Tanhai Hindi Shayari तन्हाई हिंदी शायरी

Tanhai Hindi Shayari
Tanhai Hindi Shayari तन्हाई

Tanhai Hindi Shayari

Here you can get the best collection of Tanhai Sad Shayari, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Tanhai Hindi Shayari to your facebook friends.
You can send them as text SMS based on Tanhai Shayari SMS for someone.These Hindi sher on Tanhai is excellent in expressing your Emotions and Love & Pain.
For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari.

तन्हाई हिंदी शायरी

तन्हाई पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस तन्हाई हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। तन्हाई के दर्द पर हिंदी के यह शेर, आपके प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं।
सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं Hindi Shayari

**************************************************

Tanhai Hindi Shayari

ए मेरे दिल , कभी तीसरे की उम्मीद भी ना किया कर ,

सिर्फ तुम और मैं ही हैं इस दश्त-ए-तन्हाई में …

***

“थकन, टूटन, उदासी, ऊब, तन्हाई, अधूरापन ,

तुम्हारी याद के संग इतना लम्बा कारवाँ क्यूँ है ..?”

***

किस से कहु, अपनी तन्हाई का आलम.

लोग चहरें के हसी देख, बहुत खुश समझते हैं.

***

खौफ अब खत्म हुआ सबसे जुदा होने का..

अपनी तन्हाई में हम अब मसरूफ  बहुत रहते हैं..

***

कोसते रहते हैं अपनी जिंदगी को उम्रभर

भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोया करते हैं

***

इश्क के नशे मे डूबे तो जाना हमने फ़राज़……\ के दर्द मे तन्हाई नही होती तन्हाई मे दर्द होता हैं…\\

***

कांटो सी चुभती है तन्हाई अंगारों सी सुलगती है तन्हाई कोई आ कर हम दोनों को ज़रा हँसा दे मैं रोती हूँ तो रोने लगती है तन्हाई..

***

ऐ सनम तू साथ है मेरे मेरी हर तन्हाई में

कोई गम नहीं की तुमने वफ़ा नहीं की

इतना ही बहुत है की तू शामिल है मेरी तबाही में।

*** Tanhai Hindi Shayari Sad Shayari

तन्हाई की आग में कहीं जल ही न जाऊँ,

के अब तो कोई मेरे आशियाने को बचाले।

***

“इन उदास कमरों के.. कोनों की गीली तन्हाई.. …

वक़्त की धूप के साथ सूख ही जायेगी…!!

***

जब भी तन्हाई में उनके बगैर जीने की बात आयी

उनसे हुई हर एक मुलाकात मेरी यादों में दौड आई

***

कहने को साथ अपने इक दुनिया चलती है…

पर छुपके इस दिल में तन्हाई पलती है…!!

***

मोहब्बत के रास्ते कितने भी मखमली क्यो ना हो…

खत्म तन्हाई के खंड़हरो मेँ ही होते है।

***

कुछ लोग जमाने में ऐसे भी तो होते हैं..

महफिल में तो हंसते हैं तन्हाई में रोते हैं.

***

हमारे चले जाने के बाद„ ये समुंदर भी पूछेगा तुमसे…

कहा चला गया वो शख्स„

जो तन्हाई मे आ कर„ बस तुम्हारा ही नाम लिखा करता था…!!!

*** Tanhai Hindi Shayari Sad Shayari

रिश्ते तो नहीं रिश्तों की परछाई मिली…

ये कैसी भीङ है बस यहाँ तन्हाई मिली….

***

बचपन में जहां चाहा हंस लेते थे,

जहां चाहा रो लेते थे पर अब मुस्कान को तमीज़ चाहिए

और आंसुओं को तन्हाई

***

ख्वाब ख्याल, मोहब्बत, हक़ीक़त, गम और तन्हाई,

ज़रा सी उम्र मेरी किस-किस के साथ गुज़र गयी !!!

***

हर वक़्त का हँसना तुझे बर्बाद न कर दे, तन्हाई के लम्हों में कभी रो भी लिया कर; ए दिल! तुझे दुश्मनों की पहचान कहाँ,.

***

करोगे याद एक दिन प्यार के ज़माने को

चले जाएँगे जब हम ना वापिस आने को

चलेगा जब महफ़िल मे ज़िक्र हमारा

तो तुम भी तन्हाई ढूँढोगे आँसू बहाने को

*** Tanhai Hindi Shayari Sad Shayari

कभी मुस्कुराया करते थे हम भी दिल खोल के … आज-कल तो तन्हाई हम पे गुजर -बसर कर रही हैं

***

उनके जाने के बाद,तन्हाई का सहारा मिला है

इसकी आगोश में आये, फिर निकलना नही आया

***

आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये .. तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये कई बार पुकारा इस दिल मैं तुम्हें और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोय

***

हम थोड़ी सी जगह मांगी थी उनके दिल में “मुसाफिर” की तरह, उन्होंने तो तन्हाई का एक पूरा शहर मेरे नाम कर दिया

***

अपनी तन्हाई से खूब जमती है…. यही लेती है मेरी खबर अक्सर…!

***

कितनी अजीब है मेरे अन्दर की तन्हाई भी

हजारो अपने है मगर याद सिर्फ वो ही आती है

***

अजनबी शहर के अजनबी रास्ते.. मेरी तन्हाई पर मुस्कुराते रहे … मैं बहुत दूर तक यूँ ही चलती रही … तुम बहुत देर तक याद आते रहे….

***

तेरी खुशबू का पता करती है… मुझपे एहसान हवा कपती है  शब ए तन्हाई मे अक्सर… गुफ्तगू तुझसे रहा करती है

***

तन्हाई मैं मुस्कुराना भी इश्क़ है इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है यूँ तो रातों को नींद नही आती पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है

***

जिससे दुर हो जाए मेरे ग़म ! मौन रह कर भी तेरे दिल की गहराई तक फैली उस तन्हाई से बात कर सकूं !

*** Tanhai Hindi Shayari Sad Shayari

मैं, जो उजालों का ताजिंदगी, बेइंतिहा मुरीद रहा हूँ, आज तन्हाई की कीमत पे, खुद,अँधेरे खरीद रहा हूँ !

***

तेरे ख्याल में डूब के अक्सर अच्छी लगी तन्हाई !!

***

वो उँगलियों पे गिनते हैं ज़ुल्म जिनका कुछ हिसाब नही

तुम नहीं, गम नहीं, शराब नहीं ऐसी तन्हाई का जवाब नही

***

फिर कहीं दूर से एक बार सदा दे मुझको, मेरी तन्हाई का एहसास दिला मुझको..
***

एहतियातन देखता चल अपने साये की तरफ, इस तरह शायद तुझे एहसास ए तन्हाई न हो..

*** Tanhai Hindi Shayari

देख रात कहती हैं, आजकल मोहब्बत बिकती हैं

… . . . जो खरीद नहीं पाता, उसको बस तन्हाई मिलती हैं…

***

तन्हाई का दौर था हर घड़ी सुनापन था__ एक तुम आयी और तन्हाई को दूर करके एक अनजाना एहसास दे गयी__ और फिर ज़िन्दगी आसान हो गयी__

***

तेरा ख्याल, बिछड़ने का ग़म, कि तन्हाई कोई तो है जो मुझे उस तरफ बुलाता है …

***

तन्हाई इस कदर रास आ गयी है…… अब मुझे कि, अपना साया भी साथ हो तो….साहिब भीड़ सी लगती है….

***

आप हों, हम हों, मय-ए-नाब हो, तन्हाई हो दिल में रह रह के ये अरमान चले आते हैं

***

जब मुलाकात ना थी तब तो कोई बात ना थी , अब ये तन्हाई के दिन कैसे गुजारे जाएं …. !!

***

तन्हाई थी मगर दूर तक,..ख़ामोशियों का शोर था उसे पुकारता कैसे जो मेरा, होके भी कहीं ओर था

***

आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये कई बार पुकारा इस दिल मैं तुम्हें और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोय

***

मेरी तन्हाई मार डालेगी दे दे कर तानें मुझको , एक बार आ जाओ इसे तुम खामोश कर दो…

***

कुछ देर बैठी रही पास, और फिर उठ कर चली गई

गुरुर तो देखो तन्हाई का ये भी बेवफ़ा हो कर चली गई

*** Tanhai Hindi Shayari Sad Shayari

अब आ भी जाओ … कि आता है वफा पर इल्जाम चाँदनी रात की डसती हुई तन्हाई है … !!

***


Hinglish

tanhayi hindi shayari tanhayi

tanhayi hindi shayaritanhayi par hindi shayari ka sabase achchha sangrah yahaan upalabdh hai, aap is tanhayi hindi shayari ko apane hindi vaahatsepp stetas ke roop mein upayog kar sakaten hai ya aap is behatareen hindi shayari ko apane doston ko phesabuk par bhee bhej sakaten hain. tanhayi ke dard par hindi ke yah sher, aapake pyaar aur bhaavanaon ko vyakt karane mein aapakee madad kar sakaten hain.sabhee hindi shayari kee list yahaan hain hindi shayari।**************************************************

tanhai hindi shayarie mere dil , kabhee teesare kee ummeed bhee na kiya kar ,sirph tum aur main hee hain is dasht-e-tanhayi mein …***”

thakan, tootan, udaasee, oob, tanhayi, adhooraapan ,tumhaaree yaad ke sang itana lamba kaaravaan kyoon hai ..?”***

kis se kahu, apanee tanhayi ka aalam.log chaharen ke hasee dekh, bahut khush samajhate hain.***

khauph ab khatm hua sabase juda hone ka..apanee tanhayi mein ham ab masarooph bahut rahate hain..***

kosate rahate hain apanee jindagee ko umrabharabheed mein hansate hain magar tanhayi mein roya karate hain***

ishk ke nashe me doobe to jaana hamane faraaz……\ ke dard me tanhayi nahee hotee tanhayi me dard hota hain…\\***

kaanto see chubhatee hai tanhayi angaaron see sulagatee hai tanhayi koee aa kar ham donon ko zara hansa de main rotee hoon to rone lagatee hai tanhayi..***

ai sanam too saath hai mere meree har tanhayi menkoee gam nahin kee tumane vafa nahin keeitana hee bahut hai kee too shaamil hai meree tabaahee mein।***

tanhai hindi shayari sad shayaritanhayi kee aag mein kaheen jal hee na jaoon,ke ab to koee mere aashiyaane ko bachaale.***”

in udaas kamaron ke.. konon kee geelee tanhayi.. …vaqt kee dhoop ke saath sookh hee jaayegee…!!***

jab bhee tanhayi mein unake bagair jeene kee baat aayeeunase huee har ek mulaakaat meree yaadon mein daud aaee***

kahane ko saath apane ik duniya chalatee hai…par chhupake is dil mein tanhayi palatee hai…!!***

mohabbat ke raaste kitane bhee makhamalee kyo na ho…khatm tanhayi ke khandaharo men hee hote hai.***

kuchh log jamaane mein aise bhee to hote hain..mahaphil mein to hansate hain tanhayi mein rote hain.***

hamaare chale jaane ke baad„ ye samundar bhee poochhega tumase…kaha chala gaya vo shakhs„jo tanhayi me aa kar„ bas tumhaara hee naam likha karata tha…!!!***

tanhai hindi shayari sad shayaririshte to nahin rishton kee parachhaee milee…ye kaisee bheen hai bas yahaan tanhayi milee….***

bachapan mein jahaan chaaha hans lete the,jahaan chaaha ro lete the par ab muskaan ko tameez chaahieaur aansuon ko tanhayi***

khvaab khyaal, mohabbat, haqeeqat, gam aur tanhayi,zara see umr meree kis-kis ke saath guzar gayee !!!***

har vaqt ka hansana tujhe barbaad na kar de, tanhayi ke lamhon mein kabhee ro bhee liya kar; e dil! tujhe dushmanon kee pahachaan kahaan,.***

karoge yaad ek din pyaar ke zamaane kochale jaenge jab ham na vaapis aane kochalega jab mahafil me zikr hamaaraato tum bhee tanhayi dhoondhoge aansoo bahaane ko***

tanhai hindi shayari sad shayarikabhee muskuraaya karate the ham bhee dil khol ke … aaj-kal to tanhayi ham pe gujar -basar kar rahee hain***

unake jaane ke baad,tanhayi ka sahaara mila haiisakee aagosh mein aaye, phir nikalana nahee aaya***

aaj teree yaad ham seene se laga kar roye .. tanhayi main tujhe ham paas bula kar roye kaee baar pukaara is dil main tumhen aur har baar tumhen na paakar ham roy***

ham thodee see jagah maangee thee unake dil mein “musaaphir” kee tarah, unhonne to tanhayi ka ek poora shahar mere naam kar diya***

apanee tanhayi se khoob jamatee hai…. yahee letee hai meree khabar aksar…!***

kitanee ajeeb hai mere andar kee tanhayi bheehajaaro apane hai magar yaad sirph vo hee aatee hai***

ajanabee shahar ke ajanabee raaste.. meree tanhayi par muskuraate rahe … main bahut door tak yoon hee chalatee rahee … tum bahut der tak yaad aate rahe….***

teree khushaboo ka pata karatee hai… mujhape ehasaan hava kapatee hai shab e tanhayi me aksar… guphtagoo tujhase raha karatee hai***

tanhayi main muskuraana bhee ishq hai is baat ko sab se chhupaana bhee ishq hai yoon to raaton ko neend nahee aatee par raaton ko so kar bhee jaag jaana ishq hai***

jisase dur ho jae mere gam ! maun rah kar bhee tere dil kee gaharaee tak phailee us tanhayi se baat kar sakoon !***

tanhai hindi shayari sad shayarimain, jo ujaalon ka taajindagee, beintiha mureed raha hoon, aaj tanhayi kee keemat pe, khud,andhere khareed raha hoon !***

tere khyaal mein doob ke aksar achchhee lagee tanhayi !!***

vo ungaliyon pe ginate hain zulm jinaka kuchh hisaab naheetum nahin, gam nahin, sharaab nahin aisee tanhayi ka javaab nahee***

phir kaheen door se ek baar sada de mujhako, meree tanhayi ka ehasaas dila mujhako..***

ehatiyaatan dekhata chal apane saaye kee taraph, is tarah shaayad tujhe ehasaas e tanhayi na ho..***

tanhai hindi shayaridekh raat kahatee hain, aajakal mohabbat bikatee hain… . . . jo khareed nahin paata, usako bas tanhayi milatee hain…***

tanhayi ka daur tha har ghadee sunaapan tha__ ek tum aayee aur tanhayi ko door karake ek anajaana ehasaas de gayee__ aur phir zindagee aasaan ho gayee__***

tera khyaal, bichhadane ka gam, ki tanhayi koee to hai jo mujhe us taraph bulaata hai …***

“tanhayi is kadar raas aa gayee hai…… ab mujhe ki, apana saaya bhee saath ho to….saahib bheed see lagatee hai….***

aap hon, ham hon, may-e-naab ho, tanhayi ho dil mein rah rah ke ye aramaan chale aate hain***

jab mulaakaat na thee tab to koee baat na thee , ab ye tanhayi ke din kaise gujaare jaen …. !!***

tanhayi thee magar door tak,..khaamoshiyon ka shor tha use pukaarata kaise jo mera, hoke bhee kaheen or tha***

aaj teree yaad ham seene se laga kar roye tanhayi main tujhe ham paas bula kar roye kaee baar pukaara is dil main tumhen aur har baar tumhen na paakar ham roy***

meree tanhayi maar daalegee de de kar taanen mujhako , ek baar aa jao ise tum khaamosh kar do…***

kuchh der baithee rahee paas, aur phir uth kar chalee gaeegurur to dekho tanhayi ka ye bhee bevafa ho kar chalee gaee***

tanhai hindi shayari sad shayariab aa bhee jao … ki aata
kuchh der baithee rahee paas, aur phir uth kar chalee gaeegurur to dekho tanhayi ka ye bhee bevafa ho kar chalee gaee***

tanhai hindi shayari sad shayariab aa bhee jao … ki aata hai vapha par iljaam chaandanee raat kee dasatee huee tanhayi hai … !!

1 thought on “Tanhai Hindi Shayari तन्हाई हिंदी शायरी”

  1. ZINDAGI SE APNA HAR DARD CHUPA LENA KUSHI NA SAHI GHAM KO GLE LGA LENA KOI AGAR KAHE MOHABBAT AASAN HAI TO HUSE NOOR ALAM KA TUTA HUA DIL DIKA DENA I HATE LOVE

Leave a Reply