राजस्थान का राष्ट्रीय पक्षी उद्यान Keoladeo National Park

राजस्थान का राष्ट्रीय पक्षी उद्यान Keoladeo National Park

राजस्थान का नाम सुनते ही हमारे मन में रेगिस्तान  और ऊंटोंकी छवि उभरती है, वास्तव में राजस्थान में कई वन्य जीव अभ्यारण्य भी मौजूद है जहां जहां पर पानी की उपलब्धता है वहां पर छोटे जंगल पाए जाते हैं इन जिलों और जंगलों के आसपास कई प्रकार के पशु और पक्षी पाए जाते हैं, इसलिए भारत सरकार ने इन इलाकों को अभयारण्य और नेशनल पार्क बनाया है ताकि वन्य जीव जंतुओं और पक्षियों की सुरक्षा हो सके.

इन वन्य जीव अभ्यारण्य में राजस्थान का राष्ट्रीय पक्षी उद्यान  या Keoladeo National Park सबसे प्रसिद्ध है इसका पूरा नाम Keoladeo Ghana National Park  है पूर्व में से भरतपुर पक्षी उद्यान के नाम से जाना जाता था, अब इसका नाम बदलकर Keoladeo National Park रख दिया गया है, इस पक्षी उद्यान में हजारों प्रकार के पक्षी देखे जा सकते हैं खासतौर पर सर्दियों के मौसम में यहां कई प्रवासी पक्षी दूर दूर से उठकर आते हैं, 230 तरह के यहां वर्ष भर देखे जा सकते हैं यही इनका मूल आवास है,  विश्व भर से पक्षियों को प्रेम करने वाले बर्ड वाचर इस राष्ट्रीय पक्षी उद्यान में आते हैं क्योंकि उन्हें आसानी से हजारों प्रकार के पक्षी देखने को मिल जाते हैं, सन 1971 में राजस्थान के राष्ट्रीय पक्षी उद्यान को वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शामिल किया गया है

Keoladeo Ghana National Parkया राजस्थान का राष्ट्रीय पक्षी उद्यान मानव निर्मित अभयारण्य इसे इसकी देखरेख पूरी तरह मनुष्य के द्वारा ही की जाती है, यह अभयारण्य भरतपुर को बाहर से बचाता है तथा बाढ़ के पानी को इस अभयारण्य में छोड़ा जाता है जिससे कई घास के मैदान बन जाते हैं, इन घास के मैदानों में आस-पास के गांव के मवेशी भोजन प्राप्त करते हैं और पशुपालन का उपयोग

29 किलोमीटर वर्ग वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र सभी प्रकार के जीव जंतु और पक्षियों के लिए स्वर्ग के समान है यहां घास के मैदान वुडलैंड जंगल दलदली जंगल तथा नमी वाले जंगल पाए जाते हैं, इतने अलग अलग प्रकार के आवास होने की वजह से यहां 366 प्रकार के पक्षी निवास करते हैं 50 प्रकार की मछलियां यहां की झील और तालाब में पाई जाती है इस उद्यान में 13 प्रकार के सांप पांच प्रकार की मछलियां अगर सात प्रकार के हुए 4 प्राणी तथा सात प्रकार के कछुए पाए जाते हैं,  जहां असंख्य माता में फूलों वाले पौधे और अलग-अलग प्रकार के पेड़ भी देखे जा सकते हैं

यह विश्व का 1 सबसे बड़ा पक्षी उद्यान है जहां स्थानीय रूप से रहने वाले पक्षी और प्रवासी पक्षी दोनों ही अपना आवाज बनाते हैं तथा प्रजनन काल में अंडे देते हैं यहां साइबेरिया ऐसे सुदूर इलाकों से होकर भी पक्षी आते हैं

राजस्थान का राष्ट्रीय पक्षी उद्यान कहां है

.राजस्थान का प्रसिद्ध राष्ट्रीय पक्षी उद्यान पूर्वी राजस्थान में स्थित है यह भरतपुर से 2 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की दिशा में स्थित है, यह उद्यान आगरा से 55 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, इस पर भारत का कुल क्षेत्रफल 29 और किलोमीटर है इसमें एक तिहाई सा दलदली जंगलों वाला है, सूखी भूमि वाला हिस्सा घास के मैदान बनाता है जहां पर बिखरे हुए जंगल और झाड़ियां पाए जाते हैं यहां कई प्रकार के वन्य जीव देखे जा सकते हैं, इस नेशनल पार्क राष्ट्रीय उद्यान के स्थिति के कोऑर्डिनेट  27°10’N, 77°31’E हैं.

 

Taj Mohammed Sheikh

हेलो दोस्तों, में एक Freelance Blogger हूँ , नेट इन हिंदी .com वेबसाईट बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा में मनोरंजक और उपयोगी सामग्री प्रस्तुत करना है, यहाँ आपको विज्ञान, सेहत, शायरी, प्रेरक कहानिया, सुविचार और अन्य विषयों पर अच्छे लेख पढ़ने को मिलते रहेंगे. धन्यवाद!

You may also like...

Leave a Reply