Kabir ke dohe in Hindi

Kabir ke dohe in Hindi

Hindi Quotes – Kabir ke dohe in Hindi

अति का भला न बोलना, अति की भली न चुप,
अति का भला न बरसना, अति की भली न धूप।

कबीर के दोहे

ना तो बहुत अधिक बोलना अच्छा है और ना ही ज़रुरत से ज़्यादा चुप रहना ही ठीक है ,
जैसे बहुत अधिक बारिश भी अच्छी नहीं और बहुत अधिक धुप भी अच्छी नहीं होती,
मतलब हर चीज़ की अति बुरी होती है।

Kabir ke dohe in Hindi
Kabir ke dohe in Hindi

Leave a Reply