Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी
Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

Kasam Shayari in Hindi

कसम पर शायरी

दोस्तों “क़सम शेर ओ शायरी का एक मज़ेदार संकलन हम इस पेज पर प्रकाशित कर रहे है, उम्मीद है यह आपको पसंद आएगा और आप विभिन्न शायरों के “क़सम के बारे में ज़ज्बात जान सकेंगे. अगर आपके पास भी क़सम शायरी का कोई अच्छा शेर है तो उसे कमेन्ट बॉक्स में ज़रूर लिखें.

सभी विषयों पर हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ है.

****************************************************

तू कहीं भी हो तेरे फूल से आरिज़ की क़सम

तेरी पलकें मेरी आंखों पे झुकी रहती हैं

#साहिर

 

फिर उसी राह पे निकल पड़े हैं,

कल जहाँ ना जाने की कसम खा बैठे थे।

 

कौन है जिसने मय नही चक्खी

कौन झूठी क़सम उठाता है,

मयकदे से जो बच निकलता है

तेरी आँखों में डूब जाता है !!

 

ज़हर मिलता ही नहीं मुझको सितमगर वर्ना

क्या क़सम है तेरे मिलने की कि खा भी न सकूँ

 

सुना था कसम झूठी हो तो लोग मर जाते हैं,

नाजाने कौन सी कसम निभा रहा है वो के अब तक ज़िंदा हूँ मैं।

 

हाथ टूटे मैंने गर छेडी हो जुल्फें आप की

आप के सर की कसम बादेसबा थी मै न था!

Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

 

तेरी महफ़िल सजाने की कसम खाके बैठें हैं,

इसलिए अश्कों को छुपा के बैठें हैं

 

सौ बार समझाया इस दिल को हमने, सौ बार दिल टूट गया,

सौ बार उसे भूलने की कसम खायी हमने, सौ बार हर कसम दिल भूल गया।

 

बे-इरादा टकरा गए थे लेहरों से हम,

समन्दर ने कसम खा ली हमे डुबोने की

 

बाद-ए-तौबा के भी है दिल में यह हसरत बाक़ी,

क़सम देके कोई एक जाम पीला दे हम को !! – ‘रुसवा’

 

चौदवी का चाँद हो, या आफताब हो,

जो भी हो तुम, खुदा की क़सम, लाजवाब हो!!

 

Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

 

जिसे अंजाम तुम समझते हो,

इब्तिदा है किसी कहानी की !

कसम इस आग और पानी की,

मौत अच्छी है बस जवानी की!!

 

उनकी महफिल में नसीर उनके तबस्सुम की कसम

देखते रह गए हम हाथ से जाना दिल का!

 

काश वो भी आकर हम से कह दे , मैं भी तन्हाँ हूँ ,

तेरे बिन, तेरी तरह , तेरी कसम , तेरे लिए…!!

 

Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

 

खाये न जागने की क़सम वो तो क्या करे

जिसको हर एक ख़्वाब अधूरा दिखाई दे

#कृष्ण बिहारी नूर

 

तू ने कसम मय-कशी की खाई है ‘ग़ालिब’

तेरी कसम का कुछ एतिबार नही है..! -मिर्ज़ा ग़ालिब

मौत बख्शी है जिसने उस मोहब्बतकी कसम

अब भी करता हूँ इंतज़ार बैठकर मजार मे

 

प्यार ,एहसान ,नफरत ,दुश्मनी जो चाहो वो मुजसे करलो…

आप की कसम वही दुगुना मीलेगा..!!

साथ गुज़ारे हुए उन लम्हों की क़सम ।

वल्लाह हूर से भी बेहतर है मेरी सनम ।

 

अगर पता होता कि इतना तड़पाती है महोब्बत.. ..

तो कसम से दिल लगाने से पहले हाथ जोड़ लेते..

 

पीनेकी आदत थी मुझे, उसने अपनी कसम देकर छुड़ा दी…

शाम को यारो की महफ़िल में बैठा तो, यारो ने उसकी कसम देकर पीला दी…!!!

 

Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

 

वही सर्द रातें वही फिर जुदाई सूना समां ऒर घेरे तनहाई

कसम हॆ तुम्हें आज फिर ना न कहना सपनों में मेरे तुम देना दिखाई॥

 

हमको कसम तुम्हारी कुछ यकीन कर,

हम भी न उफ़ करेंगे चाहे कोई सता ले.

 

तुम अपना रंज-ओ-ग़म, अपनी परेशानी मुझे दे दो ,

तुम्हें ग़म की क़सम, इस दिल की वीरानी मुझे दे दो ……

 

कसम से”” तुझे पाने की ख्वाहिश तो बहुत थी

मगर मुझे तुझसे दुर करने की “”दुआ”” करने वाले ज्यादा निकले..!!

 

Kasam Shayari in Hindi कसम पर शायरी

 

तुम बात करने का मौका तो दो ,कसम से ,

रूला देंगे तुम्हें तुम्हारे ही सितम गिनाते गिनाते

 

आइने में लगी, बिंदियों की कसम,

हूँ मैं ज़िंदा अभी तक, सिर्फ तेरे ही लिए सनम।

 

न तुम समेट सकोगे जिसे तुम क़यामत तक…..

कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते हैं

तू याद बहोत आया.हर शाम के बाद,

कभी आग़ाज़ से पहले कभी अंजाम के बाद,

इस डूबते सूरज की कसम इस दिल पे,

कोई नाम नहीं लिखा तेरे नाम के बाद !!

 

तुम तो डर गए एक ही कसम से….,

हमे तो तुम्हारी कसम देकर हजारो ने लुटा हे …!!

 

Search Tags

Kasam Shayari in Hindi, Kasam Hindi Shayari, Kasam Shayari, Kasam whatsapp status, Kasam hindi Status, Hindi Shayari on Kasam, Kasam whatsapp status in hindi,

कसम हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, कसम स्टेटस, कसम व्हाट्स अप स्टेटस,कसम पर शायरी, कसम शायरी, कसम पर शेर, कसम की शायरी


Hinglish

Kasam Shayari in Hindi

कसम पर शायरी

kasam shayari in hindi kasam par shayarikasam shayari in hindikasam par shayaridoston “qasam” sher o shayari ka ek mazedaar sankalan ham is pej par prakaashit kar rahe hai, ummid hai yah aapako pasand aaega aur aap vibhinn shayaron ke “qasam” ke baare mein zajbaat jaan sakenge. agar aapake paas bhi qasam shayari ka koi achchha sher hai to use comment box mein zaroor likhen.sabhi vishayon par hindi shayari ki list yahaan hai.****************************************************
too kahin bhi ho tere phool se aariz ki qasamateri palaken meri aankhon pe jhuki rahati hain#saahira

phir usi raah pe nikal pade hain,kal jahaan na jaane ki kasam kha baithe the.kaun hai jisane may nahi chakkhikaun jhoothi qasam uthaata hai,mayakade se jo bach nikalata haiteri aankhon mein doob jaata hai !!

zahar milata hi nahin mujhako sitamagar varnaakya qasam hai tere milane ki ki kha bhi na sakoonsuna tha kasam jhoothi ho to log mar jaate hain,naajaane kaun si kasam nibha raha hai vo ke ab tak zinda hoon main.haath toote mainne gar chhedi ho julphen aap kiaap ke sar ki kasam baadesaba thi mai na tha!kasam shayari in hindi

kasam par shayariteri mahafil sajaane ki kasam khaake baithen hain,isalie ashkon ko chhupa ke baithen hainsau baar samajhaaya is dil ko hamane, sau baar dil toot gaya,sau baar use bhoolane ki kasam khaayi hamane, sau baar har kasam dil bhool gaya.be-iraada takara gae the leharon se ham,samandar ne kasam kha li hame dubone kibaad-e-tauba ke bhi hai dil mein yah hasarat baaqi,qasam deke koi ek jaam pila de ham ko !! –

rusava chaudavi ka chaand ho, ya aaphataab ho,jo bhi ho tum, khuda ki qasam, laajavaab ho!!kasam shayari in hindi kasam par shayari jise anjaam tum samajhate ho,ibtida hai kisi kahaani ki !

kasam is aag aur paani ki,maut achchhi hai bas javaani ki!!unaki mahaphil mein nasir unake tabassum ki kasamadekhate rah gae ham haath se jaana dil ka!kaash vo bhi aakar ham se kah de , main bhi tanhaan hoon ,tere bin, teri tarah , teri kasam , tere lie…!!

kasam shayari in hindi kasam par shayarikhaaye na jaagane ki qasam vo to kya karejisako har ek khvaab adhoora dikhai de#krshn bihaari nooratoo ne kasam may-kashi ki khai hai gaalibteri kasam ka kuchh etibaar nahi hai..! -mirza gaalibamaut bakhshi hai jisane us mohabbataki kasamab bhi karata hoon intazaar baithakar majaar mepyaar ,ehasaan ,napharat ,dushmani jo chaaho vo mujase karalo…

aap ki kasam vahi duguna milega..!!saath guzaare hue un lamhon ki qasam .vallaah hoor se bhi behatar hai meri sanam .agar pata hota ki itana tadapaati hai mahobbat.. ..to kasam se dil lagaane se pahale haath jod lete..pineki aadat thi mujhe, usane apani kasam dekar chhuda di…sham ko yaaro ki mahafil mein baitha to, yaaro ne usaki kasam dekar pila di…!!! kasam shayari in hindi kasam par shayarivahi sard raaten vahi phir judai soona samaan or ghere tanahaikasam hai tumhen aaj phir na na kahana sapanon mein mere tum dena dikhai.hamako kasam tumhaari kuchh yakin kar,ham bhi na uf karenge chaahe koi sata le.tum apana ranj-o-gam, apani pareshani mujhe de do ,tumhen gam ki qasam, is dil ki viraani mujhe de do ……

“kasam se”” tujhe paane ki khvaahish to bahut thimagar mujhe tujhase dur karane ki “”dua”” karane vaale jyaada nikale..!!kasam shayari in hindi kasam par shayaritum baat karane ka mauka to do ,kasam se ,roola denge tumhen tumhaare hi sitam ginaate ginaateaine mein lagi, bindiyon ki kasam,hoon main zinda abhi tak, sirph tere hi lie sanam.na tum samet sakoge jise tum qayaamat tak…..

kasam tumhaari tumhe itana pyaar karate haintoo yaad bahot aaya.har sham ke baad,kabhi aagaaz se pahale kabhi anjaam ke baad,is doobate sooraj ki kasam is dil pe,koi naam nahin likha tere naam ke baad !!tum to dar gae ek hi kasam se….,hame to tumhaari kasam dekar hajaaro ne luta he …!!

search tags kasam shayari in hindi, kasam hindi shayari, kasam shayari, kasam whatsapp status, kasam hindi status, hindi shayari on kasam, kasam whatsapp status in hindi,kasam hindi shayari, hindi shayari, kasam stetas, kasam vhaats ap stetas,kasam par shayari, kasam shayari, kasam par sher, kasam ki shayari