Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी - Net In Hindi.com

Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी

Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी

Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी

Ishk Hindi Shayari

इश्क हिंदी शायरी

Here you can get the best collection of Hindi Shayari on Ishk, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Ishk Hindi Shayari to your facebook friends. These Hindi sher on Ishk is excellent in expressing your emotions and love. For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari .

इश्क पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस इश्क हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। इश्क लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, आपके प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं।

सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

****

Ishk Hindi Shayari

हुए बदनाम मगर फिर भी न सुधर पाए हम…!!

फिर वही शायरी,फिर वही इश्क,फिर वही तुम…!!

*** Ishk Hindi Shayari

सच्चे इश्क में अल्फाज़ से ज्यादा एहसास की एहमियत होती है !!

***

एक अदद इश्क जरूर होना चाहिए शायराना मिजाज के लिए जलेगे दिल- ए – यार तभी तो दिलजलों की महफिल जमेगी

***

खूबसूरत हम नहीं… यकीं मानो..तुम्हारा इश्क है…

जो नूर बनकर….  हमारी आँखों से छलकता है

***

इश्क” का धंधा ही बंघ कर दिया साहेब।….

मुनाफे में “जेब” जले.. और घाटे में “दिल”!!!!

*** Ishk Hindi Shayari

ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,

ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है।

***

औक़ात नही थी जमाने में जो मेरी कीमत लगा सके.

कबख़्त इश्क में क्या गिरे…मुफ़्त में नीलाम हो गए.

***

क्या करे जब किसी की याद आये, हर धड़कन पर किसी का नाम आये, कैसे कटेंगे ये लम्हे इंतजार में उसके, इश्क में हर घडी मेरी जान जाये..!!

***

इश्क की आबोहवा का तो पता नहीं पर, जब से तुम मिले हो मौसम अच्छा लगता है.

*** Ishk Hindi Shayari

इश्क का बटवारा भी, बडी रजामंदी से हुआ हमारा..!!

खुशियाँ उसने बटोर लीं, दर्द मैं ले आया.

***

किसकी तलवार पर सर रखू ये बता दो मुझे,

इश्क अगर खता हैं तो सजा दो मुझे !!

***

गर मिल जाती सभी को अपने इश्क की मंजिल

…. तो रातों के अधेरों में कोई गज़ल नही लिखता …

***

हिरे जवाहरात सा बिक रहा है इश्क यहाँ

तेरे मिट्टी से इश्क का कोई कद्रदान नही

*** Ishk Hindi Shayari

न तू खुदा है, न मेरा इश्क फरिश्तों जैसा

दोनों इंसान हैं तो क्यों इतने हिजाबों में मिले

***

किताबें इश्क की पढकर ना समझो खुद को आशिक़,

ये दिल का काम, दिल वालों को करने दो तो अच्छा हैं

***

न वो रहे दिल में, न इश्क रहा, न वो ज़ज़्बात रहे… .

चल यूँ मातम मनाये, बियाबां से गुलो की बात कहे…।

*** Ishk Hindi Shayari

तमन्ना उसके वजूद की होती तो दुनिया से छीन लेता,

इश्क उसकी रूह से है, इसलिए खुदा से मांगता हूँ.

***

आधे से कुछ ज़्यादा है. पूरे से कुछ कम….

कुछ जिन्दगी. कुछ ग़म. कुछ इश्क. कुछ हम..

***

इन सायो मे कोई इश्क का मारा तो नही

अंधेरो मे नकाब डाल निकला करो तुम

***

आशिक में भी हु पर में इश्क नहीं करता

कद्र करता हु हुस्न कि पर लड़कियों पर एतबार नहीं कर

*** Ishk Hindi Shayari

डूब कर इश्क के समंदर में हमने

ग़म के मोती हजार पाए हैं तुमसे !!!!!

***

मै फिर से निकलूंगा तलाश -ए-जिन्दगी में ….

दुआ करना दोस्तों इस बार किसी से इश्क ना हो

***

कभी रजामंदी तो कभी बगावत है

इश्क मोहब्बत राधा को है, तो मीरा की इबादत है इश्क

***

मालूम था, मालूम है, कुछ भी नहीं हासिल होगा लेकिन वो ” इश्क ” ही क्या जिसमें ख़ुदको तड़पाया ना जाये

***

रोज जले फिर भी न खाक हुए,

अजीब है ये इश्क भी बुझ कर भी न राख हुए..

*** Ishk Hindi Shayari

अगर इश्क करो तो आदाब-ए-वफा भी सीखों,

ये चंद दिन कि बेकरारी मोहब्बत नही होती..!!

***

कमाल ए इश्क तो देखो वो आएगा इक दिन,

वही है शौक, वही इंतज़ार बाकी है ।

***

इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आंखों में..,

जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए॥

***

तेरे इश्क से मिली है मेरे वजूद को ये शौहरत ,

मेरा ज़िक्र ही कहाँ था तेरी दास्ताँ से पहले।

***

“यकीनन मुझे आज भी इश्क है तुमसे।

बस अब बयाँ करने की आदत नही रही.

***

हमनें देखे हैं अनगिनत चेहरों पर चेहरे जो ऐतबार करो,सोच समझ कर करना, इश्क भला कब सुनता है नसीहतें किसकी दिल-ए-बेजार करो,सोच समझकर करना।

***

क्या पता मंजिल ही बेवफा निकले.. चलो रास्तों से इश्क लड़ाया जाए!!

***

अंजाम तो यही होना था दोस्तों

सूखे पत्ते को इश्क हुआ है बहती हवा से.

***

सिर्फ इशारों में होती महोब्बत अगर, इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता? बस पत्थर बन के रह जाता ताज महल अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता..

***

सिलसिला ख़त्म क्यों करना, जारी ही रहने दो,

इश्क में बाकी थोड़ी-बहुत उधारी भी रहने दो…!

*** Ishk Hindi Shayari

बड़े दिलकश से कुछ फ़साने कुछ नये मोड़ आये हैं,

किताबे इश्क में हम, पन्ने नये कुछ जोड़ आये हैं

***

हाथ की लकीरे सिर्फ सजावट बयान करती है.,,, . . किस्मत अगर मालूम होती तो कभी इश्क न करते.

***

तजुर्बा एक ही बार के लिए काफी था..

मैने देखा ही नही इश्क दौबारा करके…

***

रूह तक नीलाम हो जाती है इश्क के बाज़ार में, इतना आसान नहीं होता किसी को अपना बना लेना

***

मुझसा कोई जहाँ में नादान भी न हो ,

कर के जो इश्क कहता है नुकसान भी न हो …!!

*** Ishk Hindi Shayari

वो रूठा है मुझसे, मगर उसे ख्याल मेरे हर पल का है……….!! इश्क में उसकी नाराज़गी का, ये अंदाज़ अच्छा है…

***

अजीब इन्साफ मिलता है अदालत-ए-इश्क में

ख़ता बाद में होती है,सज़ा पहले मुक़र्रर हो जाती है।

***

जान लेने पे तुले हे दोनो मेरी..इश्क हार नही मानता..दिल बात नही मानता।

*** Ishk Hindi Shayari

इश्क पर जोर नहीं है यह वह आतिश ग़ालिब

जो लगाए न लगे और बुझाएं ना बने

***

बला-ए-इश्क़ तो किसी दुश्मन को भी नसीब न हो,
मेरा रक़ीब भी रोया है गले लगा के मुझे !

***

बंद कर दिए है
हमने दरवाज़ें “इश्क” के…
पर तेरी याद है कि
“दरारों” मे से भी आ जाती हैं..

 Search Tags
Ishk Shayari, Ishk Hindi Shayari, Hindi Shayari, Love Hindi Shayari, Ishk whatsapp status, Ishk hindi Status, Hindi Shayari on Ishk, love whatsapp status in hindi, इश्क हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, इश्क, इश्क स्टेटस, इश्क व्हाट्स अप स्टेटस

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *