Khwab Shayari in Hindi ख़्वाब पर हिंदी शायरी

Khwab Shayari in Hindi  ख़्वाब पर हिंदी शायरी

Khwab Shayari in Hindi ख़्वाब पर हिंदी शायरी

Khwab Shayari in Hindi

ख़्वाब पर हिंदी शायरी

 

दोस्तों जैसा आप जानते हैं हम इस वेबसैट पर किसी एक अच्छे विषय पर शेर ओ शायरी प्रस्तुत करते रहते हैं, आज आपके लिए पेश है ख्वाबों पर कुछ बेहतरीन हिंदी शायरी

Hindi Shayari on Dreams (Khwab)

*******************************************

एक ही ख़्वाब ने सारी रात जगाया है

मैं ने हर करवट सोने की कोशिश की ~Gulzar

***

दिल मे घर करके बैठे है ये जो ज़िद्दी से ख़्वाब।

कागज पे उतार मै वो सारे मेहमान ले आऊँ।।

***

तू मेरा ख़्वाब न बन..तू अस्ल बन..

तू धुंध न बन..उजली धूप सा बन..!

***

न नींद, आयी न ख़्वाब आये…

जवाबो में भी कुछ सवाल आये.

***

ख़्वाब-ओ-उम्मीद का हक़, आह का फ़रियाद का हक़,

तुझ पे वार आए हैं ये तेरे दिवाने क्या क्या !!

***

ख़्वाब आँखों से गए,नींद रातों से गई

वो गया तो ऐसे लगा,ज़िंदगी हाँथो से गई

***

बुला रही हैं हमें तल्ख़ियाँ हक़ीक़त की

ख़याल-ओ-ख़्वाब की दुनिया से अब निकलते हैं

*** Khwab Shayari in Hindi

अगर ख़ुदा न करे सच ये ख़्वाब हो जाए

तेरी सहर हो मेरा आफ़ताब हो जाए ~दुष्यंत कुमार

***

खुली फ़िज़ाओं के आदी हैं ख़्वाब के पंछी

उन्हें क़फ़स में कहाँ आप पालने निकले

***

दुनिया है ख़्वाब,हासिल-ए-दुनिया ख़याल है,

इंसान “ख़्वाब” देख रहा है ख़याल में

***

नींद में खुलते हुए “ख़्वाब” की उर्यानी पर,

मैं ने बोसा दिया महताब की पेशानी पर

***

गई रात भी उस “ख़्वाब” को ढूँढने में ज़ाया हुई

कुछ “ख़्वाब” खो गए हैं आँखों के बियाबाँ में

***

रोज़ वो ख़्वाब में आते हैं गले मिलने को,

मैं जो सोता हूँ तो जाग उठती है क़िस्मत मेरी !! – जलील मानिकपुरी

*** Khwab Shayari in Hindi

जिस क़दर चाहिए बिठलाइए पहरे दर पर,

बंद रहने के नहीं ख़्वाब में आने वाले !!

***

किस अजब साअत-ए-नायाब में आया हुआ हूँ,

तुझ से मिलने मैं तिरे ख़्वाब में आया हुआ हूँ !!

***

वो जो मुमकिन न हो मुमकिन ये बना देता है,

ख़्वाब दरिया के किनारों को मिला देता है!!

***

इक ख़्वाब का ख़याल है दुनिया कहें जिसे है

इसमें इक तिलिस्म तमन्ना कहें जिसे

***

“ख़्वाब” बुनते – बुनते एक उम्र हो चली ,

अब उन ख्वाबो को सिरहाने रख सोने को जी चाहता है

*** Khwab Shayari in Hindi

ख़ुदा नहीं न सही आदमी का ख़्वाब सही

कोई हसीन नज़ारा तो है नज़र के लिये

***

कहानियाँ हीं सही सब मुबालग़े ही सही

अगर वो ख़्वाब है ताबीर कर के देखते हैं

***

मेरे बाज़ुओं में थकी-थकी,अभी महव-ए-ख़्वाब है चांदनी

न उठे सितारों की पालकी,अभी आहटों का गुज़र न हो

***

तुम्हारे ख़्वाब से हर शब लिपट के सोते हैं,

सज़ाएँ भेज दो हम ने ख़ताएँ भेजी हैं !! –गुलज़ार

*** Khwab Shayari in Hindi

उठो ये मंज़र-ए-शब-ताब देखने के लिए,

कि नींद शर्त नहीं ख़्वाब देखने के लिए !! -इरफ़ान सिद्दीक़ी

***

ख़्वाब बुनिये, ख़ूब बुनीये, मगर इतना सोचिये इसमें है

ताना ही ताना, या बाना भी है ~ असर लखनवी

ख़्वाब ही में देख ले ताबीर-ए-ख़्वाब,

कौन ऐसा पेश-बीं^ है इश्क़ है !!

*** Khwab Shayari in Hindi

मुझे मौत से डरा मत, कई बार मर चुका हूँ

किसी मौत से नहीं कम कोई ख़्वाब टूट जाना

***

है शहर-ए-ख़्वाब का हर शख़्स साहिबे गुफ़तार,

है तुम में भी ये हुनर तो हमारे साथ चलो

***

ज़ख्म क्या उभरे हमारे दिल में उनके तीर के

गुल खिले गोया कि ख़्वाब-ए-इश्क़ की ताबीर के!

***

क्या क़यामत है कि आरिज़ उनके नीले पड़ गए,

हमने तो बोसा लिया था ख़्वाब में तस्वीर का !!

*** Khwab Shayari in Hindi

रातों को जागते हैं इसी वास्ते कि ख़्वाब,

देखेगा बन्द आँखें तो फिर लौट जायेगा !!

***

कल तो आएगा मगर आज न आएगा कभी,

ख़्वाब-ए-ग़फ़लत में जो हैं उन को जगाते चलिए!!

***

उस तश्ना-लब की नींद न टूटे दुआ करो,

जिस तश्ना-लब को ख़्वाब में दरिया दिखाई दे!!

***

मैं खुद ही ख़्वाब-ए-इश्क़ की ताबीर हो गया,

गोया हर इक बशर तेरी तस्वीर हो गया !!

*** Khwab Shayari in Hindi

सुपुर्द कौन से क़ातिल को ख़्वाब करना है,

फिर एक बार हमें इन्तख़ाब करना है !!

***

वो जो मुमकिन न हो मुमकिन ये बना देता है,

ख़्वाब दरिया के किनारों को मिला देता है !! -तैमूर हसन

***

इक मुअम्मा है समझने का न समझाने का,

ज़िंदगी काहे को है ख़्वाब है दीवाने का !!

***

इस बज़्म में इक जश्न-ए-चराग़ाँ है उन्ही से,

कुछ ख़्वाब जो पलकों पे उजाले हुए हम हैं

***

उठो ये मंज़र-ए-शब-ताब देखने के लिए

नींद शर्त नहीं ख़्वाब देखने के लिए -इरफ़ान सिद्दीक़ी

*** Khwab Shayari in Hindi

मरीज़-ए-ख़्वाब को तो अब शिफ़ा है,

मगर दुनिया बड़ी कड़वी दवा थी !!

***

रोज़ आ जाते हो तुम, नींद की मुंडेरों पर,

बादलों मे छुपे एक ख़्वाब का मुखड़ा बन कर

***

दामन-ए-ख़्वाब कहाँ तक फैले रेग की मौज कहाँ तक जाए !

हर तरफ़ बिखरे हैं रंगीं साए, राह-रौ कोई न ठोकर खाए !!

*** Khwab Shayari in Hindi

आशिक़ी में ‘मीर’ जैसे ख़्वाब मत देखा करो,

बावले हो जाओगे महताब मत देखा करो !!

***

है शहर-ए-ख़्वाब का हर शख़्स साहिबे गुफ़्तार है

तुम में भी ये हुनर तो हमारे साथ चलो

***

दुनिया है ख़्वाब, हासिल-ए-दुनिया

ख़याल है इंसान ख़्वाब देख रहा है ख़याल में ….

***

मेरे ख़याल-सा है, मेरे ख़्वाब जैसा है

तुम्हारा हुस्न महकते गुलाब जैसा है.!!.

***

चले ही जाते हैं इक और ख़्वाब के पीछे,

सराब बनके यक़ीं को गुमान खींचता है !!

***

ख़्वाब किस्सा ख्याल अफसाना हाए उर्दू जबान की दिल्ली

कुछ यकीं कुछ गुमाँ की दिल्ली अनगिनत इम्तेहां की दिल्ली

*** Khwab Shayari in Hindi

चिराग़ अपनी थकन की कोई सफ़ाई न दे

वो तीरगी है के अब ख़्वाब तक दिखाई न दे

***

रखा घर में क्या है के तरतीब दूँ जिसे

कुछ ख़्वाब हैं इधर से उधर कर रहा हूँ मैं.!!

***

दिखाई जाने क्या दिया है जुगनुओं को

ख़्वाब में खुली है जबसे आँख आफताब माँगने लगे

***

ये ज़िन्दगी सवाल थी जवाब माँगने लगे

फरिश्ते आ के ख़्वाब मेँ हिसाब माँगने लगे

*** Khwab Shayari in Hindi

हसरतें जितनी भी थीं सब आह बनके उड़ गईं

ख़्वाब जितने भी थे सब अश्के-रवाँ मे खो गए

***

जागती आँखों को मेरी बारहा धोखा हुआ

ख़्वाब और ताबीर अक्सर एक जैसे हो गए

***

न मिल पाई ताबीर लेकिन ये दिल

हँसी ख़्वाब से हि बहलता रहा.!!

***

वो अक़्सर तोलता है ख़्वाब और सिक्के तराज़ू में

ख़ुशी पाने में इक सिक्का हमेशा कम निकलता है

***

न सिर्फ़ आब, इन आँखों में ख़्वाब रखता हूँ

मैं वो बादल हूँ, जो सीने में आग़ रखता हूँ.!!

***

जिनकी पलकों पे तेरे ख़्वाब हुआ करते हैं

ज़िंदगी में वही बेताब हुआ करते हैं.!!

*** Khwab Shayari in Hindi

तेरी आँखों में कई ख़्वाब छोड़ आए हैं

हर इक सवाल का जवाब छोड़ आए हैं.!!

***

बे-ख़्वाब सा’अतों का परस्तार कौन है

इतनी उदास रात में बे-दार कौन है..!!

*** Khwab Shayari in Hindi

खिड़की, चाँद, क़िताब और मैं, मुद्दत से एक बाब और मैं ।।

शब भर खेलें आपस में , दो आँखें इक ख़्वाब और मैं

 

 

Search Tags

Khwab Shayari, Khwab Hindi Shayari, Khwab Shayari, Khwab whatsapp status, Khwab hindi Status, Hindi Shayari on Khwab, Khwab whatsapp status in hindi,

ख़्वाब हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, ख़्वाब, ख़्वाब स्टेटस, ख़्वाब व्हाट्स अप स्टेटस, ख़्वाब पर शायरी, ख़्वाब शायरी, ख़्वाब पर शेर, ख़्वाब की शायरी,

Dream Shayari, Dream Hindi Shayari, Dream Shayari, Dream whatsapp status, Dream hindi Status, Hindi Shayari on Dream, Dream whatsapp status in hindi,

 

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *