Kismat Shayari in Hindi  क़िस्मत पर शायरी

Kismat Shayari in Hindi क़िस्मत पर शायरी

Kismat Shayari in Hindi  क़िस्मत पर शायरीi
Kismat Shayari in Hindi क़िस्मत पर शायरी

Kismat Shayari in Hindi

क़िस्मत पर शायरी

दोस्तों इस ब्लॉग पोस्ट में हम क़िस्मत पर शेर ओ शायरी पेश कर रहे हैं, इसी तरह आप मुकद्दर पर शायरी और तक़दीर पर शायरी भी इन लिनक्स पर क्लिक कर पढ़ सकते हैं.

सभी टॉपिक्स पर शायरी की लिस्ट यहाँ है.

 

********************************************************

Loading...

 

चरके वो दिए दिल को महरूमी-ए-क़िस्मत ने

अब हिज्र भी तन्हाई और वस्ल भी तन्हाई*

 

ना-मुरादी अपनी किस्मत गुमराही अपना नसीब,

कारवाँ की खैर हो हम कारवाँ तक आ गए।

~काबिल_अजमेरी*

 

दुआ की न पूछो की कितनी है कुदरत

उठा के हाथ देखो बदलती है किस्मत।*

 

अपनी क़िस्मत में लिखी थी धूप की नाराज़गी,

साया-ए-दीवार था लेकिन पस-ए-दीवार था !!*

 

रोज़ वो ख़्वाब में आते हैं गले मिलने को,

मैं जो सोता हूँ तो जाग उठती है क़िस्मत मेरी !! – जलील मानिकपुरी*

 

Kismat Shayari in Hindi*

 

ये न थी हमारी क़िस्मत कि विसाल-ए-यार होता

अगर और जीते रहते यही इंतज़ार होता

~ग़ालिब*

 

कहर हो, बला हो, जो कुछ हो,

काश ! तुम मेरे लिये होते !

मेरी किस्मत में गम गर इतना था,

दिल भी यारब कई दिये होते !!*

 

रिश्ते-नाते झूटे हैं सब स्वार्थ का झमेला है

जाने मेरी किस्मत ने कैसा खेल खेला है*

 

कल भी मन अकेला था,आज भी अकेला है

जाने मेरी किस्मत ने कैसा खेल खेला है*

 

मेरी किस्मत से खेलने वाले

मुझ को दुनिया से बेखबर कर दे*

 

Kismat Shayari in Hindi

तुझको मस्ज़िद है मुझको मयखाना,

वाइज़ अपनी अपनी किस्मत है।*

~मीर

 

ये दिन भी देखना लिक्खा था मेरी क़िस्मत में,

जो थे हबीब, हुए हैं रक़ीब-ए-जां लोगों*

 

थी सामने आलाइश-ए-दुनिया की भी इक राह,

वो ख़ूबी-ए-क़िस्मत से ज़रा छोड़ गए हम !!*

 

किसी राह पे मिल जाओ मुसाफ़िर बन के,

क्या पता अपनी किस्मत में हमसफ़र भी लिखा हो।*

 

बेवफ़ा लिखते हैं वो अपने क़लम से मुझ को,

ये वो क़िस्मत का लिखा है जो मिटा भी न सकूँ !!*

 

Kismat Shayari in Hindi

विसाल-ए-यार तो क़िस्मत की बात है बेशक,

ख़याल-ए-यार भी हम से बहुत ख़फ़ा निकला !!*

 

तेरी क़िस्मत ही में ज़ाहिद मय नहीं

शुक्र तो मजबूरियों का नाम है !!*

 

Kismat Shayari in Hindi*

 

हर तरफ़ छा गए पैग़ाम-ए-मोहब्बत बन कर

मुझ से अच्छी रही क़िस्मत मेरे अफ़्सानों की !!*

 

कुछ तेरी फ़ितरत में नहीं थी वफ़ादारी, कुछ मेरी किस्मत में बेवफ़ाई थी,

वक़्त को क्या दोष दूँ, वक़्त ने तो बस मुहोब्बत आजमाई थी।*

 

छत कहाँ थी नसीब में,फुटपाथ को ही जागीर समझे

छालों से कटी हथेली,हम किस्मत की लकीर समझे*

 

उम्मीद का लिबास तार तार ही सही पर सी लेना चाहिए,

कौन जाने कब किस्मत माँग ले इसको सर छुपाने के लिए*

 

Kismat Shayari in Hindi*

किसी कशमकश में रहा होगा खुदा भी,

जो उसने मुझे तो तेरी किस्मत में लिखा पर

तुझे मेरी किस्मत में नहीं लिखा।*

 

इसी में इश्क़ की क़िस्मत बदल भी सकती थी,

जो वक़्त बीत गया मुझ को आज़माने में*

 

हँस हँस के जवां दिल के हम क्यों न चुनें टुकडे,

हर शख्स की किस्मत में इनाम नहीं होता!! -~MeenaKumari*

 

मेरी किस्मत से खेलने वाले ~~

मुझको किस्मत से बेखबर करदे. ~faiz*

 

Kismat Shayari in Hindi

जो मिल गया उसे तक़दीर का लिखा कहिये

जो खो गया उसे क़िस्मत का फ़ैसला कहिये.!!*

 

लेके अपनी-अपनी किस्मत आए थे गुलशन में गुल

कुछ बहारों मे खिले और कुछ ख़िज़ाँ में खो गए*

 

साथ चलता है, दुवाओं का काफिला,

किस्मत से जरा कह दो, अभी तन्हा नही हूँ मैं.!!*

 

Kismat Shayari in Hindi

कभी सरकार पे, क़िस्मत पे, कभी दुनिया पे

दोष हर बात का औरों पे हि डाला मैंने.!!*

 

Search Tags

Kismat Shayari in Hindi, Kismat Hindi Shayari, Kismat Shayari, Kismat whatsapp status, Kismat hindi Status, Hindi Shayari on Kismat, Kismat whatsapp status in hindi,

Fate Shayari, Fate Hindi Shayari, Fate Shayari, Fate whatsapp status, Fate hindi Status, Hindi Shayari on Fate, Fate whatsapp status in hindi,

क़िस्मत हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, क़िस्मत, क़िस्मत स्टेटस, क़िस्मत व्हाट्स अप स्टेटस, क़िस्मत पर शायरी, क़िस्मत शायरी, क़िस्मत पर शेर, क़िस्मत की शायरी


Hinglish

Kismat Shayari in Hindi

क़िस्मत पर शायरी

kismat shayari in hindiqismat par shaayareedoston is blog post mein ham qismat par sher o shaayaree pesh kar rahe hain, isee tarah aap mukaddar par shaayaree aur taqadeer par shaayaree bhee in linaks par klik kar padh sakate hain.sabhee topiks par shaayaree kee list yahaan hai.********************************************************

charake vo die dil ko maharoomee-e-qismat neab hijr bhee tanhaee aur vasl bhee tanhaee*

na-muraadee apanee kismat gumaraahee apana naseeb,kaaravaan kee khair ho ham kaaravaan tak aa gae.~kaabil_ajameree*

dua kee na poochho kee kitanee hai kudaratutha ke haath dekho badalatee hai kismat.*

apanee qismat mein likhee thee dhoop kee naaraazagee,saaya-e-deevaar tha lekin pas-e-deevaar tha !!*

roz vo khvaab mein aate hain gale milane ko,main jo sota hoon to jaag uthatee hai qismat meree !! – jaleel maanikapuree*

kismat shayari in hindi*ye na thee hamaaree qismat ki visaal-e-yaar hotaagar aur jeete rahate yahee intazaar hota~gaalib*

kahar ho, bala ho, jo kuchh ho,kaash ! tum mere liye hote !meree kismat mein gam gar itana tha,dil bhee yaarab kaee diye hote !!*

rishte-naate jhoote hain sab svaarth ka jhamela haijaane meree kismat ne kaisa khel khela hai*

kal bhee man akela tha,aaj bhee akela haijaane meree kismat ne kaisa khel khela hai*

meree kismat se khelane vaalemujh ko duniya se bekhabar kar de*kismat shayari in hinditujhako maszid hai mujhako mayakhaana,vaiz apanee apanee kismat hai.*~

meeraye din bhee dekhana likkha tha meree qismat mein,jo the habeeb, hue hain raqeeb-e-jaan logon*

thee saamane aalaish-e-duniya kee bhee ik raah,vo khoobee-e-qismat se zara chhod gae ham !!*

kisee raah pe mil jao musaafir ban ke,kya pata apanee kismat mein hamasafar bhee likha ho.*

bevafa likhate hain vo apane qalam se mujh ko,ye vo qismat ka likha hai jo mita bhee na sakoon !!*

kismat shayari in hindivisaal-e-yaar to qismat kee baat hai beshak,khayaal-e-yaar bhee ham se bahut khafa nikala !!*

teree qismat hee mein zaahid may naheenshukr to majabooriyon ka naam hai !!*kismat shayari in hindi*

har taraf chha gae paigaam-e-mohabbat ban karamujh se achchhee rahee qismat mere afsaanon kee !!*

kuchh teree fitarat mein nahin thee vafaadaaree, kuchh meree kismat mein bevafaee thee,vaqt ko kya dosh doon, vaqt ne to bas muhobbat aajamaee thee.*

chhat kahaan thee naseeb mein,phutapaath ko hee jaageer samajhechhaalon se katee hathelee,ham kismat kee lakeer samajhe*

ummeed ka libaas taar taar hee sahee par see lena chaahie,kaun jaane kab kismat maang le isako sar chhupaane ke lie*

kismat shayari in hindi*kisee kashamakash mein raha hoga khuda bhee,jo usane mujhe to teree kismat mein likha paratujhe meree kismat mein nahin likha.*

isee mein ishq kee qismat badal bhee sakatee thee,jo vaqt beet gaya mujh ko aazamaane mein*hans hans ke javaan dil ke ham kyon na chunen tukade,har shakhs kee kismat mein inaam nahin hota!! -~

maiainakumari*

meree kismat se khelane vaale ~~mujhako kismat se bekhabar karade. ~faiz*

kismat shayari in hindijo mil gaya use taqadeer ka likha kahiyejo kho gaya use qismat ka faisala kahiye.!!*

leke apanee-apanee kismat aae the gulashan mein gulakuchh bahaaron me khile aur kuchh khizaan mein kho gae*

saath chalata hai, duvaon ka kaaphila,kismat se jara kah do, abhee tanha nahee hoon main.!!*

kismat shayari in hindikabhee sarakaar pe, qismat pe, kabhee duniya pedosh har baat ka auron pe hi daala mainne.!!*

 

Leave a Reply