Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी

Ishk Hindi Shayari
इश्क़ Ishk Hindi Shayari

Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी

Here you can get the best collection of Hindi Shayari on Ishk, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Ishk Hindi Shayari to your facebook friends. These Hindi sher on Ishk is excellent in expressing your emotions and love. For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari .

इश्क पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस इश्क हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। इश्क लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, आपके प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं। सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

Ishk Hindi Shayari

************************************

Loading...

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका हुआ इश्क मुकम्मल, इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है…

***

“मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी….

नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ….”

***

इश्क है वही जो हो एक तरफा;
इजहार है इश्क तो ख्वाईश बन जाती है;
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ;
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।

***

मेरे इश्क़ से मिली है ,,
तेरे हुस्न को ये शौहरत ,

तेरा ज़िक्र ही कहाँ था
मेरी दीवानगी से पहले ,,

***

कुछ तो शराफत सीख ले, ऐ इश्क़ शराब से………..!!
बोतल पे लिखा तो होता है, मैं जानलेवा हूँ………….!!

***

बरसों से कायम है इश्क़ अपने उसूलों पर,
ये कल भी तकलीफ देता था ये आज भी तकलीफ देता है.

***

बंद कर दिए हैं हमने तो दरवाजे इश्क के
पर कमबख़्त तेरी यादें तो दरारों से ही चली आई..

***

इश्क की गहराईयों में.. खूबसूरत क्या है..!!

एक मैं हूँ, एक तुम हो और ज़रुरत क्या है..!!

***

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज बाकी हैं;
एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है।

*** Ishk Hindi Shayari

इश्क़ ने हमे बेनाम कर दिया,
हर खुशी से हमे अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा की हमे
भी मोहब्बत हो,
लेकिन तुम्हारी एक नज़र ने
हमे नीलाम कर दिया…

***

इश्क में, मैं खुद को बेकसूर कहती थी पहले
भूल जाती हूँ कि इस दिल की भी तो शरारत थी कुछ…….

***

जाने कब उतरेगा क़र्ज़ उसकी मोहब्बत का . .
हर रोज आँसुओं से इश्क की किस्त भरते हैँ

***

इश्क़ है तो शक कैसा
अगर नहीं है तो फिर हक कैसा..?

***

नयनों से नैन मिलाकर, महोब्बत का इजहार करूँ
बन कर ओस की बुँदे., जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ
संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी, इश्क के सफर में
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे पे ऐतबार करूँ

***

इश्क मुझे अब और जख्म चाहिये…!!
मेरी शायरी मे अब वो बात नही रही…!!

***

इश्क सूफी है ना मुफ्ती है ना आलीम है
ये जालीम है बहूत जालीम है फकत जालीम है

*** Ishk Hindi Shayari

इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है,
इश्क मेरी रुह, तो दोस्ती मेरा ईमान है,
इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी,
पर दोस्ती पर, मेरा इश्क भी कुर्बान है

***

खूबसूरत मैं नहीं ये तुम्हारा इश्क़ है…
जो नूर बनकर मेरी आँखों से छलकता है….

***

नादानियाँ झलकती हैं अभी भी मेरी आदतों से..!!
मैं खुद हैरान हूँ के मुझे इश्क़ हुआ कैसे….!!!!

***

प्यार का पहला इश्क़ का दूसरा मोहब्बत का तीसरा अक्षर अधूरा होता है

इसलिए हम तुम्हे चाहते है क्योंकि चाहत का हर अक्षर पूरा होता है ।?

***

होशवालों को खबर क्या…
बेखुदी क्या चीज़ है…
इश्क कीजिये…फिर समझिये…
ज़िन्दगी क्या चीज़ है!

***

इश्क कर लीजिए बेइंतेहा किताबो से..
एक यही ऐसी चीज़ है जो अपनी बातों से पलटा नही करती.

*** Ishk Hindi Shayari

प्यार था , मोहब्बत थी , इश्क़ था , अदा थी ,
सब कुछ था उस हसीन मैं !!
*
अगर वफ़ा  होती तो कयामत होती ,,

***

वो करते हैं बात इश्क़ की,

पर इश्क़ के दर्द का उन्हें एहसास नहीं,

इश्क़ वो चाँद है जो दिखता तो है सबको,

पर उसे पाना सब के बस की बात नही..

*** Ishk Hindi Shayari

आधे से कुछ ज्यादा है,
पूरे से कुछ कम…
कुछ जिंदगी… कुछ गम,
कुछ इश्क… कुछ हम…

***

वो कहता है की बता तेरा दर्द कैसे समझू ..
मैंने कहा की इश्क़ कर और कर के हार जा …!!

***

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग,

दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग..

***

इश्क ने कब इजाजत ली है आशिक़ों से

वो होता है, और होकर ही रहता है……

***

सच्चे इश्क में अल्फाज़ से ज्यादा..!
एहसास की एहमियत होती है…!।

*** Ishk Hindi Shayari

चाहने की वजह कुछ भी नहीं ,
बस इश्क
की फितरत है, बे- वजह होना… . !!

***

रहना यूं तेरे खयालों मे.. ये मेरी आदत है,
कोई कहता इश्क … कोई कहता इबादत है-

*** Ishk Hindi Shayari

इन आँखो में कैद थे गुनाह ए इश्क कि सजा के बेहिसाब आंसु….
तेरी यादों ने आकर उनकी जमानत कर दी….

***

जरुरी तो नहीं, हर चाहत का मतलब इश्क हो,

कभी कभी कुछ अनजान रिश्तों के लिए भी…

दिल बेचैन हो जाता है…!!!!

***

कत्ल किया था जिसने मेरी मासूम मुहब्बत का
वो बा-इज़्ज़त बरी है
और हम इश्क़ करके सारे शहर के गुनहगार हो गये

***

इश्क़ तो साहब यूं ही मुफ़्त में
बदनाम है
हुस्न खुद बे-ताब रहता है जलवा
दिखाने के लिए l

***

गलत सुना था कि,इश्क़ आँखों से होता हे
दिल तो वो भी ले जाते है,जो पलके तक नही उठाते हे

***

इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में होते होंगे,

पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूटते हैं….!!!!

*** Ishk Hindi Shayari

इश्क!!
तेरा वकील बनके बुरा किया मैंने
.
यहां हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा है

***

तेरे ख़त में इश्क की गवाही आज भी है,
हर्फ़ धुंधले हो गए पर स्याही आज भी है।।

***

तू यकीन करें या ना करें….तेरे साथ से मैं सवर गई….
तेरे इश्क के जूनून मे……मैं सारी हदों से गुजर गई.

***

किसी को इश्क़ की अच्छाई ने मार डाला,
किसी को इश्क़ की गहराई ने मार डाला,
करके इश्क़ कोई ना बच सका,
जो बच गया उससे तन्हाई ने मार डाला.

*** Ishk Hindi Shayari

बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को

इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता..!!

***

दुनिया में तेरे इश्क़ का चर्चा ना करेंगे,

मर जायेंगे लेकिन तुझे रुस्वा ना करेंगे,

गुस्ताख़ निगाहों से अगर तुमको गिला है,

हम दूर से भी अब तुम्हें देखा ना करेंगे।

***

झुका ली उन्होंने नज़रे जब मेरा नाम आया
इश्क़ मेरा नाकाम ही सही पर कही तो काम आया

*** Ishk Hindi Shayari

तुम हक़ीक़त-ए-इश्क़ हों या फ़रेब मेरी आँखों का,
न दिल से निकलते हो न मेरी ज़िन्दगी में आते हो…

***

मोहब्बत‬ नही थी तो एक बार समझाया‬ तो होता…
बेचारा‬ दिल तुम्हारी ‪#‎ख़ामोशी‬ को ‪इश्क़‬ समझ बैठा..!!

***

कितनी मासुम है दिल की
ख्वाहिश…….
इश्क भी करना चाहता है और
खुश भी रहना चाहता है…..!

***

तेरी बातों में जिक्र मेरा….मेरी बातों में जिक्र तेरा….अजब सा ये इश्क हैं….ना तु मेरी ना मैं तेरा ♡♡

***

वो कहते है भूल जाओ पुरानी बातों को…..
कोई उसे समझाये कि इश्क़ कभी पुराना नहीं होता..||||

***

खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज
बाकी हैं,,
.
.
एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है,,
.

***

इश्क़ पाने की तमन्ना में कभी कभी ज़िंदगी…
….
खिलौना बन जाती है…
….

जिसे दिल में बसाना चाहते हैं वो सूरत
….

सिर्फ याद बन जाती है…..!!

***

ना आह सुनाई दी ना तड़प दिखाई दी….!!
बर्बाद हो गए तेरे इश्क में हम बड़ी खामोशी के साथ….!!

***

दिल इश्क से
बंधा हुआ एक
जिद्दी परिंदा है !
उम्मीदों से ही घायल है
उम्मीदों पर ही जिंदा !!

***

हुस्न की मल्लिका हो या साँवली सी सूरत…!!
इश्क अगर रूह से हो तो हर चेहरा कमाल लगता है…!!

*** Ishk Hindi Shayari

इश्क का समंदर भी क्या समंदर है, जो डूब गया वो आशिक जो बच गया वो दीवाना

***


Hinglish

shk par hindi shayari

ishk par hindee shaayaree ka sabase achchha sangrah yahaan upalabdh hai, aap is ishk hindee shaayaree ko apane hindee vaahatsepp stetas ke roop mein upayog kar sakaten hai ya aap is behatareen hindee shaayaree ko apane doston ko phesabuk par bhee bhej sakaten hain. ishk laphz par hindee ke yah sher, aapake pyaar aur bhaavanaon ko vyakt karane mein aapakee madad kar sakaten hain. sabhee hindee shaayaree kee list yahaan hain. hindi shayariishk hindi shayari************************************

farishte hee honge jinaka hua ishk mukammal, insaanon ko to hamane sirph barbaad hote dekha hai…***”

main bhee hua karata tha vakeel ishk vaalon ka kabhee….nazaren us se kya mileen aaj khud kataghare mein hoon….”***

ishk hai vahee jo ho ek tarapha;ijahaar hai ishk to khvaeesh ban jaatee hai;hai agar ishk to aankhon mein dikhao;jubaan kholane se ye numaish ban jaatee hai.***

mere ishq se milee hai ,,tere husn ko ye shauharat ,tera zikr hee kahaan thaameree deevaanagee se pahale ,,***

kuchh to sharaaphat seekh le, ai ishq sharaab se………..!!botal pe likha to hota hai, main jaanaleva hoon………….!!***

barason se kaayam hai ishq apane usoolon par,ye kal bhee takaleeph deta tha ye aaj bhee takaleeph deta hai.***

band kar die hain hamane to daravaaje ishk kepar kamabakht teree yaaden to daraaron se hee chalee aaee..***

ishk kee gaharaeeyon mein.. khoobasoorat kya hai..!!ek main hoon, ek tum ho aur zarurat kya hai..!!***

khatam ho gaee kahaanee, bas kuchh alaphaaj baakee hain;ek adhoore ishk kee ek mukammal see yaad baakee hai.***

ishk hindi shayariishq ne hame benaam kar diya,har khushee se hame anjaan kar diya,hamane to kabhee nahee chaaha kee hamebhee mohabbat ho,lekin tumhaaree ek nazar nehame neelaam kar diya…***

ishk mein, main khud ko bekasoor kahatee thee pahalebhool jaatee hoon ki is dil kee bhee to sharaarat thee kuchh…….***

jaane kab utarega qarz usakee mohabbat ka . .har roj aansuon se ishk kee kist bharate hain

***ishq hai to shak kaisaagar nahin hai to phir hak kaisa..?***

nayanon se nain milaakar, mahobbat ka ijahaar karoonban kar os kee bunde., jindagee teree gulajaar karoonsanvar jaegee teree meree jindagee, ishk ke saphar menthaam le too haath mera, main tere har vaade pe aitabaar karoon***

ai ishk mujhe ab aur jakhm chaahiye…!!meree shaayaree me ab vo baat nahee rahee…!!**

*ishk soophee hai na muphtee hai na aaleem haiye jaaleem hai bahoot jaaleem hai phakat jaaleem hai***

ishk hindi shayariishk or dostee mere do jahaan hai,ishk meree ruh, to dostee mera eemaan hai,ishk par to phida karadu apanee puree jindagee,par dostee par, mera ishk bhee kurbaan hai**

*khoobasoorat main nahin ye tumhaara ishq hai…jo noor banakar meree aankhon se chhalakata hai….***

naadaaniyaan jhalakatee hain abhee bhee meree aadaton se..!!main khud hairaan hoon ke mujhe ishq hua kaise….!!!!***

pyaar ka pahala ishq ka doosara mohabbat ka teesara akshar adhoora hota haiisalie ham tumhe chaahate hai kyonki chaahat ka har akshar poora hota hai .?**

*hoshavaalon ko khabar kya…bekhudee kya cheez hai…ishk keejiye…phir samajhiye…zindagee kya cheez hai!**

*ishk kar leejie beinteha kitaabo se..ek yahee aisee cheez hai jo apanee baaton se palata nahee karatee.***

ishk hindi shayaripyaar tha , mohabbat thee , ishq tha , ada thee ,sab kuchh tha us haseen main !!*agar vafa hotee to kayaamat hotee ,,***

vo karate hain baat ishq kee,par ishq ke dard ka unhen ehasaas nahin,ishq vo chaand hai jo dikhata to hai sabako,par use paana sab ke bas kee baat nahee..***

ishk hindi shayariaadhe se kuchh jyaada hai,poore se kuchh kam…kuchh jindagee… kuchh gam,kuchh ishk… kuchh ham…***

vo kahata hai kee bata tera dard kaise samajhoo ..mainne kaha kee ishq kar aur kar ke haar ja …!!

ishk mein isalie bhee dhokha khaanen lagen hain log,dil kee jagah jism ko chaahanen lage hain log..**

*ishk ne kab ijaajat lee hai aashiqon sevo hota hai, aur hokar hee rahata hai……***sachche ishk mein alphaaz se jyaada..!ehasaas kee ehamiyat hotee hai…!.*

** ishk hindi shayarichaahane kee vajah kuchh bhee nahin ,bas ishkakee phitarat hai, be- vajah hona… . !!**

*rahana yoon tere khayaalon me.. ye meree aadat hai,koee kahata ishk … koee kahata ibaadat hai-***

ishk hindi shayariin aankho mein kaid the gunaah e ishk ki saja ke behisaab aansu….teree yaadon ne aakar unakee jamaanat kar dee….**

*jaruree to nahin, har chaahat ka matalab ishk ho,kabhee kabhee kuchh anajaan rishton ke lie bhee…dil bechain ho jaata hai…!!!!**

*katl kiya tha jisane meree maasoom muhabbat kaavo ba-izzat baree haiaur ham ishq karake saare shahar ke gunahagaar ho gaye*

**ishq to saahab yoon hee muft membadanaam haihusn khud be-taab rahata hai jalavaadikhaane ke lie l*

**galat suna tha ki,ishq aankhon se hota hedil to vo bhee le jaate hai,jo palake tak nahee uthaate he***

ishq ke charche bhale hee saaree duniya mein hote honge,par dil to khaamoshee se hee tootate hain….!!!!***

ishk hindi shayariai ishk!!tera vakeel banake bura kiya mainne.yahaan har shaayar tere khilaaph saboot lie baitha hai***

tere khat mein ishk kee gavaahee aaj bhee hai,harf dhundhale ho gae par syaahee aaj bhee hai..***

too yakeen karen ya na karen….tere saath se main savar gaee….tere ishk ke joonoon me……main saaree hadon se gujar gaee.***

kisee ko ishq kee achchhaee ne maar daala,kisee ko ishq kee gaharaee ne maar daala,karake ishq koee na bach saka,jo bach gaya usase tanhaee ne maar daala.***

ishk hindi shayaribarabaad kar detee hai mohabbat har mohabbat karane vaale koishq haar nahee maanata aur dil baat nahee maanata..!!**

*duniya mein tere ishq ka charcha na karenge,mar jaayenge lekin tujhe rusva na karenge,gustaakh nigaahon se agar tumako gila hai,ham door se bhee ab tumhen dekha na karenge.*

**jhuka lee unhonne nazare jab mera naam aaya ‪ishq mera naakaam hee sahee par kahee to kaam aaya***

ishk hindi shayaritum haqeeqat-e-ishq hon ya fareb meree aankhon ka,na dil se nikalate ho na meree zindagee mein aate ho…**

*mohabbat‬ nahee thee to ek baar samajhaaya‬ to hota…bechaara‬ dil tumhaaree ‪#‎khaamoshee‬ ko ‪ishq‬ samajh baitha..!!***

kitanee maasum hai dil keekhvaahish…….ishk bhee karana chaahata hai aurakhush bhee rahana chaahata hai…..!***

teree baaton mein jikr mera….meree baaton mein jikr tera….ajab sa ye ishk hain….na tu meree na main tera ♡♡***

vo kahate hai bhool jao puraanee baaton ko…..koee use samajhaaye ki ishq kabhee puraana nahin hota..||||***

khatam ho gaee kahaanee, bas kuchh alaphaajabaakee hain,,..ek adhoore ishk kee ek mukammal see yaad baakee hai,,.***

ishq paane kee tamanna mein kabhee kabhee zindagee…….khilauna ban jaatee hai…….jise dil mein basaana chaahate hain vo soorat….sirph yaad ban jaatee hai…..!!**

*na aah sunaee dee na tadap dikhaee dee….!!barbaad ho gae tere ishk mein ham badee khaamoshee ke saath….!!***

dil ishk sebandha hua ekajiddee parinda hai !ummeedon se hee ghaayal haiummeedon par hee jinda !!***

husn kee mallika ho ya saanvalee see soorat…!!ishk agar rooh se ho to har chehara kamaal lagata hai…!!***

ishk hindi shayariishk ka samandar bhee kya samandar hai, jo doob gaya vo aashik jo bach gaya vo deevaana***

 

 

 

4 thoughts on “Ishk Hindi Shayari इश्क हिंदी शायरी”

  1. ये इश्क है यूँ ना दिल से उछल
    साकी से अपने जुडता जा
    ये राह है उसकी राह गुजर
    न राह से अपनी उडता जा…..यश♡

  2. Pingback: Attitude Hindi Shayari हिंदी में शायरी - Love Fine

Leave a Reply