • Newfoundland black bear
  • Glacier bear or blue bear (Alaska & British Columbia)
  • Kenai black bear (Alaska)
  • Dall black bear (Alaska)
  • Cinnamon bear (central U.S.  And Canada)
  • Olympic black bear (western coast of Canada & U.S.)
  • Florida black bear
  • New Mexico black bear
  • East Mexico black bear
  • West Mexico black bear
  • Louisiana black bear
  • Minnesota black bear
  • Eastern black bear

3 ब्राउन बियर या भूरा भालू Brown bear

भूरे भालू की प्रजातियां पूरे दुनिया में पाई जाती हैं यह घने जंगलों में और पहाड़ों पर रहना पसंद करते हैं यह कनाडा अमेरिका यूरोप और एशिया के कुछ हिस्सों में पाए जाते हैं भूरे भालू को उसके कंधे के ऊपर बनी कूबड़ से आसानी से पहचाना जा सकता है इनके  हाथों की मांसपेशियां बहुत शक्तिशाली होती हैं जो कि जमीन खोदने और पेड़ों को छिलने में काम आती है.

भूरे भालू का पसंदीदा भोजन घास फल फ्रूट कीट पतंगे  सड़ा हुआ मांस तथा छोटे जीव हैं जो भालू समुद्र के किनारे रहते हैं वह मछलियों पर निर्भर होते हैं यह भालू दूसरे वालों की तुलना में बहुत बड़े आकार के होते हैं क्योंकि इनके आहार में मछलियों का प्रोटीन मिलता है भूरे भालू जमीन खोदकर गुफा बनाकर उसमें रहना पसंद करते हैं इनकी गुफा एक सुरंग की तरह होती है जो कि एक अंदर बने चेंबर में जाती है. मादा भालू पूरी सर्दियां शीत निद्रा की अवस्था में रहती हैं यहां तक की है बच्चों का जन्म भी शीत निद्रा में ही देती है. छोटे बच्चे पैदा होकर स्वयं ही दूध पीने लगते हैं तथा मादा भालू जब सो कर उठती है तब तक बच्चे थोड़े बड़े हो जाते हैं, भूरे भालू अपनी गुफा का इस्तेमाल  एक बार ही करते हैं भूरे बालों के बच्चों की जिंदगी काफी खतरे में रहती है क्योंकि कई जानवर इन्हें अपना भोजन बना लेते हैं यहां तक कि दूसरे बड़े नर भूरे भालू भी इन्हें मारकर खा जाते हैं. भूरे भालू की भी कई प्रकार की प्रजातियां दुनिया में पाई जाती है इनमें से कुछ मुख्य इस प्रकार है.

  • Alaskan
  • Asiatic
  • European
  • Grizzly bear (North America)
  • Himalayan snow bear
  • Kodiak bear (Alaska)
  • Hokkaido brown bear (Japan)
  • Siberian bear (Russia)
  • Red bear (India and the Himalayas)

4 जाइंट पांडा Giant Panda

 यह सबसे अलग दिखने वाला भालू है यह देखने में बहुत प्यारा होता है और किसी खिलौने की तरह लगता है इसकी आंखें काली होती है और मुंह सफेद,  दिखने में भले ही प्यारा हो लेकिन है तो यह भालू ही, और हर भालू खतरनाक हो सकता है, जायंट पांडा भालू बहुत तेज चलते हैं, ये पेड़ों पर चढ़ सकते हैं और तैर भी सकते हैं यह बहुत शर्मीले प्राणी है और घने जंगलों में छुप कर रहते हैं यह केवल चीन के जंगलों में पाए जाते हैं जाइंट पांडा भी लुप्त प्राय होते जा रहे हैं यह एक संकटग्रस्त प्रजाति है दुनिया में केवल  1000 जाइंट पांडा ही बचे हैं चीन की बढ़ती हुई आबादी के कारण इनके आवास स्थल खत्म होते जा रहे हैं इसके खूबसूरत फर की वजह से भी इनका काफी शिकार किया जाता है.

 जॉइंट  पांडा का खाना : ये  सिर्फ बांस के पेड़ पर निर्भर रहते हैं. इससे इन्हें बहुत कम ऊर्जा मिलती है इसलिए इन्हें अधिक मात्रा में खाना खाना पड़ता है,  1 दिन में यह 50 पाउंड तक खा जाते हैं, ये दिन का अपना अधिकतर समय खाते हुए बिताते हैं , मादा पांडा भालू 1 या 2 बच्चों को जन्म देती है परंतु केवल यह एक बच्चे का ही ध्यान रखती है दूसरा बच्चा ध्यान ना देने के कारण मर जाता है 1 साल का होने पर जाइंट पांडा भालू अपना ध्यान खुद रख सकते हैं.

5 पोलर भालू- ध्रुवीय भालू Polar Bear  

यह सफेद रंग के बड़े आकार के भालू होते हैं जो कि आर्कटिक अलास्का कनाडा रूस डेनमार्क और नार्वे में पाए जाते हैं वर्तमान समय में इनकी संख्या 25000 से 40000 के बीच है.

पोलर बियर बर्फीले इलाकों में रहने के लिए अनुकूलित है

ध्रुवीय भालू जमी हुई बर्फ के इलाके में रहते हैं तथा बर्फ  में गुफा खोद कर अपना घर बनाते हैं सर्दियों में ये शीत निद्रा में चले जाते हैं तथा बसंत के मौसम में बाहर निकलते हैं मादा भालू दो बच्चों को जन्म देती है, पोलर भालू के बच्चे मनुष्य के बच्चे से भी छोटे होते हैं इनका आकर  चूहे के बराबर होता है लेकिन पर्याप्त भोजन मिलने पर वह 1 साल में पूरी तरह बड़े हो जाते हैं, पोलर बियर भालू 10 फीट तक लंबा होता है तथा इसका वजन 635 किलो तक हो जाता है, मादा भालू थोड़ी छोटी होती है तथा इसका वजन 300 किलो तक होता है.

पोलर भालू के बारे में मजेदार बात यह है कि यह दिखाई सफेद देते हैं परंतु इनके फर सफेद नहीं होते बल्कि इनके फर के बाल पारदर्शी खोखले होते हैं जो कि प्रकाश को पूरी तरह परिवर्तित कर देते हैं इन का फर ऑइली होता है तथा इस पर पानी का असर नहीं होता,  इनके फर के अंदर काले रंग की त्वचा होती है त्वचा के अंदर 4 इंच मोटी चर्बी की परत होती है जो कि इन्हें ठंड से बचाती है.

पोलर बियर काफी अच्छे तैराक होते हैं, एक बार में 161 किलोमीटर तक तैर सकते हैं पोलर बियर का मुख्य भोजन सील्स है, यह समुद्री मछली और दूसरे जीव भी खाते हैं इनका लिवर काफी स्ट्रांग होता है जो काफी चर्बी को पचा सकता है पोलर बियर के अंदर विटामिन ए की अधिक मात्रा होती है.

पोलर बियर भी एक संकटग्रस्त प्रजाति है मनुष्य द्वारा फैलाए गए प्रदूषण से बर्फीले इलाके कम होते जा रहे हैं तापमान बढ़ने से  बर्फ पिघल रही है इससे पोलर बियर के आवास नष्ट हो रहे हैं कई बार समुंद्र में मनुष्य द्वारा पेट्रोलियम का प्रदूषण कर दिया जाता है जिससे कि कई पोलर बियर मर जाते हैं ध्रुवीय  भालु के 70% तक बच्चे बड़े होने से पहले ही मर जाते हैं इसका मुख्य कारण प्रदूषण और भोजन का न मिलना होता है इन्हीं कारणों से पोलर बियर एक संकटग्रस्त प्रजाति है.

6 स्लॉथ बियर Sloth Bear

 स्लॉथ बियर का नाम इसलिए पड़ा क्योंकि वैज्ञानिकों ने इसे क्लॉथ समझ लिया था जो कि एक सुस्त प्राणी होता है इसी की आदतें स्लोथ जीव की तरह होती है जैसे कि पेड़ों पर लटकते रहना, झुंड में रहना इत्यादि  हालांकि यह भालू स्लॉथ की तरह सुस्त नहीं होते हैं इनका प्रमुख भोजन कीट पतंगे, पक्षियों के अंडे शहद तथा सड़ा हुआ मांस है, फल खाने के लिए यह पेड़ों पर काफी ऊंचाई तक चढ़ जाते हैं.

7 स्पेक्टाकल्ड  बियर Spectacled Bear

 इन का दूसरा नाम ऐडियन बियर भी है क्योंकि यह ऐडियन पहाड़ों पर रहते हैं इनका यह नाम इसलिए पड़ा क्योंकि इन क्या चेहरा ऐसा होता है जैसे इन्होने चश्मा (स्पेक्टेक्ल) लगा रखा हो इसलिए इन्हें स्पेक्टाकल्ड बियर कहते हैं  दक्षिण अमेरिका में केवल इसी प्रकार के भालू मिलते हैं, इनका पसंदीदा भोजन चूहे चिड़िया, फल, घास, है यह पेड़ों पर उचे उचे चढ़कर अपने रहने का स्थान बनाते हैं और वही सोते हैं.

8 सन बियर Sun Bear

यह सबसे छोटा भालू होता है इसकी लंबाई 4.5 फीट तक होती है और वजन केवल 45 किलो होता है इन का पसंदीदा भोजन छिपकली, छोटी चिड़िया चूहे कीड़े दीमक शहद और फल है क्योंकि यह गर्म स्थानों पर रहते हैं इसलिए  इन्हें शीत निद्रा की कोई आवश्यकता नहीं पड़ती, सन बियर मुख्यतः दक्षिण पूर्वी एशिया के जंगलों में पाए जाते हैं इनका भी शिकार किया जाता है अक्सर छोटे बच्चों को पकड़कर पिंजरे में पालतू बनाकर रखा जाता है.

 

 

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *