Taqdeer Hindi Shayari तक़दीर हिंदी शायरी

taqdeer hindi shayari
Taqdeer Hindi Shayari तक़दीर हिंदी शायरी

Taqdeer Hindi Shayari

तक़दीर हिंदी शायरी

Here you can get the best collection of Hindi Shayari on Taqdeer, You can use it as your hindi whatsapp status or can send this Taqdeer Hindi Shayari to your facebook friends. These Hindi sher on Taqdeer is excellent in expressing your emotions.

For other subject list of all Hindi Shayari is here Hindi Shayari .

तक़दीर पर हिंदी शायरी का सबसे अच्छा संग्रह यहाँ उपलब्ध है, आप इस तक़दीर हिंदी शायरी को अपने हिंदी वाहट्सएप्प स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकतें है या आप इस बेहतरीन हिंदी शायरी को अपने दोस्तों को फेसबुक पर भी भेज सकतें हैं। तक़दीर लफ्ज़ पर हिंदी के यह शेर, आपकी भावनाओं को व्यक्त करने में आपकी मदद कर सकतें हैं।

सभी हिंदी शायरी की लिस्ट यहाँ हैं। Hindi Shayari

**************************

ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले

ख़ुदा बंदे से ख़ुद पूछे बता तेरी रज़ा क्या है~इक़बाल

**** Taqdeer Hindi Shayari

मेरी झोली मे कुछ अल्फ़ाज़ दुआ के डालदो

क्या पता तुम्हारे लब हिले और मेरी तक़दीर संवर जाऐ

***

तक़दीर के आईने में मेरी तस्वीर खो गई आज हमेशा के लिए मेरी रूह सो गई मोहब्बत करके क्या पाया मैंने वो कल मेरी थी आज किसी और की हो गई….!

***

मुझे मालूम है मेरा मुक़द्दर तुम नहीं… लेकिन….

मेरी तक़दीर से छुप कर मेरे इक बार हो जाओ..!!

***

कड़ी से कड़ी जोङते जाओ तो जंजीर बन जाती है,

मेहनत पे मेहनत करो तो तक़दीर बन जाती है !

***

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Taqdeer Status Pictures – Taqdeer dp Pictures – Taqdeer Shayari Pictures

हमारी रहगुज़र मे देखो कया हम पे गुजर रही है ,

हम तो लिख रहे है तक़दीर मगर जाने कयो हर तस्वीर बदल रही है

***

तक़दीर ने हमें आज़माया बहुत हमने उसे मनाया बहुत

जिसकी ज़िंदगी ख़ुशियों से सजा दी उसी शख़्स नें हमें रुलाया बहुत

*** Taqdeer Hindi Shayari

तक़दीर के पन्ने ख़ाली हैं

औरभरे हैं हाथ लकीरों से..

***

ये बात और है के तक़दीर लिपट के रोई वरना

बाज़ू तो हमनें तुम्हे देख कर ही फैलाए थे

***

मेहरबानी जाते-जाते मुझपे कर गया  गुज़रता सा लम्हा एक दामन भर गया  तेरा नज़ारा मिला, रौशन सितारा मिला  तक़दीर की कश्तियों को किनारा मिला

*** Taqdeer Hindi Shayari

अपनी तक़दीर की आजमाइश ना कर, अपने गमो की नुमाइश ना कर, जो तेरा है तेरे पास खुद आएगा, रोज रोज उसे पाने की ख्वाहिश ना कर…

***

अपने प्यार को देख कर अक्सर ये एहसास होता हे,

जो तक़दीर में नहीं होता वही इंसान ख़ास होता हे !!

***

तेरे दामन में गुलिस्ता भी है, वीराने भी

मेरा हासिल मेरी तक़दीर बता दे मुझको

***

गिरा है टूट कर शायद मेरी तक़दीर का तारा

कोई आवाज़ आई थी शिकस्त-ए-जाम से पहले

***

आँसूओ की बूंदों से तेरी तस्वीर बना दूँ

तू एक बार पलट के देखले तुजे अपनी तक़दीर बना दूँ

***

जहाँ जहाँ लिखीं मेरी किरदार में ज़िल्लतें…

वहीँ वहीँ लिए फिरती है ये तक़दीर मुझे

***

वक़्त से लड़ कर जो अपना नसीब बदल दे इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे कल क्या होगा कभी न सोचो क्या पता कल वक़्त खुद अपनी तस्वीर बदल ले

***

इक पत्थर की भी तक़दीर सँवर सकती है

शर्त ये है कि सलीक़े से तराशा जाए

*** Taqdeer Hindi Shayari

तमन्नाओ की महफ़िल तो हर कोई सजाता है

पूरी उसकी होती है जो “तक़दीर” लेकर आता है.

***

मैं तेरे नसीब की बारिस नहीं जो तुज पे बरस जाऊ।।

तुझे तक़दीर बदल नि होगी मुझे पाने के लिए ।

***

हाथों की लकीरों पर बराबर विश्वास नही करना चाहिए

तक़दीर तो उनकी भी होती है जिनके हाथ नही होते

***

सांसों में बगावत का सुख़न बोल रहा है

तक़दीर के फ़र्ज़ंद का दिल डोल रहा है

***

तक़दीर का ही खेल है सब,

पर ख़्वाहिशें है की समझती ही नहीं …..!!

*** Taqdeer Hindi Shayari

चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह…!!!

मगर ख़ामोश रहता हूँ, अपनी तक़दीर की तरह…!!

***

मेरी मोहब्बत की तक़दीर देखो , जो रूठे थे उनके पैगाम आ रहे हैं,

जब मार डाला मेरी प्यास ने मुझको, वो आँखों में लेकर जाम आ रहे हैं..

***

नाकामी का इमकान भी मुम्किन ना रहेगा

तक़दीर से मिल कर कोई तदबीर करेंगे

***

फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में; फर्क होता है किस्मत और लकीर में; अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना; कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।

***

बिन माँगे मिल जाए मोती तो इस को तक़दीर कहो

दामन फैला कर दुनिया मिल जाए तो ख़ैरात हुई

***

वक्त सिखा देता है इंसान को फ़लसफ़ा ‘ज़िन्दगी’ का.. फिर तो ‘नसीब’ क्या.. ‘लकीर’ क्या.. और तक़दीर क्या..

***

गर चंद तवारीखी तहरीर बदल दोगे

क्या इनसे किसी कौम की तक़दीर बदल दोगे !!

***

घर का बोझा उठाने वाले बचपन की तक़दीर न पूछ,

बच्चा घर से काम पे निकला, और खिलौना टूट गया।

*** Taqdeer Hindi Shayari

नामुमकिन हर ख्वाईश को, सँभालता और जीता हूँ दिलमे… माथेकी तक़दीर को यूँ ही, ढूंडता हूँ हाथ की लकिर मे..

***

तकोगे राह सहारों की तुम मियाँ कब तक।

क़दम उठाओ कि तक़दीर इंतज़ार में है।।

***

खो दिया तुम को तो हम पूछते फिरते हैं यही

जिसकी तक़दीर बिगड़ जाए वो करता क्या है

***

किस्मत को छोड़ सकता नहीं वक़्त के हाथों में

तक़दीर के संगीत में, मैं साज़ में होता हूँ

***

हाय किस ख़ूबी से लूटा बेवफ़ा तक़दीर ने,

तेरी बर्बादी का अय दिल हर फसाना और है,,

***

बड़ी `मूद्दत़` से मेरे `दिल` में` एक `तस्वीर` बैठी हैं`

तेरी `जूल्फ़ो` के छॉव मे“ मेरी `तक़दीर` बैठी हैं`

***

वस्ल भी तक़दीर में है,हिज्र भी

मौत के साए में अब है ज़िन्दगी

***

क्यों कोसे है तक़दीर को करता रेह तू अच्छी करनी

सब कुछ हासिल होगा तुझे बस सोच बदल ले तू अपनी

*** Taqdeer Hindi Shayari

काश खुदा इक पल दे मुझे अपनी तक़दीर लिखने को ।

तो में उस पल में,,,,में अपनी ज़िन्दगी के सारे पल तेरे नाम कर दू

***

वो अयादत को मेरी आये हैं लो और सुनो

आज ही ख़ूबी ए तक़दीर से हाल अच्छा है

***

कोई वादा ना कर कोई इरादा ना कर, ख्वाहिशो में खुद को आधा ना कर ये देगी इतना ही जितना लिख दिया खुदा ने इस तक़दीर से उमींद ज्यादा ना कर

***

अहल-ए-हिम्मत ने हुसूल-ए-मुद्दआ में जान दी और हम बैठे हुए रोया किये तक़दीर को

***

तकदीर बनाने वाले, तूने भी हद कर दी;
तकदीर में किसी और का नाम लिखा था;
और दिल में चाहत किसी और की भर दी!

***

तकदीर के खेल से
नाराज नहीं होते |
जिंदगी में कभी
उदास नहीं होते |
हाथों किं लक़ीरों पे
यक़ीन मत करना |
तकदीर तो उनकी भी होती हैं ,
जिन के हाथ ही नहीं होते |

***

तकदीर ने यह कहकर, बङी तसल्ली दी है मुझे कि, वो लोग
तेरे काबिल ही नहीं थे,जिन्हें मैंने दूर किया है

*** Taqdeer Hindi Shayari

कुछ तकदीर हार गई ! कुछ सपने टुट गये !
कुछ गैरों ने बर्बाद किया ! कुछ अपने छोड गये …..

***

Search Tags
Taqdeer Shayari, Taqdeer Hindi Shayari, Taqdeer Shayari, Taqdeer whatsapp status, Taqdeer hindi Status, Hindi Shayari on Taqdeer , Taqdeer whatsapp status in hindi, तक़दीर हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, तक़दीरतक़दीर स्टेटस, तक़दीर व्हाट्स अप स्टेटस
—–
Hinglish

taqadeer par hindi shayari hinglish roman

 

Taqdeer hindi shayari mere jhole me kuchh alfaz dua ke daladokya pata tumhare lab hile aur mere Taqdeer sanvar jai***

Taqdeer ke aene mein mere tasver kho gae aj hamesha ke lie mere rooh so gae mohabbat karake kya paya mainne vo kal mere the aj kise aur ke ho gae….!***

mujhe maloom hai mera muqaddar tum nahin… lekin….mere Taqdeer se chhup kar mere ik bar ho jao..!!***

kade se kade jonate jao to janjer ban jate hai,mehanat pe mehanat karo to Taqdeer ban jate hai !***

hamare rahaguzar me dekho kaya ham pe gujar rahe hai ,ham to likh rahe hai Taqdeer magar jane kayo har tasver badal rahe hai***

Taqdeer ne hamen azamaya bahut hamane use manaya bahutajisake zindagi khushiyon se saja de use shakhs nen hamen rulaya bahut***

Taqdeer hindi shayari Taqdeer ke panne khale hainaurabhare hain hath lakeron se..***

ye bat aur hai ke Taqdeer lipat ke roe varanabazoo to hamanen tumhe dekh kar he failae the***

meharabane jate-jate mujhape kar gaya guzarata sa lamha ek daman bhar gaya tera nazara mila, raushan sitara mila Taqdeer ke kashtiyon ko kinara mila***

Taqdeer hindi shayari apane Taqdeer ke ajamaish na kar, apane gamo ke numaish na kar, jo tera hai tere pas khud aega, roj roj use pane ke khvahish na kar…***

apane pyar ko dekh kar aksar ye ehasas hota he,jo Taqdeer mein nahin hota vahe insan khas hota he !!***

tere daman mein gulista bhe hai, verane bhemera hasil mere Taqdeer bata de mujhako***

gira hai toot kar shayad mere Taqdeer ka tarakoe avaz ae the shikast-e-jam se pahale***

ansooo ke boondon se tere tasver bana doontoo ek bar palat ke dekhale tuje apane Taqdeer bana doon***

jahan jahan likhen mere kiradar mein zillaten…vahen vahen lie firate hai ye Taqdeer mujhe***

vaqt se lad kar jo apana naseb badal de insan vahe jo apane Taqdeer badal de kal kya hoga kabhe na socho kya pata kal vaqt khud apane tasver badal le***

ik patthar ke bhe Taqdeer sanvar sakate haishart ye hai ki saleqe se tarasha jae***

Taqdeer hindi shayari tamannao ke mahafil to har koe sajata haipoore usake hote hai jo “Taqdeer” lekar ata hai.***

main tere naseb ke baris nahin jo tuj pe baras jaoo..tujhe Taqdeer badal ni hoge mujhe pane ke lie .***

hathon ke lakeron par barabar vishvas nahe karana chahieTaqdeer to unake bhe hote hai jinake hath nahe hote***

sanson mein bagavat ka sukhan bol raha haiTaqdeer ke farzand ka dil dol raha hai***Taqdeer ka he khel hai sab,par khvahishen hai ke samajhate he nahin …..!!

*** Taqdeer hindi shayari chubhata to bahut kuchh mujhako bhe hai ter ke tarah…!!!magar khamosh rahata hoon, apane Taqdeer ke tarah…!!***

mere mohabbat ke Taqdeer dekho , jo roothe the unake paigam a rahe hain,jab mar dala mere pyas ne mujhako, vo ankhon mein lekar jam a rahe hain..***

nakame ka imakan bhe mumkin na rahegaTaqdeer se mil kar koe tadaber karenge***

fark hota hai khuda aur faqer mein; fark hota hai kismat aur laker mein; agar kuchh chaho aur na mile to samajh lena; ki kuchh aur achchha likha hai Taqdeer mein.***

bin mange mil jae mote to is ko Taqdeer kahodaman faila kar duniya mil jae to khairat hue***

vakt sikha deta hai insan ko falasafa zindagi ka.. fir to naseb kya.. laker kya.. aur Taqdeer kya..***

gar chand tavarekhe taharer badal dogekya inase kise kaum ke Taqdeer badal doge !!***

ghar ka bojha uthane vale bachapan ke Taqdeer na poochh,bachcha ghar se kam pe nikala, aur khilauna toot gaya.***

Taqdeer hindi shayari namumakin har khvaesh ko, sanbhalata aur jeta hoon dilame… matheke Taqdeer ko yoon he, dhoondata hoon hath ke lakir me..***

takoge rah saharon ke tum miyan kab tak.qadam uthao ki Taqdeer intazar mein hai..***

kho diya tum ko to ham poochhate firate hain yahejisake Taqdeer bigad jae vo karata kya hai***

kismat ko chhod sakata nahin vaqt ke hathon menTaqdeer ke sanget mein, main saz mein hota hoon***

hay kis khoobe se loota bevafa Taqdeer ne,tere barbade ka ay dil har fasana aur hai,,**

bade `mooddat` se mere `dil` mein` ek `tasver` baithe hain`tere `joolfo` ke chhov me“ mere `Taqdeer` baithe hain`***

vasl bhe Taqdeer mein hai,hijr bhemaut ke sae mein ab hai zindagi

kyon kose hai Taqdeer ko karata reh too achchhe karanesab kuchh hasil hoga tujhe bas soch badal le too apane***

Taqdeer hindi shayari kash khuda ik pal de mujhe apane Taqdeer likhane ko .to mein us pal mein,,,,mein apane zindage ke sare pal tere nam kar doo***

vo ayadat ko mere aye hain lo aur sunoaj he khoobe e Taqdeer se hal achchha hai***

koe vada na kar koe irada na kar, khvahisho mein khud ko adha na kar ye dege itana he jitana likh diya khuda ne is Taqdeer se umend jyada na kar***

ahal-e-himmat ne husool-e-mudda mein jan de aur ham baithe hue roya kiye Taqdeer ko***

Taqdeer banane vale, toone bhe had kar de;Taqdeer mein kise aur ka nam likha tha;aur dil mein chahat kise aur ke bhar de!***

Taqdeer ke khel senaraj nahin hote |jindage mein kabheudas nahin hote |hathon kin laqeron peyaqen mat karana |Taqdeer to unake bhe hote hain ,jin ke hath he nahin hote |***

Taqdeer ne yah kahakar, bane tasalle de hai mujhe ki, vo logatere kabil he nahin the,jinhen mainne door kiya hai***

Taqdeer hindi shayari kuchh Taqdeer har gae ! kuchh sapane tut gaye !kuchh gairon ne barbad kiya ! kuchh apane chhod gaye …..***

 

 

2 thoughts on “Taqdeer Hindi Shayari तक़दीर हिंदी शायरी”

Leave a Comment