Hindi Jokes – Ek aadmi

Hindi Jokes – Pati Patni Jokes -Husband wife Jokes,

एक बार एक आदमी था और उसे हर रोज़ रात को शराब पी कर देर से घर लौटने की आदत थी।

उसे सबक सिखाने के लिए उस की बीवी ने एक तरकीब सोची। वो रात को जब पी कर आया तो वह पहले से ही चुडेल की तरह कपडे पहन, मेकअप करके बैठ गयी।

जैसे ही पति घर के अंदर घुसा तो वह उसे डराने लगी।

पहले तो आदमी यह सब हैरानी से देखता रहा और फिर थोडी देर बाद बोला, “चल बहुत हो गया अब भाग यहाँ से, मेरी बीवी आ गई न तो तुम्हारे खेर नही, तुम उस के सामने आखिर क्या हो?”

Hindi Jokes – Agar aap patni

Hindi Jokes – Pati Patni Jokes -Husband wife Jokes,

अगर आप पत्नी और कामवाली बाई के बीच के वार्तालाप पर गौर करें तो काफी सारे “वन-लाइनर्स” ऐसे होते हैं मानो एक प्रेमिका अपने प्रेमी से बात कर रही हो।

जैसे कि…

सुनो, कल टाइम से आ जाना हाँ।

कल दो बार आ जाना, देखो मैं इंतज़ार करूंगी, धोखा मत दे देना ऐन टाइम पे।

मैं कब से तुम्हारा इंतज़ार कर रही थी। आज बहुत देर कर दी, कल थोड़ा जल्दी आ जाना।

और सबसे क्लासिक, “देखो जब भी छोड़ना हो तो पहले से बता देना, एकदम से मत छोड़ना ताकि मैं दूसरा इंतजाम कर सकूं।”

Hindi Jokes – Santa ne banta se

Hindi Jokes –  Santa Banta Jokes

संता ने बंता से पूछा, “तुम खाली पेट होने पर कितने केले खा सकते हो?”

बंता ने कुछ पल सोचकर कहा, “मैं 6 केले खा सकता हूँ।”

संता ने हँसते हुए जवाब दिया, “गलत जवाब दोस्त, पहला केला खा लेने के बाद तुम्हारा पेट खाली कहां रहेगा, इसलिए खाली पेट होने पर तुम केवल एक ही केला खा सकते हो।”

बंता झेंपते हुए घर पहुंचा और जाते ही प्रीतो से सवाल किया, “तुम खाली पेट होने पर कितने केले खा सकती हो?”

प्रीतो ने भी कुछ पल सोचकर कहा, “मैं 4 केले खा सकती हूँ।”

बंता ने निराश स्वर में कहा, “अगर 6 कहती तो एक मस्त चुटकुला सुनाता तुझे।”

Hindi Jokes – Hamare jivan me 4

Hindi Jokes

हमारे जीवन में 4 नंबर की महत्ता:
4 दिनों का प्यार ओ रब्बा बड़ी लंबी जुदाई।

4 दिनों की चाँदनी फिर अँधेरी रात।

4 किताबें तो पढ़ ली, अब 4 पैसे भी कमा लो।

आखिर हमारी भी 4 लोगों में इज़्ज़त है।

ये बात 4 लोग सुनेंगे तो क्या कहेंगे कि 4 दिन की आई बहु ने ये कमाल कर दिया।

4 दिन तो घर में टिक के बैठ जाती।

तुम से क्या 4 कदम भी नहीं चला जाता?

वो आई और 4 बातें सुना कर चली गयी।

4 बोतल वोडका काम मेरा रोज़ का।

Hindi Jokes – Ek din santa bus se office

Hindi Jokes – Santa Banta Jokes

एक दिन संता ऑफिस जाने के लिए जब बस में चढ़ा तो कंडक्टर ने हँसते हुए पूछा, “कल रात आप ठीक-ठाक घर पहुँच गए थे? कहीं गिरे तो नहीं या रास्ता तो नहीं भूले थे घर का?”

संता (गुस्से से): क्यों, कल रात को मुझे क्या हुआ था?

कंडक्टर: कल रात आप नशे में टुन्न थे।

संता: तुम कैसे कह सकते हो कि कल रात मैं नशे में था। हमने तो आपस में कोई बात भी नहीं की थी।

कंडक्टर: जी, वो ऐसा है कि कल रात जब आप बस में बैठे हुए थे तब एक मैडम बस में चढ़ी थी और आपने उन्हें उठकर अपनी सीट पर बैठने के लिए कहा था।

संता (हैरानी से): तो क्या किसी महिला को सीट देना कोई गुनाह है?

कंडक्टर (हँसते हुए): गुनाह तो नहीं है पर जब आप ने उनको सीट के लिए पूछा उस समय बस तो पहले से ही खाली थी।

Hindi Jokes – Netao se bhari ek bus

Hindi Jokes

नेताओं से भरी एक बस जा रही थी अचानक बस सड़क से नीचे उतरकर खेत में एक पेड़ से जा टकराई।

खेत मालिक दौड़ता हुआ आया सब कुछ देखकर उसने एक गढ्ढा खोदना शुरू किया और फिर उसमें नेताओं को दफना दिया।

कुछ दिन बाद पुलिस को बस के एक्सीडेंट के बारे में पता लगा पुलिस ने किसान से पूछा कि सारे नेता कहां गए?

आदमी ने बताया कि उसने सभी को दफना दिया है पुलिस ने पूछा, सब मर गए थे क्या?

आदमी बोला, “नही, कुछ कह रहे थे कि वे नही मरे, पर आप तो जानते ही हैं कि ये नेता झूठ कितना बोलते हैं। अब उनकी बात का विश्वास नहीं किया जा सकता न?”

Hindi Jokes – ek karmchari apne vetan

Hindi Jokes – Office jokes

एक कर्मचारी अपने वेतन का चेक लेकर अपने मालिक के पास पहुंचा और बोला, “यह चेक मेरे वेतन से दो सौ रुपये कम का है।”

मालिक: पिछले महीने जब मैंने तुम्हें दो सौ रुपये ज्यादा का चेक दिया था तो तुमने कोई शिकायत नहीं की थी।

कर्मचारी: ठीक है, वह आपकी पहली गलती थी इसलिए मैंने ध्यान नहीं दिया। लेकिन अगर गलती करना आप अपनी आदत बना लेंगे तो मुझे कहना ही पड़ेगा ना।

Hindi Jokes – Joothe bartano se

Hindi Jokes – Pati Patni Jokes, Husband wife Jokes,

जूठे बरतनों के ढेर से घबराकर महिला बोली, “हे ईश्वर! यह अलादीन का जादुई चिराग पुरुषों को मिलता है, किसी महिला को क्यों नहीं मिलता? कोई जिन्न होता जो हमारा भी हाथ बंटा दिया करता।”

महिला की यह पुकार सुन ईश्वर स्वयं प्रकट हुए और बोले, “नियम के अनुसार एक महिला को एक बार में एक ही जिन्न मिल सकता है और हमारा रिकॉर्ड कहता है तुम्हारी शादी हो गयी है। तुम्हें तुम्हारा जिन्न मिल चुका है। उसे अभी-अभी तुमने सब्जी मंडी भेजा है, रास्ते में टेलर से तुम्हारी साडी लेते हुए, मकान मालिक को किराया देते हुए, तुम्हारे लिये झंडु बाम लायेगा, फिर काम पर जायेगा। वो मिनी जिन्न अर्थात पति थोड़ा टाइम खाऊ है, मगर चिराग वाले जिन्न से ज्यादा उपयोगी और टिकाऊ है।”

Hindi Jokes – Ek aadmi ko patni

Hindi Jokes – Pati Patni Jokes, Husband wife Jokes

एक आदमी को पत्नी के साथ मारपीट करने के जुर्म में अदालत में पेश किया गया। जज ने पति की जबानी पूरी घटना ध्यान से सुनी और भविष्य में अच्छा व्यवहार करने की चेतावनी देकर छोड़ दिया।

अगले ही दिन आदमी ने पत्नी को फिर मारा और फिर अदालत में पेश किया गया।

जज ने कड़क कर पूछा, “तुम्हारी दोबारा ऐसा करने की हिम्मत कैसे हुई? अदालत को मजाक समझते हो?”

आदमी ने अपनी सफाई में जज को बताया, “नहीं हुजूर, आप मेरी पूरी बात सुन लीजिए। कल जब आपने मुझे छोड़ दिया तो अपने आप को ताज़ा करने के लिए मैंने थोड़ी सी शराब पी ली। जब उससे कोई फर्क नहीं पड़ा तो थोड़ी-थोड़ी करके मैं पूरी बोतल पी गया। पीने के बाद जब मैं घर पहुंचा तो पत्नी चिल्लाने लगी ‘हरामी, आ गया नाली का पानी पीकर’?

हुजूर, मैंने चुपचाप सुन लिया, और कुछ नहीं कहा। फिर वह बोली, ‘कमीने, कुछ काम धंधा भी किया कर या केवल पैसे बर्बाद करने का ही ठेका ले रखा है’।

हुजूर, मैंने फिर भी कुछ नहीं कहा और सोने के लिए अपने कमरे में जाने लगा। वह पीछे से फिर चिल्लाई, ‘अगर उस जज में थोड़ी सी भी अकल होती तो तू आज जेल में होता’।

बस हुजूर, अदालत की तौहीन मुझसे बर्दाश्त नहीं हुई और मैंने इसे पीट दिया।”

बस फिर क्या था जज ने केस ख़ारिज किया और पति को बा-इज्ज़त बरी।

Hindi jokes – ek raat char

Hindi Jokes – Student jokes

एक रात, चार कॉलेज विद्यार्थी देर तक मस्ती करते रहे और जब होश आया तो अगली सुबह होने वाली परीक्षा का भूत उनके सामने आकर खड़ा हो गया।

परीक्षा से बचने के लिए उन्होंने एक योजना बनाई। मैकेनिकों जैसे गंदे और फटे पुराने कपड़े पहनकर वे प्रिंसिपल के सामने जा खड़े हुए और उन्हें अपनी दुर्दशा की जानकारी दी।

उन्होंने प्रिंसिपल को बताया कि कल रात वे चारों एक दोस्त की शादी में गए हुए थे। लौटते में गाड़ी का टायर पंक्चर हो गया। किसी तरह धक्का लगा-लगाकर गाड़ी को यहां तक लाए हैं। इतनी थकान है कि बैठना भी संभव नहीं दिखता, पेपर हल करना तो दूर की बात है। यदि आप हम चारों की परीक्षा आज के बजाय किसी और दिन ले लें तो बड़ी मेहरबानी होगी।

प्रिंसिपल साहब बड़ी आसानी से मान गए। उन्होंने तीन दिन बाद का समय दिया। विद्यार्थियों ने प्रिंसिपल साहब को धन्यवाद दिया और जाकर परीक्षा की तैयारी में लग गए।

तीन दिन बाद जब वे परीक्षा देने पहुंचे तो प्रिंसिपल ने बताया कि यह विशेष परीक्षा केवल उन चारों के लिए ही आयोजित की गई है। चारों को अलग-अलग कमरों में बैठना होगा।

चारों विद्यार्थी अपने-अपने नियत कमरों में जाकर बैठ गए। जो प्रश्नपत्र उन्हें दिया गया उसमें केवल दो ही प्रश्न थे:

प्र.1 आपका नाम क्या है? (2 अंक)

प्र.2 गाड़ी का कौन सा टायर पंक्चर हुआ था? (98 अंक)