Hindi Kahani चैन की ज़िन्दगी - Net In Hindi.com

Hindi Kahani चैन की ज़िन्दगी

hindi kahani -  chain ki zindagi

hindi kahani – chain ki zindagi

Hindi Kahani – Peacefull Life

हिंदी कहानी – चैन की ज़िन्दगी

See List of All Hindi Stories

hindi kahani fisherman2

hindi kahani – chain ki zindagi

एक बार एक मछुआरा समंदर के किनारे, एक पेड़ की ठंडी छाँव में बैठकर, आराम से चाय पी रहा था। तभी, एक अमीर व्यापारी, जो की वहां से गुज़र रहा था, उसके पास आकर बैठ गया, और कुछ देर बाद कहने लगा की वह आराम से क्यों बैठा है, और काम क्यों नहीं कर रहा है!!! उसकी बात सुनकर, मछुआरे ने कहा की उसने आज के लिए काफी मछलियाँ पकड़ ली हैं, जो की उसके परिवार के लिये पर्याप्त हैं।

यह जवाब सुनकर व्यापारी गुस्से से बोला “तुम बेकार बैठकर अपना समय क्यों बर्बाद कर रहे हो!? तुम्हे तो और मछलियाँ पकड़नी चाहिए।” (Hindi Kahani)

“अच्छा ! में और ज़्यादा मछलियाँ पकड़ कर क्या करूंगा” मछुआरे ने बीड़ी सुलगाते हुए पुछा?

व्यापारी ने कहा ” तुम और मछलियाँ पकड़ कर उन्हें बाजार में बेचकर, और ज़्यादा पैसा कमा सकते हो, तुम उस पैसे से एक बड़ी नाव खरीद सकते हो।”
“अच्छा, फिर में क्या करूंगा? मछुआरे ने व्यापारी से पुछा।
“बड़ी नाव की मदद से तुम समंदर में दूर दूर तक जा सकते हो, इससे तुम और ज़्यादा मछलियाँ पकड़ कर, ज़्यादा पैसे कमा सकते हो” व्यापारी ने समझाते हुए कहा। (Hindi Kahani)

“अच्छा, फिर में क्या करूंगा? मछुआरे ने व्यापारी से फिर पुछा।
व्यापारी ने कहा “इसके बाद, तुम और अधिक नावें खरीद सकते हो, तुम कई लोगों को काम पर रख सकते हो, इससे तुम और ज़्यादा धन कमा सकते हो.”
” ज़्यादा धन कमा लेने के बाद में क्या करूंगा? मछुआरे ने मुस्कुराते हुए से पुछा।
व्यापारी ने जवाब दिया ” ओह! फिर तो तुम मेरी तरह एक अमीर व्यापारी बन जाओगे !!!”

“अमीर व्यापारी बन जाने के बाद भला में क्या करूंगा? मछुआरे ने पुछा।
” उसके बाद तुम अपनी ज़िन्दगी चैन और सुकून से गुज़ार सकते हो! व्यापारी ने जवाब दिया।
” आपका क्या ख्याल है, में अभी क्या कर रहा हूँ? ” मछुआरे ने लगभग हँसते हुए कहा।  (Hindi Kahani)

आपको, चैन और सुकून की ज़िन्दगी जीने के लिए, कभी ना आने वाले कल का इंतज़ार करने की ज़रुरत नहीं है, और ना ही, बहुत अमीर बन जाने की ज़रुरत है! आपकी ज़िन्दगी तो यह पल है, जो आप आज गुज़ार रहें हैं, ज़िन्दगी के इन्ही पलों में आने वाली, छोटी छोटी खुशियों का आनंद लेकर, आप एक सुखी और शांत जीवन जी सकते हैं।

hindi kahani fisherman

hindi kahani – chain ki zindagi

 
Moral of this Hindi Kahani is
You dont need to wait for tommorow or even to  earn a lot of money to enjoy your life peacefully but your life is at this moment !!!

Hindi Kahani, Kahani in Hindi, Hindi Inspiring Story, Inspiring story in hindi, Hindi Prerak kahani,

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *