Zindagi Hindi Shayari ज़िन्दगी हिंदी शायरी

zindagi hindi shayari
Zindagi Hindi Shayari ज़िन्दगी हिंदी शायरी

Zindagi Hindi Shayari

ज़िन्दगी हिंदी शायरी

Here you can get the best collection of Hindi Shayari on Zindagi, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Zindagi Hindi Shayari to your facebook friends. These Hindi sher on Zindagi is excellent in expressing your emotions.

For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari .

ज़िन्दगी पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस ज़िन्दगी हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। ज़िन्दगी लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं।

सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

****

ज़िन्दगी का फलसफा भी कितना अजीब है,

शामें कटती नहीं, और साल गुज़रते चले जा रहे है… ”

***

ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,

ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है।

***

अकेले ही गुज़रती है ज़िन्दगी

लोग तसल्लियां तो देते हैं , पर साथ नहीं…!!

***

जीवन की सुबह में कभी सांझ न हो

जो मिल न सके रब से वो मांग न हो

खूब चमकें सितारे खुशियों के

ज़िन्दगी कभी अमावस का चाँद न हो

***

सही वक़्त पर पिए गए “कड़वे घूंट”

अक़्सर ज़िन्दगी “मीठी” कर दिया करते है”

***

रास्ता तू ही और मंज़िल तू ही, चाहे जितने भी चलूँ मैं कदम,

… … तुझसे ही तो मुस्कुराहटें मेरी, तुझ बिन ज़िन्दगी भी है सूनी..!!

***

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Zindagi Status Pictures – Zindagi dp Pictures – Zindagi Shayari Pictures

तकदीरें बदल जाती हैं, जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो;

वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती है ‘तकदीर’ को इल्ज़ाम देते देते….
***
 
ये ज़िन्दगी जो मुझे कर्ज़दार करती रही,
कभी अकेले में मिले तो हिसाब करूँ
***
 
धीरे धीरे उम्र कट जाती है, जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है, कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है..
***
 
दो रोज़ तुम मेरे पास रहो.. दो रोज़ मैं तुम्हारे पास रहुं.. चार दिन की ज़िन्दगी है.. ना तुम उदास रहो.. ना मैं उदास रहुं….
***
 
“दहशत” सी होने लगी है इस सफ़र से अब तो…
ए-ज़िन्दगी___ कहीं तो पहुँचा दे„„„ख़त्म होने से पहले…
***
 
फटी जेब सी ज़िन्दगी, सिक्को से दिन… लो आज फिर ..इक गिर कर गुम हो गया..!!
***
 
मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से है, आधी तुझे सताने से है, आधी तुझे मनाने से है..
***
 
चाहा है तुझ को तेरी तग़ाफ़ुल के बावजूद;
ज़िन्दगी तू याद करेगी कभी हमें
***
 
मरता नहीं कोई किसी के बगैर ये हकीकत है
ज़िन्दगी की लेकिन सिर्फ सांसें लेने को `जीना` तो नहीं कहते!
***
 
बाद मुद्दत के यह घडी आई आप आये तो ज़िन्दगी आई
इश्क मर-मर के कामयाब हुआ आज एक ज़र्रा आफताब हुआ
***
 
कुछ इस तरह फ़कीर ने ज़िन्दगी की मिसाल दी,
मुट्ठी में धूल ली और हवा में उछाल दी !
***
 
ज़िन्दगी की जरूरतें समझिए वक्त कम है फरमाइश लम्बी हैं झूठ-सच,जीत- हार की बातें छोड़िये, दास्तान बहुत लम्बी है.
***
 
ज़िन्दगी एक हसीन ख्वाब है जिसमें जीने की चाहत होनीचाहिये गम खुद ही खुशी में बदल जायेंगे सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनीचाहिये
***
 
कुछ ज़रूरतें पूरी तो कुछ ख्वाहिशें अधूरी,
इन्ही सवालों के जवाब हैं ज़िन्दगी !!
***
 
लम्हों की खुली किताब हैं ज़िन्दगी, ख्यालों और सांसों का हिसाब हैं ज़िन्दगी,
***
 
फिर कोई मोड़ लेने वाली है ज़िन्दगी शायद …
अब के फिर हवाओं में, एक बे-करारी है….
***
 
ज़िन्दगी की राहों में.. ऐसा अक्सर होता है..
फैसला जो मुश्किल हो वो ही बेहतर होता है..!!
***
 
सुबह तो खुशनुमा थी, क्यों शाम मुझे फिर तनहा छोड़ गयी, ……… ……… मंजिल दिखी ही थी, कि ज़िन्दगी फिर रास्ता मोड़ गयी..!!
***
 
यादो की कसक..साँसों की थकन..आँखों में नमी सी है. ज़िन्दगी तुझमे सब है, फिर काहे की कमी सी है…
 
***
 
डूबती हैं ज़िन्दगी,ग़म के सागर में कभी
बच निकलने की तुम्ही,बस आस लगते हो मुझे
***
 
आरज़ू,हसरत,तमन्ना और ख़ुशी कुछ भी नही,
ज़िन्दगी में तू नही तो ज़िन्दगी कुछ भी नही…
***
 
हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर, तुझपर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये, अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता…
***
 
शिकायत तो बहुत है तुझसे ऐ ज़िन्दगी, पर चुप इसलिए हूं कि जो दिया तूने वो भी बहुतों को नसीब नहीं होता
***
 
इन्तिहा आज इश्क की कर दी, आप के नाम ज़िन्दगी कर दी, था अँधेरा गरीब खाने में, आप ने आ के रोशनी कर दी,
***
 
ख़्वाबों से मुझको और न बहला सकेगी रहने दे ज़िन्दगी..! तेरा जादू उतर गया..।।
***
मुझे रात दिन ये ख्याल है•वो नज़र से मुझको गिरा ना दें•मेरी ज़िन्दगी का दिया कहीं•ये ग़मो की आंधी बुझा ना दें
 
***
तेरी मुहब्बत की तलब थी तो हाथ फैला दिए वरना, हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिए भी दुआ नहीं करते…
***
 
उस के चहरे पर लिखे है दिल के अफ़साने कई, वो किताबे-ज़िन्दगी का इक सुनहरा बाब है.!
 
 
Search Tags
Zindagi Shayari, Zindagi Hindi Shayari, Zindagi Shayari, Zindagi whatsapp status, Zindagi hindi Status, Hindi Shayari on Zindagi, Zindagi whatsapp status in hindi, ज़िन्दगी हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, ज़िन्दगी, ज़िन्दगी स्टेटस, ज़िन्दगी व्हाट्स अप स्टेटस
—–
Hinglish
 

zindagi par hindi shayari roman hinglish

zindagi par hindi shayari ka sabase achchha sangrah yahan upalabdh hai, ap is zindagi hindi shayari ko apane hindi whatsapp status ke roop mein upayog kar sakaten hai ya ap is behataren hindi shayari ko apane doston ko facebook par bhe bhej sakaten hain. zindagi lafz par hindi ke yah sher, bhavanaon ko vyakt karane mein apake madad kar sakaten hain.sabhe hindi shayari ke list yahan hain. “zindagi ka falasafa bhe kitana ajeb hai,shamen katate nahin, aur sal guzarate chale ja rahe hai… “***

 

zaroore to nahin ke shayari vo he kare jo ishk mein ho,zindagi bhe kuchh zakhm bemisal diya karate hai.***

 

akele he guzarate hai zindagi…log tasalliyan to dete hain , par sath nahin…!!***

 

jevan ke subah mein kabhe sanjh na hojo mil na sake rab se vo mang na hokhoob chamaken sitare khushiyon kezindagi kabhe amavas ka chand na ho***

 

sahe vaqt par pie gae “kadave ghoont”aqsar zindagi “methe” kar diya karate hai”***

 

rasta too he aur manzil too he, chahe jitane bhe chaloon main kadam,… … tujhase he to muskurahaten mere, tujh bin zindagi bhe hai soone..!!***

 

takaderen badal jate hain, jab zindagi ka koe makasad ho;varna zindagi kat he jate hai takader ko ilzam dete dete….***

 

ye zindagi jo mujhe karzadar karate rahe,kabhe akele mein mile to hisab karoon***

 

dhere dhere umr kat jate hai, jevan yadon ke pustak ban jate hai, kabhe kise ke yad bahut tadapate hai aur kabhe yadon ke sahare zindagi kat jate hai..***

 

do roz tum mere pas raho.. do roz main tumhare pas rahun.. char din ke zindagi hai.. na tum udas raho.. na main udas rahun….***”

 

dahashat” se hone lage hai is safar se ab to…e-zindagi___ kahen to pahuncha de„„„khatm hone se pahale…***

 

fate jeb se zindagi, sikko se din… lo aj fir ..ik gir kar gum ho gaya..!!***

 

mere zindagi mein khushiyan tere bahane se hai, adhe tujhe satane se hai, adhe tujhe manane se hai..***

 

chaha hai tujh ko tere tagaful ke bavajood;e zindagi too yad karege kabhe hamen***

 

marata nahin koe kise ke bagair ye hakekat haizindagi ke lekin sirf sansen lene ko `jena` to nahin kahate!***

 

bad muddat ke yah ghade ae ap aye to zindagi aeishk mar-mar ke kamayab hua aj ek zarra afatab hua***

 

kuchh is tarah faker ne zindagi ke misal de,mutthe mein dhool le aur hava mein uchhal de !***

 

zindagi ke jarooraten samajhie vakt kam hai faramaish lambe hain jhooth-sach,jet- har ke baten chhodiye, dastan bahut lambe hai.***

 

zindagi ek hasen khvab hai jisamen jene ke chahat honechahiye gam khud he khushe mein badal jayenge sirf muskurane ke adat honechahiye***

 

kuchh zarooraten poore to kuchh khvahishen adhoore,inhe savalon ke javab hain zindagi !!***

 

lamhon ke khule kitab hain zindagi, khyalon aur sanson ka hisab hain zindagi,***

 

fir koe mod lene vale hai zindagi shayad …ab ke fir havaon mein, ek be-karare hai….***

 

zindagi ke rahon mein.. aisa aksar hota hai..faisala jo mushkil ho vo he behatar hota hai..!!***

 

subah to khushanuma the, kyon sham mujhe fir tanaha chhod gaye, ……… ……… manjil dikhe he the, ki zindagi fir rasta mod gaye..!!***

 

yado ke kasak..sanson ke thakan..ankhon mein name se hai. zindagi tujhame sab hai, fir kahe ke kame se hai…***

 

doobate hain zindagi,gam ke sagar mein kabhebach nikalane ke tumhe,bas as lagate ho mujhe***

 

arazoo,hasarat,tamanna aur khushe kuchh bhe nahe,zindagi mein too nahe to zindagi kuchh bhe nahe…***

 

hath pakad kar rok lete agar, tujhapar zara bhe zor hota mera,na rote ham yoon tere liye, agar hamare zindagi mein tere siva koe or hota…***

 

shikayat to bahut hai tujhase ai zindagi, par chup isalie hoon ki jo diya toone vo bhe bahuton ko naseb nahin hota***

 

intiha aj ishk ke kar de, ap ke nam zindagi kar de, tha andhera gareb khane mein, ap ne a ke roshane kar de,***

 

khvabon se mujhako aur na bahala sakege rahane de zindagi..! tera jadoo utar gaya….***

 

mujhe rat din ye khyal hai•vo nazar se mujhako gira na den•mere zindagi ka diya kahen•ye gamo ke andhe bujha na den***

 

tere muhabbat ke talab the to hath faila die varana, ham to apane zindagi ke lie bhe dua nahin karate…***

 

us ke chahare par likhe hai dil ke afasane kae, vo kitabe-zindagi ka ik sunahara bab hai.!saiarchh tags

 

zindagi shayari, zindagi hindi shayari, zindagi shayari, zindagi whatsapp status, zindagi hindi status, hindi shayari on zindagi, zindagi whatsapp status in hindi, zindagi hindi shayari, hindi shayari, zindagi, zindagi stetas, zindagi vhats ap stetas

 

 

3 thoughts on “Zindagi Hindi Shayari ज़िन्दगी हिंदी शायरी”

Leave a Comment