Muskurahat Hindi Shayari मुस्कुराहट पर शायरी

Muskurahat Hindi Shayari मुस्कुराहट पर शायरी

Muskurahat Hindi Shayari मुस्कुराहट पर शायरी
Muskurahat Hindi Shayari मुस्कुराहट पर शायरी

Muskurahat Hindi Shayari

मुस्कुराहट पर शायरी

 

दोस्तों आपके दिल में भी कोई चेहरा बसा होगा जो आप को देखकर प्यार से मुस्कुरा दिया था, पेश है मुस्कुराहट पर चाँद खूबसूरत शेर .

Hindi Shayari on Smiling,

List of all Hindi Shayari Topics

**********************************

धड़कने लगे दिल के तारों की दुनियाँ जो तुम मुस्कुरा दो

संवर जाये हम बेकरारों की दुनियाँ जो तुम मुस्कुरा दो – साहिर लुधियानवी

***

जो तुम मुस्कुरा दो बहारें हँसे, सितारों की उजली कतारें हँसे

जो तुम मुस्कुरा दो नज़ारें हँसे, जवां धड़कनों के इशारे हँसे

***

वही तो सब से ज़ियादा है नुक्ता-चीं मेरा,

जो मुस्कुरा के हमेशा गले लगाए मुझे !! ~QateelShifai

***

गुमाँ न क्यूँकि करूँ तुझ पे दिल चुराने का,

झुका के आँख सबब क्या है मुस्कुराने का !!

 

*** Muskurahat Hindi Shayari

जब दिल पे छा रही हों घटाएँ मलाल की,

उस वक़्त अपने दिल की तरफ़ मुस्कुरा के देख !! -सीमाब अकबराबादी

***

उन पे हंसिये शौक़ से जो माइल-ए-फ़रियाद हैं

उनसे डरिये जो सितम पर मुस्कुरा कर रह गए

~ असर लखनवी

***

मेरे दिल की राख़ क़ुरेद मत,इसे मुस्कुरा के हवा न दे

ये चराग़ फिर भी चराग़ है,कहीं तेरा हाँथ जला न दे

***

दिल की तरफ़ हिजाब-ए-तकल्लुफ़ उठा के देख,

आईना देख और ज़रा मुस्कुरा के देख !!

*** Muskurahat Hindi Shayari

वो सुब्ह-ए-ईद का मंज़र तिरे तसव्वुर में,

वो दिल में आ के अदा तेरे मुस्कुराने की !!

***

शायद तिरे लबों की चटक से हो जी बहाल,

ऐ दोस्त मुस्कुरा कि तबीअत उदास है !!- अदम

****

क्या मुस्तक़िल इलाज किया दिल के दर्द का

वो मुस्कुरा दिए मुझे बीमार देख कर !! -अदम

***

मैं इक फकीर के होंठों की मुस्कुराहट हूँ

किसी से भी मेरी कीमत अदा नहीं होती – मुनव्वर राना

***

फ़ज़ा-ए-नम में सदाओं का शोर हो जाए,

वो मुस्कुरा दे ज़रा सा तो भोर हो जाए !!

***

न जाने कह गए क्या आप मुस्कुराने में,

है दिल को नाज़ कि जान आ गई फ़साने में !!

*** Muskurahat Hindi Shayari

मस्त नज़रों से देख लेना था,गर तमन्ना थी आज़माने की

हम तो बेहोश यूँ भी हो जाते,क्या ज़रूरत थी मुस्कुराने की!!

***

सीख ली जिसने अदा गम में मुस्कुराने की,

उसे क्या मिटायेंगी गर्दिशे जमाने की !!

***

हौसले फिर बढ़ गये, टूटा हुआ दिल जुड़ गया,

उफ! ये जालिम मुस्कुरा देना, ख़फा होने के बाद !! – ‘आरज़ू’ लखनवी

***

हमारी बिगड़ी ये शायद यू ही संवर जाए,

तुम्हारा कुछ नहीं बिगड़ेगा मुस्कुराने में !!

*** Muskurahat Hindi Shayari

सुनाई दे तेरे क़दमों की आहट,

ये रस्ता मुस्कुराना चाहता है !! -वसीम बरेलवी

***

लो, तबस्सुम भी शरीक-ए-निगह-ए-नाज़ हुआ..

आज कुछ और बढ़ा दी गई क़ीमत मेरी..

~FaniBadayuni

***

बड़ी मुश्किल से बना हूँ टूट जाने के बाद

मैं आज भी रो देता हूँ मुस्कुराने के बाद.!!

***

हौसलों का सबूत देना था

ठोकरें खा के मुस्कुराना पड़ा.!!

*** Muskurahat Hindi Shayari

फ़स्ले-गुल के आने से,या खिज़ां के जाने से

काश मुस्कुरा सकते हम किसी बहाने से.!!

***

उदास छोड़ गया वो हर एक मौसम को

गुलाब खिलते थे कल जिसके मुस्कुराने से..!!

~इक़बाल अशहर

***

ग़मो की धूप में भी मुस्कुरा कर चलना पड़ता है

।।

ये दुनिया है यहाँ चेहरा सजा कर चलना पड़ता है

***

तुम भले हि मुस्कुराओ सांथ बच्चों के मगर

बच्चों जैसा मुस्कुराना दोस्तों, आंसा नही..!!

*** Muskurahat Hindi Shayari

कभी कभी तेरा बेवज़ह मुस्कुराना अच्छा लगता है ….

मुझ पर आँखों ही आँखों से तेरा हक़ जताना अच्छा लगता है !!

***

मुझे दर्द-ए-इश्क़ का मज़ा मालूम है, दर्द-ए-इंतेहा भी मालूम है।

ज़िन्दगी भर मुस्कुराने की दुआ न देना, मुझे पल भर मुस्कुराने की सजा मालूम है।

***

न जाने कैसी “नज़र” लगी है “ज़माने” की… . .

कमब्खत “वजह” ही नही मिलती “मुस्कुराने” की…..!!!

***

जिसकी किस्मत मे लिखा हो रोना..!!

वो मुस्कुरा भी दे तो आँसू निकल आते है..!!

***

लाख समझाया उसको की दुनिया शक करती है..

मगर उसकी आदत नहीं गयी मुस्कुरा कर गुजरने की !!

*** Muskurahat Hindi Shayari

दिल्लगी कर जिंदगी से, दिल लगा के चल..

जिंदगी है थोड़ी सी, थोडा मुस्कुरा के चल .

***

तेरे ना होने से जिन्दगी मे बस इतनी सी कमी है

मै चाहे लाख मुस्कुरा लू पर आंखो में नमी है

***

यूँ तेरा मुस्कुरा कर मुझे देखना

मानो जैसे सब कुछ कुबूल है तुझे

***

खामोश बैठे हैं तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं,

और ज़रा सा हंस लें तो लोग मुस्कुराने की वजह पूछ लेते है।

***

मेरी यही आदत तुम सब को सदा याद रहेगी,

न शिकवा, न कोई गिला, जब भी मिला, मुस्कुरा के मिला.

*** Muskurahat Hindi Shayari

मुस्कुराने के अब बहाने नहीं ढूँढने पड़ते,

तुझे याद करते हैं तमन्ना पूरी हो जाती हैं..

***

राहत भी अपनों से मिलती हे,चाहत भी अपनों से मिलती हे,

अपनों से कभी रूठना नही.क्यूकी,मुस्कुराहट”भी अपनों से मिलती हे

***

मुस्कुराहट भी कमाल की पहेली है,

जितना बताती है,उससे कहीं जायदा छुपाती है…

***

अपने दुःख में रोने वाले,मुस्कुराना सीख ले |

ओरों के दुःख में आँसू बहाना सीख ले

***

“चलो मुस्कुराने की वजह ढूंढते हैं… ऐ जिन्दगी,,,,

तुम हमें ढूंढो… हम तुम्हे ढूंढते हैं …!!!

***

फूल बनकर मुस्कुराना जिन्दगी है,

मुस्कुरा के गम भूलाना जिन्दगी है,

***

वो तो अपने दर्द रो-रो के सुनते रहे;

हमारी तन्हाइयों से आँख चुराते रहे;

और हमें बेवफा का नाम मिला क्योंकि

हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे

*** Muskurahat Hindi Shayari

खुद ही मुस्कुरा रहे हो साहिब

पागल हो या मोहब्बत की शुरूआत हुई है!!!!

***

ज़र्फ हो तोह गम भी नियामत हैं खुदा की।

जो सुकूं रोने में हैं,वो मुस्कुराने में कहां।

***

अपनी मुस्कुराहट को ज़रा काबू में रखिए,

दिल ए नादान इस पर कहीं शहीद ना हो जाए

***

फिर उसने मुस्कुरा के देखा मेरी तरफ़,

फिर एक ज़रा सी बात पर जीना पड़ा मुझे।

*** Muskurahat Hindi Shayari

दिल की हसरत जुबा पर आने लगी

आपको देखा तो जिंदगी मुस्कुराने लगी

**

तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो

क्या गम है जिसको छुपा रहे हो

***

हम इस निगाह-ए-नाज़ को समझे थे नेश्तर

तुमने तो मुस्कुरा के रग-ए-जाँ बना दिया!

*** Muskurahat Hindi Shayari

 

Search Tags

Muskurahat Shayari in Hindi, Muskurahat Hindi Shayari, Muskurahat par Shayari, Muskurahat whatsapp status, Muskurahat hindi Status, Hindi Shayari on Muskurahat, Muskurahat whatsapp status in hindi, Muskurahat Shayari in Hindi Font, Shayari in Hindi Font,

Smile Shayari, Smile Hindi Shayari, Smile Shayari, Smile whatsapp status, Smile hindi Status, Hindi Shayari on Smiling, Smile whatsapp status in hindi, Smile Shayari in Hindi Font

मुस्कुराहट हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, मुस्कुराहट, मुस्कुराहट स्टेटस, मुस्कुराहट व्हाट्स अप स्टेटस, मुस्कुराने पर शायरी, मुस्कुराहट शायरी, मुस्कुराहट पर शेर, मुस्कुराने की शायरी, मुस्कुरान दो शायरी,


Hinglish

Muskurahat Hindi Shayari

मुस्कुराहट पर शायरी

muskurahat hindi shayarimuskuraahat par shaayaridoston aapake dil mein bhi koi chehara basa hoga jo aap ko dekhakar pyaar se muskura diya tha, pesh hai muskuraahat par chaand khoobasoorat sher . dhadakane lage dil ke taaron ki duniyaan jo tum muskura dosanvar jaaye ham bekaraaron ki duniyaan jo tum muskura do – saahir ludhiyaanavi*

**
jo tum muskura do bahaaren hanse, sitaaron ki ujali kataaren hansejo tum muskura do nazaaren hanse, javaan dhadakanon ke ishaare hanse**

*vahi to sab se ziyaada hai nukta-chin mera,jo muskura ke hamesha gale lagae mujhe !! ~qataiailshifai*

**gumaan na kyoonki karoon tujh pe dil churaane ka,jhuka ke aankh sabab kya hai muskuraane ka !! **

* muskurahat hindi shayarijab dil pe chha rahi hon ghataen malaal ki,us vaqt apane dil ki taraf muskura ke dekh !! -simaab akabaraabaadi**

*un pe hansiye shauq se jo mail-e-fariyaad hainunase dariye jo sitam par muskura kar rah gae~ asar lakhanavi***

mere dil ki raakh qured mat,ise muskura ke hava na deye charaag phir bhi charaag hai,kahin tera haanth jala na de*

**dil ki taraf hijaab-e-takalluf utha ke dekh,aaina dekh aur zara muskura ke dekh !!**

* muskurahat hindi shayarivo subh-e-id ka manzar tire tasavvur mein,vo dil mein aa ke ada tere muskuraane ki !!*

**shaayad tire labon ki chatak se ho ji bahaal,ai dost muskura ki tabiat udaas hai !!- adam*

***kya mustaqil ilaaj kiya dil ke dard kaavo muskura die mujhe bimaar dekh kar !! -adam***

main ik phakir ke honthon ki muskuraahat hoonkisi se bhi meri kimat ada nahin hoti – munavvar raana*

**faza-e-nam mein sadaon ka shor ho jae,vo muskura de zara sa to bhor ho jae !!*

**na jaane kah gae kya aap muskuraane mein,hai dil ko naaz ki jaan aa gai fasaane mein !!*

** muskurahat hindi shayarimast nazaron se dekh lena tha,gar tamanna thi aazamaane kiham to behosh yoon bhi ho jaate,kya zaroorat thi muskuraane ki!!**

*sikh li jisane ada gam mein muskuraane ki,use kya mitaayengi gardishe jamaane ki !!*

**hausale phir badh gaye, toota hua dil jud gaya,uph! ye jaalim muskura dena, khapha hone ke baad !! – aarazoo lakhanavi*

**hamaari bigadi ye shaayad yoo hi sanvar jae,tumhaara kuchh nahin bigadega muskuraane mein !!**

* muskurahat hindi shayarisunai de tere qadamon ki aahat,ye rasta muskuraana chaahata hai !! -vasim barelavi*

**lo, tabassum bhi sharik-e-nigah-e-naaz hua..aaj kuchh aur badha di gai qimat meri..~fanibadayuni*

**badi mushkil se bana hoon toot jaane ke baadamain aaj bhi ro deta hoon muskuraane ke baad.!!*

**hausalon ka saboot dena thaathokaren kha ke muskuraana pada.!!*

** muskurahat hindi shayarifasle-gul ke aane se,ya khizaan ke jaane sekaash muskura sakate ham kisi bahaane se.!!**

*udaas chhod gaya vo har ek mausam kogulaab khilate the kal jisake muskuraane se..!!~iqabaal ashahar**

*gamo ki dhoop mein bhi muskura kar chalana padata hai..ye duniya hai yahaan chehara saja kar chalana padata hai*

**tum bhale hi muskurao saanth bachchon ke magarabachchon jaisa muskuraana doston, aansa nahi..!!*

** muskurahat hindi shayarikabhi kabhi tera bevazah muskuraana achchha lagata hai ….mujh par aankhon hi aankhon se tera haq jataana achchha lagata hai !!**

*mujhe dard-e-ishq ka maza maaloom hai, dard-e-inteha bhi maaloom hai.zindagi bhar muskuraane ki dua na dena, mujhe pal bhar muskuraane ki saja maaloom hai.

***na jaane kaisi “nazar” lagi hai “zamaane” ki… . .kamabkhat “vajah” hi nahi milati “muskuraane” ki…..!!!***

jisaki kismat me likha ho rona..!!vo muskura bhi de to aansoo nikal aate hai..!!***laakh samajhaaya usako ki duniya shak karati hai..magar usaki aadat nahin gayi muskura kar gujarane ki !!*

** muskurahat hindi shayaridillagi kar jindagi se, dil laga ke chal..jindagi hai thodi si, thoda muskura ke chal .**

*tere na hone se jindagi me bas itani si kami haimai chaahe laakh muskura loo par aankho mein nami hai**

*yoon tera muskura kar mujhe dekhanaamaano jaise sab kuchh kubool hai tujhe*

*khaamosh baithe hain to log kahate hain udaasi achchhi nahin,aur zara sa hans len to log muskuraane ki vajah poochh lete hai.**

*meri yahi aadat tum sab ko sada yaad rahegi,na shikava, na koi gila, jab bhi mila, muskura ke mila.**

* muskurahat hindi shayarimuskuraane ke ab bahaane nahin dhoondhane padate,tujhe yaad karate hain tamanna poori ho jaati hain..**

*raahat bhi apanon se milati he,chaahat bhi apanon se milati he,apanon se kabhi roothana nahi.kyooki,muskuraahat”bhi apanon se milati he**

*muskuraahat bhi kamaal ki paheli hai,jitana bataati hai,usase kahin jaayada chhupaati hai…**

*apane duhkh mein rone vaale,muskuraana sikh le |oron ke duhkh mein aansoo bahaana sikh le***

“chalo muskuraane ki vajah dhoondhate hain… ai jindagi,,,,tum hamen dhoondho… ham tumhe dhoondhate hain …!!!***

phool banakar muskuraana jindagi hai,muskura ke gam bhoolaana jindagi hai,*

**vo to apane dard ro-ro ke sunate rahe;hamaari tanhaiyon se aankh churaate rahe;aur hamen bevapha ka naam mila kyonkiham har dard muskura kar chhupaate rahe**

* muskurahat hindi shayarikhud hi muskura rahe ho saahibapaagal ho ya mohabbat ki shurooaat hui hai!!!!**

*zarph ho toh gam bhi niyaamat hain khuda ki.jo sukoon rone mein hain,vo muskuraane mein kahaan.**

*apani muskuraahat ko zara kaaboo mein rakhie,dil e naadaan is par kahin shahid na ho jae**

*phir usane muskura ke dekha meri taraf,phir ek zara si baat par jina pada mujhe.**

* muskurahat hindi shayaridil ki hasarat juba par aane lagiaapako dekha to jindagi muskuraane lagi*

*tum itana jo muskura rahe hokya gam hai jisako chhupa rahe ho**

*ham is nigaah-e-naaz ko samajhe the neshtaratumane to muskura ke rag-e-jaan bana diya!

 

2 thoughts on “Muskurahat Hindi Shayari मुस्कुराहट पर शायरी”

  1. ईत्तैफाक है ये कैसा न जाने कैसी उलझने,जहॉ भी जाता हुँ..बस तुम दिखाई दैती हो-२

    खुदा की तरहा पुजा था-२ तुझको फिर भी दगाबाज निकली.. कितनी की कोशिश भुलाने की फिर भी तुम दिखाई देती हो, फिर भी तुम दिखाई देती हो…-२
    *Lyrics by Ankit Melodīst*

Leave a Reply