Love Shayri – वक़्त के चेहरे पर

Love Shayri – वक़्त के चेहरे पर

Love Shayri –

हिंदी शायरी,

वक़्त के चेहरे पर जमी धुल बन कर रह गया हूँ,
में उसकी ज़िन्द्गगी की किताब में रखा फूल बन के रह गया हूँ।

Love Shayri
Love Shayri

Leave a Reply