Intezaar Shayari in Hindi इंतज़ार पर शायरी

Intzeaar Shayari in Hindi इंतज़ार पर शायरी
Intezaar Shayari in Hindi इंतज़ार पर शायरी

Intezaar Shayari in Hindi

इंतज़ार पर शायरी

 

दोस्तों इस ब्लॉग पोस्ट पर आप के लिए प्रस्तुत है महबूब के इंतज़ार पर शेर ओ शायरी,

Intezaar Shayari in Hindi font, Hindi Shayari on Waiting of beloved.

List of all topics of Shayari

********************************

 

बजाय सीने के आँखों में दिल धड़कता है,

ये इंतज़ार के लम्हे अज़ीब होते हैं !!

***

मुझे मंज़ूर है इंतज़ार उम्र भर का लेकिन

मेरी आँखों से वस्ल का वही इक रोज़ तुम देखो

***

ता फिर ना इंतज़ार में नींद आये उम्र भर

आने का अहद कर गए आये जो ख्वाब में

~ग़ालिब

***

ये न थी हमारी क़िस्मत कि विसाल-ए-यार होता

अगर और जीते रहते यही इंतज़ार होता

~ग़ालिब

**** Intezaar Shayari in Hindi

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,

खामोशियों की अब आदत हो गयी है

***

अगर आप इन खुबसूरत टेक्स्ट मेसेजेस को pictures के रूप में डाउनलोड करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें.

Inteezar Status Pictures – Inteezar dp Pictures – Inteezar Shayari Pictures

तुम आये हो ना शब्-ए-इंतज़ार गुज़री है

तलाश में है सहर बार-बार गुज़री है

***

फिर बैठे बैठे वादा-ए-वस्ल उस ने कर लिया,

फिर उठ खड़ा हुआ वही रोग इंतज़ार का !!

***

टूटी जो आस जल गये पलकों पे सौ चिराग़,

निखरा कुछ और रंग शब-ए-इंतज़ार का !!- मुमताज़ मिर्ज़ा

*** Intezaar Shayari in Hindi

अब तो उठ सकता नहीं आँखों से बार-ए-इंतज़ार

किस तरह काटे कोई लैल-ओ-नहार-ए-इंतज़ार

***

उन के खत की आरज़ू है उन के आमद का ख़याल

किस क़दर फैला हुआ है कारोबार-ए-इंतज़ार

~हसरत मोहानी

***

उन की उल्फ़त का यकीं हो उन के आने की उम्मीद

हों ये दोनों सूरतें तब है बहार-ए-इंतज़ार

 

***Intezaar Shayari in Hindi

वही ख़्वाब ख़्वाब हैं रास्ते वही इंतज़ार सी शाम है

ये सफर है मेरे इश्क़ का,न दयार है न क़याम है !!-सुख़नवर

***

ग़म-ए-हयात से दिल को अभी निजात नहीं,

निगाह-ए-नाज़ से कह दो कि इंतज़ार करे !! -शकील बदायूनी

***

थक गये हम करते करते इंतज़ार,

इक क़यामत उन का आना हो गया !!

**

लूटे मज़े उसी ने तेरे इंतज़ार के

जो हद-ए-इंतज़ार से आगे निकल गया

*** Intzar Shayari in Hindi

लुत्फ़ जो उस के इंतज़ार में है

वो कहाँ मौसम-ए-बहार में है !!

***

सूरत दिखा के फिर मुझे बेताब कर दिया,

एक लुत्फ़ आ चला था ग़म-ए-इंतज़ार में !!

***

होंठ पे लिए हुए दिल की बात हम

जागते रहेंगे और कितनी रात हम

मुख़्तसर सी बात है तुम से प्यार है

तुम्हारा इंतज़ार है..

 

*** Intezaar Shayari in Hindi

गर इंतज़ार कठिन है तो जब तलक ऐ दिल,

किसी के वादा-ए-फ़र्दा की गुफ़्तगू ही सही !! -फैज़

****

शब-ए-इंतज़ार की कशमकश न पूछ कैसे सहर हुई

कभी इक चिराग़ जला दिया, कभी इक चिराग़ बुझा दिया !! -मजरूह सुल्तानपुरी

***

अपने लिए भी मौसमे गुल है बहार है,

जब से सुना है उनको मेरा इंतज़ार है ~रहबर

***

कहीं आके मिटा न दें इंतज़ार का लुत्फ

कहीं कुबूल न हो जाये इल्तज़ा तेरी

*** Intezaar Shayari in Hindi

वो मज़ा कहाँ वस्ल-ए-यार में

लुत्फ़ जो मिला है तुम्हें इंतज़ार में

 

****

तेरा ख़याल तेरा इंतेज़ार करते हैं

हम अपने आपको ख़ुद बेक़रार करते हैं

ये फ़ासला भी मोहब्बत में लुत्फ़ देता है

जब इंतेज़ार में हम इंतेज़ार करते हैं

***

तमाम उम्र तेरा इंतेज़ार कर लेंगे

मगर ये रंज रहेगा के ज़िन्दगी कम है

*** Intzar Shayari in Hindi

शिद्दत से बहारों के इंतेज़ार में सब हैं

पर फूल मोहब्बत के तो खिलने नहीं देते

***

मैनें तो इंतेज़ार में उसके ज़िंदगी गुज़ार दी

उसके लिए तो रास्ते भी दुश्वार बन गए

***

ज़िदंगी के सारे लम्हे रफ़्ता-रफ़्ता कट गए

इंतेज़ार, आस, खुशी और ग़म में बंट गए

***

मेरे पीठ पर जो ज़ख्म हैं,वो अपनों की निशानी है

वर्ना सीना तो आज भी दुश्मनों के इंतेज़ार में बैठा है

*** Intzar Shayari in Hindi

कोई वादा नहीं किया लेकिन, क्यों तेरा इंतजार रहता है !

बेवजह जब क़रार मिल जाए, दिल बड़ा बेकरार रहता है !! –गुलज़ार

 

अभी कुछ उनके आने का इंतज़ार बाक़ी है,

ऐ खुदा, उम्र इक और दे उन्हें भुलाने को

 

होंठ पे लिये हुए दिल की बात हम जागते रहेंगे और कितनी रात हम

मुख़्तसर सी बात है तुम से प्यार है तुम्हारा इन्तज़ार है, तुम पुकार लो

 

दिल बहल तो जायेगा इस ख़याल से

हाल मिल गया तुम्हारा अपने हाल से

रात ये क़रार की बेक़रार है

तुम्हारा इन्तज़ार है, तुम पुकार लो

 

ये इंतज़ार भी एक इम्तिहां होता है

इसीसे इश्क़ का शोला जवां होता है

ये इंतज़ार सलामत हो और तू आए

 

सुना गम जुदाई का, उठाते हैं लोग

जाने ज़िंदगी कैसे, बिताते हैं लोग

 

दिन भी यहाँ तो लगे, बरस के समान

हमें इंतज़ार कितना, ये हम नहीं जानते

मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना

 

अफ़साना लिख रही हूँ दिल-ए-बेक़रार का

आँखोँ में रंग भर के तेरे इंतज़ार का

शब-ए-इंतज़ार आखिर कभी होगी मुख़्तसर भी

ये चिराग बुझ रहे हैं मेरे साथ जलते जलते…

~कैफ़ी_आझमी

 

सदियों का इंतज़ार भी दो पल की बात है,

यादों का तेरी मौसम गर ख़ुश-गवार हो !!

 

थक गये हम करते करते इंतज़ार,

इक क़यामत उन का आना हो गया …

 

महव-ए-इंतेज़ार हुँ उस बेदर्द के जवाब का

इस मुतंज़िर का दर्द मगर वो समझे कैसे…

ये इंतज़ार भी एक इम्तिहां होता है

इसीसे इश्क़ का शोला जवां होता है

ये इंतज़ार सलामत हो और तू आए

 

हम इंतज़ार करेंगे तेरा क़यामत तक

खुदा करे कि क़यामत हो और तू आए

 

सर-ए-तूर हो सर-ए-हश्र हो, हमें इंतेज़ार क़बूल है,

वो कभी मिलें वो कहीं मिलें, वो कभी सही वो कहीं सही !!

Intezaar Shayari in Hindi

 

वही ख़्वाब ख़्वाब हैं रास्ते, वही इंतज़ार सी शाम है,

ये सफर है मेरे इश्क़ का, न दयार है न क़याम है !! –

 

हर लम्हा सुकूं का यूं इंतेजार किया है

नादां हूं नादां ही रहा बस प्यार किया है

 

 

Search Tags

Intezaar Shayari in Hindi, Intezaar Shayari, Intezaar Hindi Shayari, Intezaar Shayari, Intezaar whatsapp status, Intezaar hindi Status, Hindi Shayari on Intezaar, Intezaar whatsapp status in hindi, Intezaar Shayari in Hindi Font, Shayari in Hindi Font,

Waiting Shayari, Waiting Hindi Shayari, Waiting Shayari, Waiting whatsapp status, Waiting hindi Status, Hindi Shayari on Waiting, Waiting whatsapp status in hindi, Waiting Shayari in Hindi Font

 इंतज़ार हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, इंतज़ार, इंतज़ार स्टेटस, इंतज़ार व्हाट्स अप स्टेटस, इंतज़ार पर शायरी, इंतज़ार शायरी, इंतज़ार पर शेर, इंतज़ार की शायरी,


Hinglish

Intezaar Shayari in hinglish font

aaj sine ke ankhon mein dil dhadakata hai,ye intezar ke lamhe azib hote hain !!***

mujhe manzoor hai intezar umr bhar ka lekinameri ankhon se vasl ka vahi ik roz tum dekho***

ta fir na intezar mein nind aye umr bharane ka ahad kar gae aye jo khvab mein~galib**

ye na thi hamari qismat ki visal-e-yar hotagar aur jite rahate yahi intezar hota~galib****

intezar shayari in hindi intezar ki arazoo ab kho gayi hai,khamoshiyon ki ab adat ho gayi hai***

tum aye ho na shab-e-intezar guzari haitalash mein hai sahar bar-bar guzari hai***

fir baithe baithe vada-e-vasl us ne kar liya,fir uth khada hua vahi rog intezar ka !!***

tooti jo as jal gaye palakon pe sau chirag,nikhara kuchh aur rang shab-e-intezar ka !!- mumataz mirza***

intezar shayari in hindiab to uth sakata nahin ankhon se bar-e-intezarakis tarah kate koi lail-o-nahar-e-intezar***

un ke khat ki arazoo hai un ke amad ka khayalakis qadar faila hua hai karobar-e-intezar~hasarat mohani***

un ki ulfat ka yakin ho un ke ane ki ummidahon ye donon sooraten tab hai bahar-e-intezar***

intezar shayari in hindivahi khvab khvab hain raste vahi intezar si sham haiye safar hai mere ishq ka,na dayar hai na qayam hai !!-sukhanavar***

gam-e-hayat se dil ko abhi nijat nahin,nigah-e-naz se kah do ki intezar kare !! -shakil badayooni***

thak gaye ham karate karate intezar,ik qayamat un ka ana ho gaya !!**

loote maze usi ne tere intezar kejo had-e-intezar se age nikal gaya***

intezar shayari in hindilutf jo us ke intezar mein haivo kahan mausam-e-bahar mein hai !!***

soorat dikha ke fir mujhe betab kar diya,ek lutf a chala tha gam-e-intezar mein !!***

honth pe lie hue dil ki bat hamajagate rahenge aur kitani rat hamamukhtasar si bat hai tum se pyar haitumhara intezar hai..***

intezar shayari in hindigar intezar kathin hai to jab talak ai dil,kisi ke vada-e-farda ki guftagoo hi sahi !! -faiz****

shab-e-intezar ki kashamakash na poochh kaise sahar huikabhi ik chirag jala diya, kabhi ik chirag bujha diya !! -majarooh sultanapuri***

apane lie bhi mausame gul hai bahar hai,jab se suna hai unako mera intezar hai ~rahabar***

kahin ake mita na den intezar ka lutfakahin kubool na ho jaye iltaza teri***

intezar shayari in hindivo maza kahan vasl-e-yar menlutf jo mila hai tumhen intezar mein****

tera khayal tera intezar karate hainham apane apako khud beqarar karate hainye fasala bhi mohabbat mein lutf deta haijab intezar mein ham intezar karate hain***

tamam umr tera intezar kar lengemagar ye ranj rahega ke zindagi kam hai***

intezar shayari in hindishiddat se baharon ke intezar mein sab haimpar fool mohabbat ke to khilane nahin dete***

mainen to intezar mein usake zindagi guzar diusake lie to raste bhi dushvar ban gae***

zidangi ke sare lamhe rafta-rafta kat gaeintezar, as, khushi aur gam mein bant gae***

mere pith par jo zakhm hain,vo apanon ki nishani haivarna sina to aj bhi dushmanon ke intezar mein baitha hai***

intezar shayari in hindikoi vada nahin kiya lekin, kyon tera intajar rahata hai !bevajah jab qarar mil jae, dil bada bekarar rahata hai !! –gulazar

 

Intezar Shayari in Hindi

 

dil bahal to jayega is khayal se
hal mil gaya tumhara apane hal se
rat ye qarar ki beqarar hai
tumhara intezar hai, tum pukar lo

ye intezar bhi ek imtihan hota hai
isise ishq ka shola javan hota hai
ye intezar salamat ho aur too ae

suna gam judai ka, uthate hain log
jane zindagi kaise, bitate hain log

din bhi yahan to lage, baras ke saman
hamen intezar kitana, ye ham nahin janate
magar ji nahin sakate tumhare bina

afasana likh rahi hoon dil-e-beqarar ka
ankhon mein rang bhar ke tere intezar ka

shab-e-intezar akhir kabhi hogi mukhtasar bhi
ye chirag bujh rahe hain mere sath jalate jalate…
~kaifi_azmi

sadiyon ka intezar bhi do pal ki bat hai,
yadon ka teri mausam gar khush-gavar ho !!

thak gaye ham karate karate intezar,
ik qayamat un ka ana ho gaya …

mahav-e-intezar hun us bedard ke javab ka
is mutanzir ka dard magar vo samajhe kaise…

ye intezar bhi ek imtihan hota hai
isise ishq ka shola javan hota hai
ye intezar salamat ho aur too ae

ham intezar karenge tera qayamat tak
khuda kare ki qayamat ho aur too ae

sar-e-toor ho sar-e-hashr ho, hamen intezar qabool hai,
vo kabhi milen vo kahin milen, vo kabhi sahi vo kahin sahi !!

vahi khvab khvab hain raste, vahi intezar si sham hai,
ye safar hai mere ishq ka, na dayar hai na qayam hai !! –

har lamha sukoon ka yoon intejar kiya hai
nadan hoon nadan hi raha bas pyar kiya hai

 

 

Leave a Comment