Love Shayri – फैसला जो कुछ भी

Love Shayri – फैसला जो कुछ भी

Love Shayri – Faisla jo bhi ho

हिंदी शायरी
फैसला जो कुछ भी हो मंज़ूर होना चाहिए।
इश्क हो या जंग हो दिल खोल के होना चाहिए।

Love Shayri
Love Shayri

Leave a Reply