बड़े शाकाहारी डायनासौर के जीवाश्म की खोज

200 मिलीयन साल पहले भी थे बड़े शाकाहारी डायनासौर

हाल ही में दुनिया का सबसे बड़ा डायनासोर की हड्डियां कहा मिली है? Recently discovered dinosaurs hindi

अगर हम आज से 200 मिलीयन साल पहले की दुनिया में जाएं तो हम वहां के जंगलों में एक बहुत ही बड़े डायनासोर को देखकर आश्चर्यचकित हो जाएंगे अभी हाल ही में इस बड़े डायनासोर की खोज हुई है वैज्ञानिकों को इस बड़े डायनासोर के जीवाश्म मिले हैं इसका नाम Ledumahadi mafube रखा गया है इसका मतलब होता है सुबह गिरने वाली एक बड़ी बिजली “a giant thunderclap at dawn.”

हाल ही में खोजे गए इस बड़े डायनासोर के फॉसिल को साउथ अफ्रीका में खोजा गया है यह शाकाहारी डायनासोर ब्रंटोसोरस का रिश्तेदार है इसका वजन करीब करीब 26000 पाउंड 11793 किलो होता था यह किसी बड़े अफ्रीकी हाथी के वजन से 2 गुना है.

साऊथ अफ्रीका में पाया गया बड़ा डायनासौर 

जिस क्षेत्र में इस बड़े डायनासोर को खोजा गया उस क्षेत्र में साउथ अफ्रीका की भाषा Sesotho बोली जाती है इसी भाषा में इसका नाम  Ledumahadi mafube रखा गया है  इसका यह नाम इसके बड़े आकार को प्रदर्शित करता है तथा यह बताता है कि है की यह एक शाकाहारी डायनासोर था,  साउथ अफ्रीका की भाषा में किसी डायनासोर के नाम रखने से साउथ अफ्रीका के मूल संस्कृति का भी सम्मान किया गया है.

डायनासौर के समय सारे महाद्वीप एक थे 

यह नया खोजा गया बड़ा डायनासोर बड़े शाकाहारी डायनासोर का रिश्तेदार है जो कि अर्जेंटीना में पाया जाता था,  इस बात से यह भी पता चलता है कि उस काल में सभी महाद्वीप आपस में जुड़े हुए थे जिसे पेनजिया कहा जाता है, प्राचीन काल में सभी महाद्वीप आपस में जुड़े हुए थे और इस बड़े महाद्वीप को पेंजिया नाम दिया गया था, यह जुरासिक काल में पाया जाता था इसके बाद सभी महाद्वीप धीरे-धीरे अलग हो गए तथा अर्जेंटीना दक्षिण अमेरिका में चला गया और दक्षिण अफ्रीका अफ्रीकी महाद्वीप से जुड़ा रहा, यह खोज हमें यह बताती है कि डायनासोर किस प्रकार से अफ्रीका से दक्षिण अमेरिका में आसानी से आ जा सकते थे  क्योंकि 200 मिलीयन साल पहले यह दोनों पास पास थे, उस समय का इलाका एकदम अलग था जहां आज इस इलाके में पर्वत पाए जाते हैं उस समय यह इलाका एक मैदान था इसमें छोटी-छोटी नदियां बहती थी यह नदियां बहुत जल्दी सूख जाती थी इन नदियों के जल्दी सूख जाने से ही फॉसिल्स का निर्माण होता था.

साउथ अफ्रीका के क्षेत्र में कई और डायनासोर की फॉसिल्स भी प्राप्त हुए इससे यह पता चलता है कि यह क्षेत्र प्राचीन अवशेषों से भरा हुआ है इस बड़े डायनासोर के अलावा यहां Megapnosaurus,  और सबसे पहले स्तनधारी प्राणियों के जीवाश्म तथा प्राचीन काल के कछुओं के जीवाश्म प्राप्त हुए हैं

शाकाहारी डायनासौर के विकास की कहानी 

Steven Brusatte, जो कि एक paleontologist हैं  ने मीडिया को बताया कि इस खोज से हमें यह पता चलता है कि शाकाहारी डायनासोर किस प्रकार विकसित हो रहे थे, और लगातार बड़े आकार के होते जा रहे थे,  यह नया खोजा गया डायनासोर Brontosaurus और Diplodocus का रिश्तेदार था इसलिए इस बात पर आश्चर्य नहीं होता कि इसका आकार बड़ा था , इस वर्ग के सभी डायनासोर का आकार विशाल होता था, इससे यह पता चला है कि Ledumahadi दूसरे शाकाहारी डायनासोरों  से एकदम अलग विकसित हुआ है.

शाकाहारी डायनासोरों ने चार पैरों पर चलना बहुत पहले शुरू कर दिया था और 200 मिलियन साल पहले ही 12 टन वजन के बड़े डायनासोर पृथ्वी पर पाए जाते थे.

Tags : Recently discovered dinosaur hindi, biggest dinosaur discovered, oldest dinosaur discovered, discovery of dinosaur, Ledumahadi mafube hindi

Taj Mohammed Sheikh

हेलो दोस्तों, में एक Freelance Blogger हूँ , नेट इन हिंदी .com वेबसाईट बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा में मनोरंजक और उपयोगी सामग्री प्रस्तुत करना है, यहाँ आपको विज्ञान, सेहत, शायरी, प्रेरक कहानिया, सुविचार और अन्य विषयों पर अच्छे लेख पढ़ने को मिलते रहेंगे. धन्यवाद!

You may also like...

Leave a Reply