Judai Hindi Shayari जुदाई हिंदी शायरी

judai hindi shayari
Judai Hindi Shayari जुदाई हिंदी शायरी

Judai Hindi Shayari

Here you can get the best collection of Judai Sad Shayari, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Judai Hindi Shayari to your facebook friends.

You can send them as text SMS based on Judai Shayari SMS for someone. These Hindi sher on Judai is excellent in expressing your emotions and love.
For other subject list of all Hindi Shayari is here. Hindi Shayari

जुदाई हिंदी शायरी

जुदाई पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस जुदाई हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। जुदाई के गम पर हिंदी के यह शेर, आपके प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं।
सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

*****

Loading...

गज़ल में गीत में दोहे में और रुबाई में,

कहां कहां नही ढूंढा तुझे जुदाई में ।।

***

क़हर है तेरी जुदाई

पर अपना दिल भी अब पत्थर हो चला है..

***

ना मेरी नीयत बुरी थी, ना उसमे कोई बुराई थी

सब मुक़द्दर का खेल था बस किस्मत में जुदाई थी

***

मिलन मुमकिन ही नहीं है तो ना कर जुदाई का ग़म.. ज़िंदगी जी ले ‘यार’.. दूर से ही सही, दोस्ती का ये बंधन यादों से ही निभा लेंगे ‘तुम हम’

*** Judai Hindi Shayari

उसको चाहा पर इज़हार करना नहीं आया;

कट गई उम्र हमें प्यार करना नहीं आया;

उसने कुछ माँगा भी तो मांगी जुदाई;

और हमें इंकार करना नहीं आया।

***

जिंदगी में मोहब्बत की जुदाई होती है

कभी कभी प्यार में बेवफाई होती है

हमारी तरफ हाथ बढ़ा के तो देखो

दोस्ती में कितनी सच्चाई होती है

***

काश यह जालिम जुदाई न होती!

ऐ खुदा तूने यह चीज़ बनायीं न होती!

न हम उनसे मिलते न प्यार होता!

ज़िन्दगी जो अपनी थी वो परायी न होती..!

***

मोहब्बत रब से हो तो सुकून देती हैं ..

न खतरा हो जुदाई का न डर हो बेवफाई का

***

दिल लेकर मेरा अब जान मांगते है।

कैसा संगदिल है सनम मेरा, प्यार सीखा कर वो जुदाई मांगते है।

***

जुदाई हल नही है मसलों का..

तुम समझते क्यूँ नही बात मेरी..

***

किस्मत पर एतबार किसको है

मिल जाये खुशी का इंकार किसको है कुछ मजबूरियां है

मेरे दोस्त वरना जुदाई से प्यार किसको है |

*** Judai Hindi Shayari

लाएँगे कहाँ से हम, जुदाई का हौसला ,

क्यों इस क़दर मेरे करीब आ रहें हैं आप …

***

तेरी चाहत में , तेरी मुहब्बत में ,तेरी जुदाई में …

कोई रोज़ टूटता है पर आवाज नहीं करता…!

***

हर मुलाकात पर वक्तका तकाज़ा हुआ

हर याद पे दिल का दर्द ताजा हुआ

सुनी थी सिर्फ हमने गज़लों मे जुदाई की बातें

अब खुद पे बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ

***

उन्हें अपनी मोहब्बत पे हे गुरुर तो हमे भी तो अपनी मोहब्बत पे हे नाज

जुदाई में भी कभी बदलेगा नही हमारी चाहत का अंदाज

***

अब अगर मेल नही है तो जुदाई भी नही,

बात तोड़ी भी नही तुमने बनाई भी नही

***

इक तेरी जुदाई के दर्द की बात और है

जिन को न सह सके ये दिल,ऐसे तो गम नहीं मिले

*** Judai Hindi Shayari

“अंगड़ाई पे अँगड़ाई लेती है रात जुदाई की..

तुम क्या जानो,तुम क्या समझो. बात मेरी तन्हाई की”

***

कोई वादा नहीं फिर भी तेरा इंतज़ार है,

जुदाई के बाद भी तुम से प्यार है!

***

ज़िंदगी मे किसी से जुदाई का ज़िक्र मत करना…

इस दोस्त से कभी रुसवाई मत करना……

***

.हर मुलाकात का .. अंजाम , जुदाई .. क्यों है –

अब तो हर वक्त .. यही बात , सताती है .. हमें

***

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है
एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है
पहले नही सोचा था अब सोचने लगे है
हम जिंदगी के हर लम्हों में तेरी ज़रूरत सी  लगती है

*** Judai Hindi Shayari

हम आशिक जुदाई के गिरने भी नहीँ देते

बेचैन सी पलकोँ पर मोती से पीरोते हैँ

***

तेरी तस्वीर को सीने से लगा लेती हूँ..

इस तरह जुदाई का गम मटा लेती हूँ..!

***

दोस्तो की जुदाई का गम ना करना,
दुर रहो तो भी दोस्ती कम ना करना,
अगर मिले जिँन्दगी के किसी मोड पर हम,
तो हमे देख कर अपनी आँखे बन्द ना करना।

***

तू क्या जाने क्या है तन्हाई„

इस टूटे दिल से पूछ क्या है जुदाई

बेवफाई का इल्ज़ाम न दे ज़ालिम„

इस वक़्त से पूछ किस वक़्त तेरी याद ना आई…!!!

***

जिंदगी के रूप में दो घूंट मिले, इक तेरे इश्क का पी चुके हैं..दुसरा तेरी जुदाई का पी रहे हैं…।।

***

प्यार करना हमें भी पसंद है पर जुदाई पसंद नहीं।

जुदाई तो सह भी लेता पर बेवफाई पसंद नहीं।

***

जुदाई की ये गर्म रातें अब हमें नहीं सुहाती

कभी यूं भी हो कि सर्द रात हो और हम फिर करीब हो!

***

हम ने माँगा था साथ उनका,वो जुदाई का गम दे गए,

हम यादो के सहारे जी लेते,वो भुल जाने की कसम दे गए!

*** Judai Hindi Shayari

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम

तू मुझ से ख़फ़ा है, तो ज़माने के लिए आ..

***

मुस्कुराने की आदत भी कितनी महँगी पड़ी हमे;

छोड़ गया वो ये सोच कर की हम जुदाई मे भी खुश हैं ….

***

मुझसे अलविदा कहते हुए, मैंने जब उससे पूछा , के कोई निशानी दे दो…!! • • वो मुस्कुराते हुए बोली …, जुदाई ही काफी है … !!

***

तेरा तो है हिसाब बरसों का मैं तो लम्हों में रोज़ जीता हूँ

हिज्र में है ये ज़िन्दगी गुज़री ग़म जुदाई का रोज़ पीता.

***

तेरी जुदाई का शिकवा करूँ भी तो किससे करूँ।

यहाँ तो हर कोई अब भी मुझे तेरा समझता हैं।

***

कितनी सुधर गई है जुदाई में जिंदगी

वो बेवफाई करके मुझ पर अहसान कर गया..!!

***

जिंदगी मोहताज नहीं मंज़िलों की वक्त हर मंजिल दिखा देता है;
मरता नहीं कोई किसी की जुदाई में वक्त सबको जीना सिखा देता है।

***

तेरे ना होने से जिंदगी में बस इतनी सी कमी रहती है , •

मैं चाहे लाख मुस्कुराऊ इन आँखों में नमी ही रहती हैं..!

***

ये माना की कोई मरता नहीं जुदाई में…
लेकिन जी भी तो नहीं पाता तन्हाई में…

***

हर कदम पे आपका एहसास चाहिए,
मुझे आपका साथ अपने पास चाहिए,
रब भी रो पड़े हमारी जुदाई से,
ऐसा एक रिश्ता ख़ास चाहिए

***

जुदा होकर भी जी रहे हैं एक मुद्दत से ,

कभी दोनों ही कहते थे जुदाई मार डालेगी !!!

***

बिछडते बिछडते पलट कर उसने सौ बार देखा,

जुदाई की सारी रस्में निभाती गई वो।।

***

युँ तो दुनियाँ का हर गम सहा हँसते हँसते,

न जाने क्यों तेरी जुदाई बर्दास्त नहीं होती।

*** Judai Hindi Shayari

लम्हे जुदाई को बेकरार करते हैं,
हालत मेरे मुझे लाचार करते हैं,
आँखे मेरी पढ़ लो कभी,
हम खुद कैसे कहे की आपसे प्यार करते हैं.

***

अकेला सा महसूस करो जब तन्हाई में
याद हमारी जब आये तुम्हें जुदाई मे
महसूस करना तुम्हारे ही पास हू मैं
जब चाहे देख लेना मुझे अपनी परछाई में।

***


Hinglish

judayi hindi shayari

judaee par hindee shaayaree ka sabase achchha sangrah yahaan upalabdh hai, aap is judaee hindee shaayaree ko apane hindee vaahatsepp stetas ke roop mein upayog kar sakaten hai ya aap is behatareen hindee shaayaree ko apane doston ko phesabuk par bhee bhej sakaten hain. judaee ke gam par hindee ke yah sher, aapake pyaar aur bhaavanaon ko vyakt karane mein aapakee madad kar sakaten hain.sabhee hindee shaayaree kee list yahaan hain. hindi shayari*****

gazal mein geet mein dohe mein aur rubaee mein,kahaan kahaan nahee dhoondha tujhe judaee mein ..***

qahar hai teree judaee…par apana dil bhee ab patthar ho chala hai..***

na meree neeyat buree thee, na usame koee buraee theesab muqaddar ka khel tha bas kismat mein judaee thee***

milan mumakin hee nahin hai to na kar judaee ka gam.. zindagee jee le yaar.. door se hee sahee, dostee ka ye bandhan yaadon se hee nibha lenge tum ham***

judai hindi shayariusako chaaha par izahaar karana nahin aaya;kat gaee umr hamen pyaar karana nahin aaya;usane kuchh maanga bhee to maangee judaee;aur hamen inkaar karana nahin aaya.***

jindagee mein mohabbat kee judaee hotee haikabhee kabhee pyaar mein bevaphaee hotee haihamaaree taraph haath badha ke to dekhodostee mein kitanee sachchaee hotee hai***

kaash yah jaalim judaee na hotee!ai khuda toone yah cheez banaayeen na hotee!na ham unase milate na pyaar hota!zindagee jo apanee thee vo paraayee na hotee..!**

*mohabbat rab se ho to sukoon detee hain ..na khatara ho judaee ka na dar ho bevaphaee ka***

dil lekar mera ab jaan maangate hai.kaisa sangadil hai sanam mera, pyaar seekha kar vo judaee maangate hai.**

*judaee hal nahee hai masalon ka..tum samajhate kyoon nahee baat meree..**

*kismat par etabaar kisako haimil jaaye khushee ka inkaar kisako hai kuchh majabooriyaan haimere dost varana judaee se pyaar kisako hai |***

judai hindi shayarilaenge kahaan se ham, judaee ka hausala ,kyon is qadar mere kareeb aa rahen hain aap …**

*teree chaahat mein , teree muhabbat mein ,teree judaee mein …koee roz tootata hai par aavaaj nahin karata…!***

har mulaakaat par vaktaka takaaza huaahar yaad pe dil ka dard taaja huaasunee thee sirph hamane gazalon me judaee kee baatenab khud pe beetee to hakeekat ka andaaja hua***

unhen apanee mohabbat pe he gurur to hame bhee to apanee mohabbat pe he naajajudaee mein bhee kabhee badalega nahee hamaaree chaahat ka andaaj**

*ab agar mel nahee hai to judaee bhee nahee,baat todee bhee nahee tumane banaee bhee nahee**

*ik teree judaee ke dard kee baat aur haijin ko na sah sake ye dil,aise to gam nahin mile**

* judai hindi shayari”angadaee pe angadaee letee hai raat judaee kee..tum kya jaano,tum kya samajho. baat meree tanhaee kee”**

*koee vaada nahin phir bhee tera intazaar hai,judaee ke baad bhee tum se pyaar hai!**

*zindagee me kisee se judaee ka zikr mat karana…is dost se kabhee rusavaee mat karana……***

.har mulaakaat ka .. anjaam , judaee .. kyon hai -ab to har vakt .. yahee baat , sataatee hai .. hamen***

teree har ada mohabbat see lagatee haiek pal kee judaee muddat see lagatee haipahale nahee socha tha ab sochane lage haiham jindagee ke har lamhon mein teree zaroorat see lagatee hai***

judai hindi shayariham aashik judaee ke girane bhee naheen detebechain see palakon par motee se peerote hain**

*teree tasveer ko seene se laga letee hoon..is tarah judaee ka gam mata letee hoon..!**

*dosto kee judaee ka gam na karana,dur raho to bhee dostee kam na karana,agar mile jinndagee ke kisee mod par ham,to hame dekh kar apanee aankhe band na karana.**

*too kya jaane kya hai tanhaee„is toote dil se poochh kya hai judaee…bevaphaee ka ilzaam na de zaalim„is vaqt se poochh kis vaqt teree yaad na aaee…!!!*

**jindagee ke roop mein do ghoont mile, ik tere ishk ka pee chuke hain..dusara teree judaee ka pee rahe hain…..***

pyaar karana hamen bhee pasand hai par judaee pasand nahin.judaee to sah bhee leta par bevaphaee pasand nahin.*

**judaee kee ye garm raaten ab hamen nahin suhaateekabhee yoon bhee ho ki sard raat ho aur ham phir kareeb ho!**

*ham ne maanga tha saath unaka,vo judaee ka gam de gae,ham yaado ke sahaare jee lete,vo bhul jaane kee kasam de gae!**

* judai hindi shayarikis kis ko bataenge judaee ka sabab hamatoo mujh se khafa hai, to zamaane ke lie aa..***

muskuraane kee aadat bhee kitanee mahangee padee hame;chhod gaya vo ye soch kar kee ham judaee me bhee khush hain ….***

mujhase alavida kahate hue, mainne jab usase poochha , ke koee nishaanee de do…!! • • vo muskuraate hue bolee …, judaee hee kaaphee hai … !!***

tera to hai hisaab barason ka main to lamhon mein roz jeeta hoonhijr mein hai ye zindagee guzaree gam judaee ka roz peeta.***

teree judaee ka shikava karoon bhee to kisase karoon.yahaan to har koee ab bhee mujhe tera samajhata hain.***

kitanee sudhar gaee hai judaee mein jindageevo bevaphaee karake mujh par ahasaan kar gaya..!!***

jindagee mohataaj nahin manzilon kee vakt har manjil dikha deta hai;marata nahin koee kisee kee judaee mein vakt sabako jeena sikha deta hai.***

tere na hone se jindagee mein bas itanee see kamee rahatee hai , •main chaahe laakh muskuraoo in aankhon mein namee hee rahatee hain..!***

ye maana kee koee marata nahin judaee mein…lekin jee bhee to nahin paata tanhaee mein…***

har kadam pe aapaka ehasaas chaahie,mujhe aapaka saath apane paas chaahie,rab bhee ro pade hamaaree judaee se,aisa ek rishta khaas chaahie***

juda hokar bhee jee rahe hain ek muddat se ,kabhee donon hee kahate the judaee maar daalegee !!!***bichhadate bichhadate palat kar usane sau baar dekha,judaee kee saaree rasmen nibhaatee gaee vo..***

yun to duniyaan ka har gam saha hansate hansate,na jaane kyon teree judaee bardaast nahin hotee.***

judai hindi shayarilamhe judaee ko bekaraar karate hain,haalat mere mujhe laachaar karate hain,aankhe meree padh lo kabhee,ham khud kaise kahe kee aapase pyaar karate hain.***

akela sa mahasoos karo jab tanhaee menyaad hamaaree jab aaye tumhen judaee memahasoos karana tumhaare hee paas hoo mainjab chaahe dekh lena mujhe apanee parachhaee mein।***

 

1 thought on “Judai Hindi Shayari जुदाई हिंदी शायरी”

Leave a Reply