क्या पक्षियों का विकास डायनासोर से हुआ है?

पक्षी और डायनासोर

आपने कई बार सुना होगा कि पक्षी डायनासोर से संबंधित है, पर वास्तव में ऐसा नहीं है पक्षी डायनासोरों से संबंधित नहीं है बल्कि पक्षी डायनासोर ही हैं!  आज से 6 करोड़ 50 लाख साल पहले पृथ्वी पर एक महाविनाश हुआ था जिसमें कि सारे डायनासोर मारे गए परंतु डायनासोरों की उड़ने वाली प्रजातियों में से कुछ प्रजातियां बाच गई इन्हीं प्रजातियों से आगे चलकर पक्षियों का विकास हुआ.

पृथ्वी पर  तरह-तरह के डायनासोर पाए जाते थे आज से  23 करोड़ साल पहले डायनासोरों का उदय हुआ करोड़ों सालों तक डायनासोर पृथ्वी के प्रमुख जीव बने रहे है लेकिन एक उल्का पिंड के पृथ्वी से आकर टकराने की वजह से सारे डायनासोर नष्ट हो गए.

आइये जानते हैं की डायनासोर से पक्षियों का विकास केसे हुआ ?

डायनासोरों को 2 वर्ग में बांटा गया है Saurischia and Ornithischia.

Saurischia प्रकार के डायनासोरों में सभी तरह के मांसाहारी और कुछ शाकाहारी डायनासोर आते हैं इस वर्ग में Theropods  जैसे कि T-Rex और velociraptor डायनासोर आते हैं, इस वर्ग में बड़े-बड़े शाकाहारी sauropods डायनासोर को भी शामिल किया जाता है.

Ornithischia  इस प्रकार के डायनासोर वर्ग में चोंच  वाले शाकाहारी डायनासोर आते हैं इस वर्ग के प्रमुख डायनासोर Stegosaurus और Iguanodon हैं.

वैज्ञानिकों के अनुसार पक्षियों का विकास Saurischian प्रकार के डायनासोरों से हुआ है, वैज्ञानिक बताते हैं कि जुरासिक काल के दौरान आज से लगभग 150 मिलीयन साल पहले प्रथम प्रकार के पक्षी प्रकट होना शुरू हो गए थे.

जुरासिक काल में ही उत्पन्न हो गए थे पक्षी

आजकल पाए जाने वाले पक्षी Maniraptora  ग्रुप के theropods प्रकार के डायनासोरों से उत्पन्न हुए हैं,  हालांकि यह सुनने में थोड़ा अजीब लगता है कि इनका विकास डायनासोरों से हुआ है,  परन्तु आज कई सारे पैलियोनटोलॉजिस्ट यह मानते हैं कि कई डायनासोर पंखों से ढके हुए थे तथा उनकी हड्डियां हल्की होती थी ये  ठीक पक्षियों की तरह थी तथा सभी डायनासोर अंडे दिया करते थे, वर्तमान समय के पक्षियों और डायनासोरों में काफी समानता पाई गयी हैं.

Birds are dinosaurs hindi, birds evolved from dinosaurs hindi, birds and dinosaurs, how birds evolved hindi, birds are cousin of dinosaur hindi,  Archaeopterix in hindi,

डायनासोरों से पक्षियों का विकास करोड़ों सालों के दौरान हुआ,  सबसे प्रसिद्ध जीवाश्म जो हमें मिला है वह Archaeopterix डायनासोर का जीवाश्म, यह पक्षी और डायनासोर के बीच का एक प्राणी था. Archaeopteryx आज से 150 मिलीयन साल पहले जुरासिक काल के अंत में पाया जाता था,  इस जीवाश्म को देखने से साफ पता चलता है कि यह एक transitional species है इसमें कुछ गुण डायनासोर के हैं तथा कुछ गुण पक्षी के हैं, जीवाश्म में जो पंखों के निशान पाए गए हैं वह काफी विकसित हैं यह इस बात का प्रमाण है कि पंखों का विकास जुरासिक काल के अंत से काफी पहले शुरू हो गया था.

पक्षियों का विकास करोड़ों साल में हुआ, करोड़ो साल तक पक्षियों के पंजे वाले पंख और दांत होते थे वर्तमान समय में पाए जाने वाले पक्षी आज से 100 मिलियन साल पहले प्रकट हुए यह डायनासोरों का एक प्रकार थे क्रेतेशियस  युग के अंत में जब डायनासोरों का महाविनाश हुआ तब यह पक्षी जैसे डायनासोर बचे रहे

महाविनाश के 6 करोड़ 50 लाख साल की अवधि में  कई प्रकार के पक्षियों की प्रजातियां उत्पन्न हो गई क्योंकि पक्षी उड़कर कर एक स्थान से दूसरे स्थान तक आसानी से जा सकते थे इसलिए  पक्षियों की प्रजातियां पूरी पृथ्वी के कोने कोने में फैल गई तथा अलग-अलग आवास और मौसम हिसाब से अलग-अलग प्रकार के पक्षियों की प्रजातियां उत्पन्न हुई.

कई बार पक्षियों को डायनासोर का कज़िन कहा जाता है जो कि सही नहीं है पक्षी डायनासोरों के चचेरे भाई नहीं बल्कि डायनासोर ही हैं.  

Birds are dinosaurs hindi, birds evolved from dinosaurs hindi, birds and dinosaurs, how birds evolved hindi, birds are cousin of dinosaur hindi,  Archaeopterix in hindi,

 

 

Taj Mohammed Sheikh

हेलो दोस्तों, में एक Freelance Blogger हूँ , नेट इन हिंदी .com वेबसाईट बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा में मनोरंजक और उपयोगी सामग्री प्रस्तुत करना है, यहाँ आपको विज्ञान, सेहत, शायरी, प्रेरक कहानिया, सुविचार और अन्य विषयों पर अच्छे लेख पढ़ने को मिलते रहेंगे. धन्यवाद!

You may also like...

Leave a Reply