Whatsapp story in Hindi whatsapp की सफलता की कहानी

Whatsapp story in Hindi1

Whatsapp story in Hindi whatsapp की सफलता की कहानी

Whatsapp story in Hindi

whatsapp की सफलता की कहानी हिंदी में

आप हर रोज़ अपना स्मार्टफोन यूज़ करतें हैं, और हर स्मार्टफोन whatsapp के बिना अधुरा है, क्या आपने कभी सोचा है की, आपका व्हाट्सएप केसे बना? व्हाट्स एप को किसने बनाया? whatsapp की कहानी क्या है? आज हम आपको व्हाट्स एप बनाने वाले शख्स की प्रेरक कहानी सुनातें हैं जिसे सुनकर आप भी अपने लक्ष्य को हांसिल करने में जुट जायेंगे!

व्हाट्सएप को बनाया है 39 वर्षीय जेन कौम ने!। whatsapp के अविष्कारक जेन कौम के जीवन की कहानी आज की पीढ़ी के लिए बहुत ही उत्प्रेरक और प्रेरणादायक है।

जेन कौम का जन्म February 24, 1976 को युक्रेन के कीव शहर में हुआ, उनका बचपन कीव के पास एक गाँव फास्तिव में बीता! वे अपने माता पिता की इकलोती संतान थे। उनकी माँ एक हॉउस वाइफ और पिता एक मजदूर थे। युक्रेन के उस गांव में हालात बहुत ख़राब थे, बच्चों के स्कूल में बाथरूम तक नहीं थे, बच्चों को युक्रेन की -20 डिग्री ठण्ड में भी बाहर बने बाथरूम में जाना पड़ता था, ऐसे माहोल में technology का तो नामो निशान ही नहीं था! (Whatsapp story in Hindi)

पूरे युक्रेन में उस वक्त राजनैतिक हालात ठीक नहीं थे, जेन कौम के माता पिता यहूदी थे और उन दिनों यहूदी अल्पसंखयको के खिलाफ नफरत बढती जा रही थी, इसीलिए १६ वर्ष की उम्र में जेन अपनी माँ और दादी के साथ अमेरिका के माउनटेनव्यू केलिफोर्निया आ गए। यहाँ अमेरिकी सरकार की मदद से उन्हें एक दो बेडरूम वाला फ्लैट रहने को मिल गया।

अमेरिका आकर उनकी माँ बेबीसिटर का, और जेन कौम खुद एक ग्रोसरी स्टोर में क्लीनर का काम करने लगे। 18 वर्ष की उम्र में उन्हें प्रोग्रामिंग में खूब दिलचस्पी हो गयी, उन्होंने सेन जोस यूनिवर्सिटी में दाखिला ले लिया। जेन कौम एक साधारण स्टूडेंट थे, 19 वर्ष की आयु तक उनके पास कंप्यूटर नहीं था, उन्होंने एक पुरानी किताबों की दुकान से कंप्यूटर नेटवर्किंग का मेनुअल ख़रीदा और उसे सीखकर वापस बेच दिया। (Whatsapp story in Hindi)

इसके बाद वे जेन अर्नेस्ट एंड यंग कंपनी में sicurity tester के रूप में काम करने लगे।

सन १९९७ में उन्हें याहू में इंफ्रास्ट्रक्चर इंजीनियर की नोकरी मिल गयी जहाँ उनकी मुलाकात ब्रायन ऐक्टन से हुई। दोनों ने 9 सालों तक याहू के लिए कार्य किया। अब उनके पास करीब चार लाख डॉलर्स की सेविंग्स हो गयी थी।

सन २००९ में दोनों ने याहू से इस्तीफा दे दिया और एक वर्ष के अवकाश पर साउथ अमेरिका घूमने चले गए। वापस आकर उन्होंने फेसबुक में जॉब के लिए आवेदन दिया पर उन्हें फेसबुक ने मना कर दिया। (Whatsapp story in Hindi)

जेन कौम ने एक iphone ख़रीदा, उन्होंने पाया की सात महीने पहले लांच हुए एप्पल के एप स्टोर से एप्प्स की एक नयी इंडस्ट्री की शुरुवात होने वाली है! वे अपने दोस्त अलेक्स फिशमेन के पास गए और दोनों ने घंटो एक नए एप्प बनाने पर चर्चा की, जेन कौम के दिमाग में अचानक एक नाम आया whatsapp क्यों की या “whats up” की तरह था, हेल्लो की तरह यह वाक्य अमेरिका में बहुत प्रचलित है, जब भी दो लोग मिलतें हैं तो वे कहतें हैं “whats up” जैसे की भारत में अकसर कहा जाता है “और क्या चल रहा है”?।

Whatsapp story in Hindi 2

Whatsapp story in Hindi whatsapp की सफलता की कहानी

एक हफ्ते बाद जेन कौम ने Feb. 24, 2009 को एक नयी कंपनी का गठन किया और उसका नाम रखा WhatsApp Inc. प्रारंभ में जेन कौम और ब्रायन ऐक्टन ने दुसरे याहू के पुराने कर्मचारियों से मिलकर ढाई लाख डॉलर्स का फण्ड कंपनी के लिए जमा किया। कंपनी के शुरवाती दिन संघर्ष के थे, उन्होंने एक छोटा ऑफिस किराये पर लिया, हीटर्स की व्यवस्था नहीं थी इसीलिए कर्मचारियों को कम्बल पहन कर काम करना पड़ता था। (Whatsapp story in Hindi)

सन 2010 तक कम्पनी केवल 5000 डॉलर्स प्रतिमाह कमा रही थी, लेकिन सन 2011 में जब whatsapp, एप्पल एप्प स्टोर में टॉप 20 में आ गया तब से कम्पनी की इनकम लगातार बढती गयी। सन 2014 तक whatsapp का प्रभाव इतना बढ़ गया की फेसबुक के मार्क जुकेर्बेर्ग ने जेन कौम को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा, और बाद में फेसबुक ने whatsapp को खरीद लिया।

आज जेन कौम की संपत्ति करीब 6.8 बिलियन डॉलर्स है,और whatsapp के यूज़र्स की संख्या 800 मिलियन हो चुकी है।

नवम्बर 2014 में जेन कौम ने 1 मिलियन डॉलर्स The FreeBSD Foundation को और 556 मिलियन डॉलर्स Silicon Valley Community Foundation (SVCF) को डोनेशन में दे दिए।

सभी हिंदी कहानियों की लिस्ट यहाँ है।
List of Inspiring Hindi Stories

Whatsapp story in Hindi, Whatsapp ki kahani, Whatsapp success story in hindi, jan koum success story in hindi, Jan Koum story in Hindi, Jan Koum ki Kahani, whatsapp kisne banaya, Jan Koum Biography in Hindi,

You may also like...

1 Response

  1. irshad says:

    Ncc bohot achha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *