Dil Shayari दिल शायरी

Dil Shayari
Dil Shayari – दिल शायरी

Dil Shayari

Here you can get the best collection of Dil Shayari, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Dil Shayari to your facebook friends.
You can send them as text SMS on Dil Shayari SMS for someone.
These Hindi sher on Dil is excellent in expressing your emotions and love.
For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari.

दिल शायरी

दिल शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस दिल हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी दिल शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। दिल लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, आपके प्यार और भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं। सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Dil status pictures – Dil dp pictures – Dil shayari pictures

*****************************************************

 

दिल के लिये हयात का पैगाम बन गईं
बैचैनियाँ सिमट के तेरा नाम बन गईं

***

ज़रूरी तो नहीं जो ख़ुशी दे उसी से प्यार हो।
क्योकि…
सच्ची मोहब्बत अक्सर दिल तोड़ने वालो से
ही होती है….!!

***

दिल टूटा है सम्भलने में कुछ वक्त तो लगेगा,

हर चीज़ इश्क़ तो नहीं कि एक पल में हो जाये।

***

गलत सुना था कि, इश्क आँखों से होता है..

दिल तो वो भी ले जाते है, जो पलकें तक नही उठाते.!

***

आज भी एक सवाल छिपा है,
दिल के किसी कोने में…….
क्या कमी रह गई थी,
तेरा होने में….?

***

मुझे आदत नहीं यूँ हर किसी पे मर मिटने की…!

पर तुझे देख कर दिल ने सोचने तक की मोहलत ना दी ।।

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

तेरा नाम था आज किसी अजनबी की जुबान पे …

बात तो जरा सी थी, पर दिल ने बुरा मान
लिया …

***

आज फिर दिल ने इक तमन्ना की,
आज फिर दिल को हमने समझाया…

***

“” इस दिल को अगर तेरा एहसास नही होता ….
तू दूर भी रहकर यूं दिल के पास नही होता ….
इस दिल ने तेरी चाहत कुछ ऐसे बसा ली है ….
इक लम्हा भी तुझ बिन कुछ खास नही होता ..

***

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Dil status pictures – Dil dp pictures – Dil shayari pictures

टूटा तारा देख कर दिल ने कहा मांग ले तू फ़रियाद कोई,
मैंने कहा जो खुद टूट रहा है, कैसे पूरी करेगा वो मुराद कोई..टूटा तारा देख

***

मैने सो बार कहा दिल से कि भूल जाओ उसे..
दिल ने सो बार कहा कि तु दिल से नही कहता …!!!

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

जब दिल ने तड़पना छोड़ दिया,
जलवों ने मचलना छोड़ दिया

पोशाक बहारों ने बदली,
फूलों ने महकना छोड़ दिया

***

ख्वाब दिल ने तुझे पाने के देख लिये…..
वरना खुशमिजाज हुआ करते थे,
हम भी कभी

***

दिल ने सोचा था उसे टूट कर चाहेंगे,
सच में चाहा भी बहुत टूटे भी बहुत.

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

गुजरा फिर यादों का झोंका ,
दिल ने फिर साँसों को रोका….

***

तेरे लिए इस दिल ने कभी बुरा नही चाहा ।
हां……. यह और बात है कि
……………… मुझे साबित करना नही आया।

***

दिल ने एक उम्मीद बरकरार रखी है….ऐ दोस्तों….,

कही पढ़ लिया था कि सच्ची मोहब्बत लौटकर आती है…!!

***

दिल ने आज फिर तेरे दीदार की ख़्वाहिश रखी है,
फुरसत मिले तो ख्वाब में आ जाना…

***

आज किसी ने बातों बातों में, 
जब उन का नाम लिया
दिल ने जैसे ठोकर खाई, 
दर्द ने बढ़कर थाम लिया

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

नहीं में इक़रार महबूब के दिल ने पाया।
उसके नहीं से करार दिल को आया।।
एक नहीं ने मंजिले मोहब्बत को आसाँ बनाया।
नहीं ने दिल की सोई हुई उमंगो को फिर से जगाया।।

***

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी

***

मैंने कहा वो अजनबी है ।
दिल ने कहा ये दिल की लगी है ।।
मैंने कहा वो सपना है ।
दिल ने कहा फिर भी अपना है ।।
मैंने कहा वो दो पल की मुलाकात है ।
दिल ने कहा ये सदियों का साथ है ।।
मैंने कहा वो मेरी भूल है ।
दिल ने कहा फिर भी कबूल है ।।
मैंने कहा वो मेरी हार है ।
दिल ने कहा यही तो प्यार है ।।

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

दिल ने ना जाने कब ….दर्द से , 
दोस्ती कर ली …
हम तो बस …………….
खामोश निगाहो से ….
ज़िंदगी के कहकहे देखते रहे ….

***

अभी तक मौजूद हैं इस दिल पर तेरे कदमों के निशान, हमने तेरे बाद किसी को इस राह से गुजरने नहीं दिया…

***

क़भी चुपके से मुस्कुरा कर देखना, दिल पर लगे पहरे हटा कर देख़ना,
ये ज़िन्दग़ी तेरी खिलखिला उठेगी, ख़ुद पर कुछ लम्हें लुटा कर देखना |

***

मेरी चाहत देखनी है तो मेरे दिल पर अपना दिल रखकर देख ….. तेरी धडकने न बड़ जाये तो मेरी महोब्बत ठुकरा देना

***

एक कहानी सी दिल पर लिखी रह गयी

वो नज़र जो मुझे देखती रह गयी

रंग सारे ही कोई चुरा ले गया

मेरी तस्वीर अधूरी पड़ी रह गयी …

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

धडकनो को भी रास्ता दे दीजिए जनाब * * * * *आप तो सारे दिल पर कब्जा किए बैठे है

***

मेरे दिल पर जितने तीर
अपनों के लगते जायेगे !!
मेरी कलम में अश्क
उतने ही भरते जायेगे !!
उतारूँगा जिस दिन
इन अश्को को कोरे कागज पर !!
कशम उस खुदा की यारो
मेरे दुश्मन भी मुझे पाने की
चाहत में !!
तड़प-तड़प कर मर जायेगे !!

***

दिल पर हम बेवज़ह इल्ज़ाम लगाते हैं , धोखा तो अक्सर धड़कन दिया करती है I

***

तेरी आँखों में हमे जाने क्या नज़र आया! तेरी यादों का दिल पर सरुर है छाया!

***

पत्थर तो बहुत मारे थे लोगो ने मुझे,,,लेकिन जो दिल पर आ के लगा वो किसी अपने ने मारा था,,,

***

और तो कौन है जो मुझ को तसल्ली देता हाथ रख देती हैं दिल पर तेरी बातें अक्सर

***

दिल पर भी आओ एक नज़र डालते चलें.. शायद छुपे हुए हों यहीं दिन बहार के

***

कुछ नशा तो आपकी बात का है कुछ नशा तो आधी रात का है हमे आप यूँ ही शराबी ना कहिये इस दिल पर असर तो आप से मुलाकात का है

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

तुम आओ और कभी दस्तक दो इस दिल पर, प्यार उम्मीद से कम निकले तो सज़ा-ऐ-मौत दे देना……..

***

दोस्ती हर चहरे की मीठी मुस्कान होती है दोस्ती ही सुख दुख की पहचान होती है रूठ भी गऐ हम तो दिल पर मत लेना क्योकि दोस्ती जरा सी नादान होती है

***

ना जाने वो कौनसी बात थी जो ज़हन में आती रही समझा नहीं कुछ दिल पर दिनभर मुझे रुलाती रही

***

वो फैसले कर लेते है .. और हम मजबूर है यह जिंदगी ना सही दिल पर हुक्म तो उनका है .

***

दिमाग पर ज़ोर देकर गिनते हो गलतियां मेरी….. कभी दिल पर हाथ रख के पूछना कि कसूर किसका है…..!!!!!

***

तेरे आशियाने में मेरा नाम न था, पर मेरे दिल पर सिर्फ़ तेरा ही नाम था ।

***

तमन्ना हो अगर मिलने की ,, तो हाथ रखो दिल पर … हम धड़कनों में मिल जायेंगे

***

ना हम रहे दिल लगाने के काबिल ना दिल रहा ग़म उठाने के काबिल लगे उसकी यादों के जो ज़ख़्म दिल पर ना छोड़ा उसने फिर मुस्कुराने के काबिल

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

वार दिल पर जालीम बे-हिसाब करती है, वोह बिखरा कर जुल्फें, हिजाब करती है

***

कुछ ख्वाब सुहाने टूट गए, कुछ यार पुराने रूठ गए., कुछ जख्म लगे थे इस दिल पर., कुछ अंदर से हम टूट गए,

***

चंद चेहरे लगेंगे अपने से , खुद को पर बेक़रार मत करना , आख़िरश दिल्लगी लगी दिल पर? हम न कहते थे प्यार मत करना…”

***

मेरे दिल में ज़्यादा देर तक रुकता नहीं कोई, लोग कहते हैं मेरे दिल पर साया है तेरा…

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

इश्क़ करना है तो फिर हद से गुज़ारना होगा… लहू लहू हो जाए दिल पर आँख न भरने पाए

***

दिल पर जो यादगार रहे उस के मक्र की ऐसा भी कोई नक़्श बना लेना चाहिए

***

उनकी दिल्लगी तो देखो…हमारे दिल पर भारी है… वो तो चल दिए हंसकर, यहाँ बरसात जारी है…!!!

*** (Dil Shayari दिल शायरी)

नज़रों से ना देखो हमें.. तुम में हम छुप जायेंगे.. अपने दिल पर हाथ रखो तुम.. हम वही तुम्हें मिल जायेंगे..!

***

ठान लिया था कि अब और इश्क पर नहीं लिखेंगे.. पर उनका दिल पर दस्तक हुई और अल्फ़ाज़ बग़ावत कर बैठे….

***


 


Hinglish

dil shayari

dil shayari ka sabase achchha sangrah yahan upalabdh hai, ap is dil hindi shayari ko apane hindi whatsapp status ke roop mein upayog kar sakaten hai ya ap is behataren hindi dil shayari ko apane doston ko facebook par bhe bhej sakaten hain. dil lafz par hindi ke yah sher, apake pyar aur bhavanaon ko vyakt karane mein apake madad kar sakaten hain. sabhe hindi shayari ke list yahan hain. hindi shayari*****************************************************

dil ke liye hayat ka paigam ban gaembaichainiyan simat ke tera nam ban gaen***

zaroore to nahin jo khushe de use se pyar ho.kyoki…sachche mohabbat aksar dil todane valo sehe hote hai….!!***

dil toota hai sambhalane mein kuchh vakt to lagega,har chez ishq to nahin ki ek pal mein ho jaye.***

galat suna tha ki, ishk ankhon se hota hai..dil to vo bhe le jate hai, jo palaken tak nahe uthate.!**

*aj bhe ek saval chhipa hai,dil ke kise kone mein…….kya kame rah gae the,tera hone mein….?***

mujhe adat nahin yoon har kise pe mar mitane ke…!par tujhe dekh kar dil ne sochane tak ke mohalat na de ..***

(dil shayari dil shayari)tera nam tha aj kise ajanabe ke juban pe …bat to jara se the, par dil ne bura manaliya …**

*aj fir dil ne ik tamanna ke,aj fir dil ko hamane samajhaya…***””

is dil ko agar tera ehasas nahe hota ….too door bhe rahakar yoon dil ke pas nahe hota ….is dil ne tere chahat kuchh aise basa le hai ….ik lamha bhe tujh bin kuchh khas nahe hota ..***

toota tara dekh kar dil ne kaha mang le too fariyad koe,mainne kaha jo khud toot raha hai, kaise poore karega vo murad koe..toota tara dekh**

*maine so bar kaha dil se ki bhool jao use..dil ne so bar kaha ki tu dil se nahe kahata …!!!***

(dil shayari dil shayari)jab dil ne tadapana chhod diya,jalavon ne machalana chhod diyaposhak baharon ne badale,foolon ne mahakana chhod diya**

*khvab dil ne tujhe pane ke dekh liye…..varana khushamijaj hua karate the,ham bhe kabhe***

dil ne socha tha use toot kar chahenge,sach mein chaha bhe bahut toote bhe bahut.***

(dil shayari dil shayari)gujara fir yadon ka jhonka ,dil ne fir sanson ko roka….**

*tere lie is dil ne kabhe bura nahe chaha .han……. yah aur bat hai ki……………… mujhe sabit karana nahe aya.***

“dil ne ek ummed barakarar rakhe hai….ai doston….,kahe padh liya tha ki sachche mohabbat lautakar ate hai…!!***dil ne aj fir tere dedar ke khvahish rakhe hai,furasat mile to khvab mein a jana…***

aj kise ne baton baton mein, jab un ka nam liyadil ne jaise thokar khae, dard ne badhakar tham liya***

(dil shayari dil shayari)nahin mein iqarar mahaboob ke dil ne paya.usake nahin se karar dil ko aya..ek nahin ne manjile mohabbat ko asan banaya.nahin ne dil ke soe hue umango ko fir se jagaya..***

toote hue dil ne bhe usake lie dua mange,mere sanson ne har pal usake khushe mange,na jane kaise dillage the us bevafa se,ke mainne akhire khvahish mein bhe usake vafa mange***

mainne kaha vo ajanabe hai .dil ne kaha ye dil ke lage hai ..mainne kaha vo sapana hai .dil ne kaha fir bhe apana hai ..mainne kaha vo do pal ke mulakat hai .dil ne kaha ye sadiyon ka sath hai ..mainne kaha vo mere bhool hai .dil ne kaha fir bhe kabool hai ..mainne kaha vo mere har hai .dil ne kaha yahe to pyar hai ..***

(dil shayari dil shayari)dil ne na jane kab ….dard se , doste kar le …ham to bas …………….khamosh nigaho se ….zindage ke kahakahe dekhate rahe ….***

abhe tak maujood hain is dil par tere kadamon ke nishan, hamane tere bad kise ko is rah se gujarane nahin diya…**

*qabhe chupake se muskura kar dekhana, dil par lage pahare hata kar dekhana,ye zindage tere khilakhila uthege, khud par kuchh lamhen luta kar dekhana |***

mere chahat dekhane hai to mere dil par apana dil rakhakar dekh ….. tere dhadakane na bad jaye to mere mahobbat thukara dena***

ek kahane se dil par likhe rah gaye vo nazar jo mujhe dekhate rah gaye rang sare he koe chura le gaya mere tasver adhoore pade rah gaye …***

(dil shayari dil shayari)dhadakano ko bhe rasta de dejie janab * * * *

*ap to sare dil par kabja kie baithe hai***

mere dil par jitane terapanon ke lagate jayege !!mere kalam mein ashkutane he bharate jayege !!utaroonga jis dinin ashko ko kore kagaj par !!kasham us khuda ke yaromere dushman bhe mujhe pane kechahat mein !!tadap-tadap kar mar jayege !!

dil par ham bevazah ilzam lagate hain , dhokha to aksar dhadakan diya karate hai i***

tere ankhon mein hame jane kya nazar aya! tere yadon ka dil par sarur hai chhaya!***

patthar to bahut mare the logo ne mujhe,,,lekin jo dil par a ke laga vo kise apane ne mara tha,,,***

aur to kaun hai jo mujh ko tasalle deta hath rakh dete hain dil par tere baten aksar***

dil par bhe ao ek nazar dalate chalen.. shayad chhupe hue hon yahen din bahar ke***

kuchh nasha to apake bat ka hai kuchh nasha to adhe rat ka hai hame ap yoon he sharabe na kahiye is dil par asar to ap se mulakat ka hai***

(dil shayari dil shayari)tum ao aur kabhe dastak do is dil par, pyar ummed se kam nikale to saza-ai-maut de dena……..***

doste har chahare ke methe muskan hote hai doste he sukh dukh ke pahachan hote hai rooth bhe gai ham to dil par mat lena kyoki doste jara se nadan hote hai***

na jane vo kaunase bat the jo zahan mein ate rahe samajha nahin kuchh dil par dinabhar mujhe rulate rahe**

*vo faisale kar lete hai .. aur ham majaboor hai yah jindage na sahe dil par hukm to unaka hai .***

dimag par zor dekar ginate ho galatiyan mere….. kabhe dil par hath rakh ke poochhana ki kasoor kisaka hai…..!!!!!***

tere ashiyane mein mera nam na tha, par mere dil par sirf tera he nam tha .***

tamanna ho agar milane ke ,, to hath rakho dil par … ham dhadakanon mein mil jayenge***

na ham rahe dil lagane ke kabil na dil raha gam uthane ke kabil lage usake yadon ke jo zakhm dil par na chhoda usane fir muskurane ke kabil***

(dil shayari dil shayari)var dil par jalem be-hisab karate hai, voh bikhara kar julfen, hijab karate hai***

kuchh khvab suhane toot gae, kuchh yar purane rooth gae., kuchh jakhm lage the is dil par., kuchh andar se ham toot gae,***

chand chehare lagenge apane se , khud ko par beqarar mat karana , akhirash dillage lage dil par? ham na kahate the pyar mat karana…”***

mere dil mein zyada der tak rukata nahin koe, log kahate hain mere dil par saya hai tera…***

(dil shayari dil shayari)ishq karana hai to fir had se guzarana hoga… lahoo lahoo ho jae dil par ankh na bharane pae***

dil par jo yadagar rahe us ke makr ke aisa bhe koe naqsh bana lena chahie***

unake dillage to dekho…hamare dil par bhare hai… vo to chal die hansakar, yahan barasat jare hai…!!!***

(dil shayari dil shayari)nazaron se na dekho hamen.. tum mein ham chhup jayenge.. apane dil par hath rakho tum.. ham vahe tumhen mil jayenge..!***

than liya tha ki ab aur ishk par nahin likhenge.. par unaka dil par dastak hue aur alfaz bagavat kar baithe….

 

Leave a Comment